फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशएमपी में 13 से मोहन यादव की सरकार, सीएम के साथ इन्हें भी दिलाई जा सकती है शपथ

एमपी में 13 से मोहन यादव की सरकार, सीएम के साथ इन्हें भी दिलाई जा सकती है शपथ

Mohan Yadav Govt Oath Ceremony: मध्य प्रदेश के मनोनीत मुख्यमंत्री मोहन यादव ने सोमवार को बताया कि कैबिनेट का शपथ समारोह बुधवार 13 दिसंबर को होगा।

एमपी में 13 से मोहन यादव की सरकार, सीएम के साथ इन्हें भी दिलाई जा सकती है शपथ
Krishna Singhएजेंसियां,भोपालTue, 12 Dec 2023 12:47 AM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के मनोनीत मुख्यमंत्री मोहन यादव ने सोमवार को कहा कि नई सरकार का शपथ ग्रहण समारोह 13 दिसंबर को होगा। खुद मनोनीत सीएम मोहन यादव ने यह जानकारी दी। इससे पहले मध्य प्रदेश के राज्यपाल मंगू भाई पटेल ने भाजपा विधायक दल के नेता मोहन यादव को राज्य में सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया। उन्हें अगले मुख्यमंत्री के रूप में नियुक्ति से संबंधित एक पत्र सौंपा। 

भाजपा ने उज्जैन दक्षिण विधायक मोहन यादव को मनोनीत मुख्यमंत्री घोषित किया है। भोपाल में पार्टी मुख्यालय में एक बैठक के दौरान 58 वर्षीय नेता को भाजपा विधायक दल का नेता नियुक्त किया गया। यह भी अटकलें हैं कि दोनों डिप्टी सीएम को भी 13 दिसंबर को ही शपद दिलाई जा सकती है। हालांकि इस बारे में कोई आधिकारिक जानकारी सामने नहीं आई है।

विधानसभा के लिए चुने जाने के बाद केंद्रीय मंत्री पद से इस्तीफा देने वाले नरेंद्र सिंह तोमर को नए विधानसभा अध्यक्ष के रूप में नामित किया गया है। इसके अतिरिक्त, निवर्तमान वित्त मंत्री और मंदसौर से दो बार के विधायक जगदीश देवड़ा और रीवा से निवर्तमान जनसंपर्क मंत्री विधायक राजेंद्र शुक्ला को उप मुख्यमंत्री चुना गया है।

मनोनीत सीएम बनाए जाने के बाद मोहन यादव ने कहा- मैं पार्टी का एक छोटा कार्यकर्ता हूं। मैं आप सभी को, प्रदेश नेतृत्व को, केन्द्रीय नेतृत्व को धन्यवाद देता हूं। आपके प्यार और सहयोग से मैं अपनी जिम्मेदारियां पूरी करने की कोशिश करूंगा।

इससे पहले मध्य प्रदेश के राज्यपाल मंगू भाई पटेल ने भाजपा विधायक दल के नेता मोहन यादव को राज्य में सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया। उन्हें अगले मुख्यमंत्री के रूप में नियुक्ति से संबंधित एक पत्र सौंपा। 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े मोहन यादव पहले शिवराज सिंह चौहान सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री के पद पर थे। मोहन यादव सीएम पद की शपथ लेने वाले सुंदरलाल पटवा, उमा भारती, बाबूलाल गौर और शिवराज सिंह चौहान के बाद सूबे में भाजपा की सरकार का प्रतिनिधित्व करने वाले पांचवें मुख्यमंत्री बन जाएंगे। गौरतलब है कि शिवराज सिंह चौहान 16 साल से अधिक समय तक मुख्यमंत्री पद पर रहे।

भाजपा विधायक दल ने केंद्रीय पर्यवेक्षकों की उपस्थिति में चौहान कैबिनेट के सदस्य यादव को अपना नेता चुना, जिससे उनके अगले मुख्यमंत्री के रूप में कार्यभार संभालने का मार्ग प्रशस्त हो गया। भाजपा ने 17 नवंबर को हुए विधानसभा चुनावों में 230 सदस्यीय विधानसभा में 163 सीट जीतकर मध्य प्रदेश में सत्ता बरकरार रखी, जबकि कांग्रेस 66 सीट के साथ दूसरे स्थान पर रही।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें