फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशBJP में शामिल होंगी मुरैना की महापौर? भाजपा नेता के साथ वायरल फोटो पर अटकलें तेज

BJP में शामिल होंगी मुरैना की महापौर? भाजपा नेता के साथ वायरल फोटो पर अटकलें तेज

शिवपुरी से कांग्रेस के पूर्व विधायक और पूर्व जनपद अध्यक्ष पारस रावत के बीजेपी में शामिल होने के बाद अब मुरैना से कांग्रेस महापौर शारदा सोलंकी के जल्द बीजेपी में शामिल होने की अटकलें लग रही हैं।

BJP में शामिल होंगी मुरैना की महापौर? भाजपा नेता के साथ वायरल फोटो पर अटकलें तेज
Mohammad Azamलाइव हिंदुस्तान,मुरैनाFri, 02 Feb 2024 09:31 PM
ऐप पर पढ़ें

जैसे जैसे लोकसभा के चुनाव नजदीक आ रहे हैं कांग्रेस नेताओं के बीजेपी में शामिल होने की संख्या बढ़ती जा रही है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के नामी चेहरे भारतीय जनता पार्टी का दामन थामने लगे हैं। अभी कुछ दिन पहले ही शिवपुरी से कांग्रेस के पूर्व विधायक और पूर्व जनपद अध्यक्ष पारस रावत के बीजेपी में शामिल होने के बाद अब मुरैना से कांग्रेस महापौर शारदा सोलंकी के जल्द बीजेपी में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही हैं। 

साल 2022 में मुरैना ज़िले से महापौर के चुनाव में शारदा सोलंकी ने कांग्रेस की तरफ से जीत दर्ज की थी। अब जब लोकसभा चुनाव नजदीक हैं तो तब उनके बीजेपी में शामिल होने के इशारे साफ दिखाई दे रहे हैं। शारदा सोलंकी ने हाल ही में दिल्ली पहुँच कर केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की है। इसके बाद से ही राजनीतिक गलियारों में उनके बीजेपी का दामन थामने की चर्चाएं होने लगी हैं। सूत्रों की माने तो वे कुछ ही दिनों में कांग्रेस से इस्तीफा देकर बीजेपी जॉइन करने वाली हैं। हालाँकि इन बातों को हवा तब और लग रही जब लगातार प्रयासों के बावजूद कुछ दिनों से स्थानीय से लेकर प्रदेश कांग्रेस के नेताओं का उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है। ऐसे में उनके जाने से कांग्रेस को आने वाले चुनाव में भारी नुकसान की संभावना है।

बता दें कि कांग्रेस महापौर शारदा सोलंकी के जेठ बाबूलाल सोलंकी भी मुरेना से सांसद रह चुके हैं। एक बार चुनाव हारने के बाद भी उन्हें कांग्रेस ने कमलनाथ और दिग्विजय सिंह से पारिवारिक रिश्तों के चलते सोलंकी को दोबारा 2022 में महापौर चुनाव में उतारा था। शारदा सोलंकी चुनाव में बीजेपी कैंडिडेट से 14684 वोट से जीती थीं और कांग्रेस को यह जीत दिलाई थी। ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की फोटो सामने आने के बाद उनके बीजेपी में जाने की अटकलें तेज हो गई हैं।

बीते साल मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव हुआ था। चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस को पटखनी देते हुए राज्य में सरकार बनाई थी। सरकार बनाने के बाद बीजेपी ने सबको चौंकाते हुए शिवराज सिंह चौहान की जगह पर मोहन यादव को राज्य के मुख्यमंत्री के तौर आगे कर दिया और उनको सीएम बना दिया था। अब लोकसभा चुनाव सिर पर हैं। ऐसे में कांग्रेस की महापौर के बीजेपी के साथ जाने पर इलाके में नुकसान उठाना पड़ सकता है।

 

इनपुट: अमित गौर

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें