फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशएमपी के राजगढ़ में बच्चे से हैवानियत, गुप्तांग में डाला मिर्च पाउडर, बाल आयोग सख्त

एमपी के राजगढ़ में बच्चे से हैवानियत, गुप्तांग में डाला मिर्च पाउडर, बाल आयोग सख्त

मध्य प्रदेश के राजगढ़ में मानवता को शर्मसार करने का मामला सामने आया है। एक युवक ने पड़ोस के 10 साल के एक बच्चे के गुप्तांग समेत पूरे शरीर पर मिर्च का पाउडर लगा दिया। इससे बच्चा बेहाल हो गया है।

एमपी के राजगढ़ में बच्चे से हैवानियत, गुप्तांग में डाला मिर्च पाउडर, बाल आयोग सख्त
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,राजगढ़Mon, 15 Apr 2024 11:25 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के राजगढ़ में एक नाबालिग बच्चे के साथ हैवानियत की घटना सामने आई है। एक युवक ने अपने मुर्गे की टांग तोड़ने के आरोप लगाते हुए पड़ोस के 10 साल के एक बच्चे के गुप्तांग समेत पूरे शरीर पर मिर्च का पाउडर लगा दिया। इसकी जलन से बच्चा बेहाल है। वह बार-बार पानी के टब में जाकर जलन शांत करने की कोशिश कर रहा है। बच्चे ने पड़ोसी की ओर से प्रताड़ित किए जाने की जानकारी अपनी मां को दी जिसके बाद मां ने बेटे के साथ थाने पहुंचकर पड़ोसी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। 

अंहिसा वेलफेयर सोसाइटी समेत बाल आयोग ने घटना की निंदा की है। बाल आयोग ने घटना का संज्ञान लिया है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि राजगढ़ के बाराद्वारी मोहल्ले में पीड़िता अपने 10 साल के बेटे के साथ रहती है। महिला की पति 7 साल मौत हो चुकी है। महिला झाड़ू पोंछा कर के परिवार चलाती है। पीड़ित कक्षा 6 का छात्र है। शुक्रवार को बच्चा बाराद्वारी मोहल्ले में अपने दोस्तों के साथ कंचे खेल रहा था। मां झाड़ू पोंछा करने गई थी। 

इसी दौरान उसके पड़ोस में रहने वाले गोलू मेवाड़े (40) ने उसके मुर्गे की टांग तोड़ने का आरोप लगाते हुए बच्चे को घसीटते हुए अपने घर ले गया। आरोपी ने बच्चे के कपड़े उतारकर उसके पूरे शरीर पर लाल मिर्च का पाउडर मल दिया। आरोपी ने बच्चे के गुप्तांगों पर भी लाल मिर्च लगा दी। इससे बच्चा जलन से बेहाल हो गया। मां जब घर आई तो उसने बच्चे को पानी के टब में बैठकर रोते हुए देखा। पूछने पर बच्चे ने पूरी बात बताई। उसके बाद महिला बच्चे का इलाज कराने अस्पताल लेकर गई। 

बाद में महिला बच्चे को लेकर राजगढ़ कोतवाली पहुंची और शिकायत दर्ज कराई। घटना की जानकारी लगने के बाद रविवार को चाइल्ड हेल्पलाइन अहिंसा वेलफेयर सोसाइटी की टीम बाराद्वारी पहुंची। टीम के लोगों ने मां और बच्चे से बात की। टीम के सदस्य पीड़ित बच्चे को अस्पताल ले गए। हालांकि बच्चे की तबियत में अभी तक सुधार नहीं हुआ है। वह हर एक घंटे के बाद पानी में बैठकर जलन शांत कर रहा है। इस मामले में पुलिस की प्रतिक्रिया नहीं मिली है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें