फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशपति को था पत्नी के चरित्र पर शक, चाकू से गोदा; 8 साल का मासूम बना चश्मदीद

पति को था पत्नी के चरित्र पर शक, चाकू से गोदा; 8 साल का मासूम बना चश्मदीद

बताया जा रहा है कि आरोपी टीपू ने पत्नी की हत्या के बाद अपनी बहन शबनम को फोन लगाया और बताया कि मेरी जान खतरे में है, मोहल्ले वाले मुझे मार देंगे।

पति को था पत्नी के चरित्र पर शक, चाकू से गोदा; 8 साल का मासूम बना चश्मदीद
Aditi Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,शाजापुरSun, 23 Jun 2024 06:35 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के शाजापुर जिले में हत्या का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। चरित्र शंका के चलते यंहा पति ने अपने तीन बच्चों के सामने  पत्नी को मौत के घाट उतार दिया। इस दौरान उसने पत्नी के पेट और सीने पर चाकू से कई वार किए। इसके बाद खुद को बेकसूर साबित करने के लिए पति ने साजिश रची। उसने अपनी बहन को फोन किया और खुद की जान खतरे में बताई। बहन अपने दूसरे भाई के साथ घर पहुंची तो हत्या का राज खुला। उधर आरोपी भी वहां से फरार हो गया।  सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल में जुट गई। घटनास्थल पर मौजूद आरोपी के 8 साल के बेटे ने पुलिस को पूरे घटना क्रम के बारे में बताया। पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है।

घटना शनिवार देर रात 2 बजे के करीब की बताई जा रही है। मामले की जानकारी लगते ही लालघाटी पुलिस मौके पर पहुंची और शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया। जानकारी के अनुसार गुर्जर बापचा जिला देवास की रहने वाली 28 वर्षीय रुखसार का विवाह शाजापुर जिले के दुपाडा में टीपू उर्फ शाहरिया से हुआ था। टीपू शादी के बाद से ही नशे में अपनी पत्नी के चरित्र पर शक करता था जिसे लेकर अक्सर विवाद होते थे। पारिवारिक कलह और विवाद के चलते पत्नी रुखसार अक्सर अपने मायके पहुंच जाती थी। 

कुछ दिन पहले मायके से गई थी घर

कुछ दिन पहले भी विवाद के बाद रुखसार घर आ गई थी। फिर तीन चार दिन पहले बहन के ससुर और पति आए और अब मारपीट नहीं करने का वादा कर उसे ले गए थे। शनिवार को भी पति टीपू नशे की हालत में घर पहुंचा और रुखसार से विवाद होने पर उसने चाकू से अपनी पत्नी रुखसार के ऊपर हमला बोल दिया। इसमें रुखसार ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि आरोपी के 8 साल का बेटा घटना का चश्मदीद है। उसके सामने उसके पिता ने उसकी मां को चाकू से गोद कर मार डाला। 

आरोपी टीपू ने पत्नी की हत्या के बाद अपनी बहन शबनम को फोन लगाया और बताया कि 'मेरी जान खतरे में है, मोहल्ले वाले मुझे मार देंगे।' इस बात की जानकारी  बहन ने अपने दूसरे भाई अकरम को फोन लगाकर दी और अकरम के साथ वहां पहुची। इसके बाद उन्होंने टीपू के पिताजी को आवाज लगाई और टीपू के कमरे प्रवेश किया। वहां उसकी पत्नी का शव पड़ा मिला। घर में दोनों पति-पत्नी के अलावा उनके तीन बच्चे थे। ससुर पड़ोस के कमरे में सोए हुए थे। 

पड़ोसी नौशाद ने कहा, मैं घर में सो रहा था। रात को दरवाजा बजाकर मुझे टीपू के भाई अकरम ने जगाया और बताया उसकी पत्नी कमरे में पड़ी हुई है और तुम्हारी गाड़ी से अस्पताल लेकर चलना है। मैंने वहां जाकर देखा तो उसकी सांसें नहीं चल रही थी। पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने नौशाद की रिपोर्ट पर हत्या का मामला दर्ज किया। शाजापुर लालघाटी थाना प्रभारी संजय वर्मा ने बताया कि सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल शुरू की।  प्रथम दृष्टया महिला  को सीने ओर पेट पर तीन चाकुओं के वार दिखाई दिए हैं। मामले में फोरेंसिक टीम और पीएम की रिपोर्ट से पता चलेगा। घटना के समय मौजूद आरोपी के बेटे के बयान लिए जा रहे हैं। आरोपी पर हत्या का मामला दर्ज कर उसके तलाश की जा रही है।

रिपोर्ट विजेन्द्र यादव