फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशमध्य प्रदेश: सुमावली में BJP, कांग्रेस और BSP उम्मीदवारों को पुलिस ने किया नजरबंद, ये है वजह

मध्य प्रदेश: सुमावली में BJP, कांग्रेस और BSP उम्मीदवारों को पुलिस ने किया नजरबंद, ये है वजह

एसपी शैलेन्द्र सिंह चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि  जिले की सुमावली सहित अन्य विधानसभाओं में शांतिपूर्ण चुनाव कराने ले लिए सुमावली विधानसभा के प्रत्यासियों को नजबंद रखा गया है।

मध्य प्रदेश: सुमावली में BJP, कांग्रेस और BSP उम्मीदवारों को पुलिस ने किया नजरबंद, ये है वजह
Aditi Sharmaलाइव हिंदुस्तान,ग्वालियरFri, 17 Nov 2023 12:42 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों पर मतदान जारी है. 5.6 करोड़ से ज्यादा मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर 2533 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला कर रहे हैं। इस बीच मुरैना से बड़ी खबर सामने आई है। यहां सुमावली में  शांतिपूर्ण मतदान के लिए सुमावली विधानसभा के बीजेपी, कांग्रेस और बसपा के प्रत्याशियों को पुलिस ने मजरबंद कर दिया है।

एसपी शैलेन्द्र सिंह चौहान ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि  जिले की सुमावली सहित अन्य विधानसभाओं में शांतिपूर्ण चुनाव कराने ले लिए सुमावली विधानसभा के प्रत्यासियों को नजबंद रखा गया है। जानकारी के मुताबिक पुलिस प्रशासन ने तीनों उम्मीदवारों को पुलिस लाइन में रखा है।

अलग-अलग कमरे में रखा गया

तीनों को अलग अलग कमरे में नजरबंद करके रखा गया है। इन उम्मीदवारों के वीडियो भी सामने आए हैं। इनमें से कोई नाश्ता करते नजर आए तो कोई फोन पर बात करते देखे गए।

वहीं दूसरी ओर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने शुक्रवार को राज्य में सुबह मतदान शुरू होने के बाद अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान किया। चौहान ने अपनी पत्नी साधना सिंह और अपने दो बेटों के साथ सीहोर जिले की बुधनी विधानसभा सीट के गांव जैत में वोट डाला, जहां से वह भाजपा के उम्मीदवार हैं।

मतदान केंद्र पर जाने से पहले चौहान ने गांव के एक मंदिर में पूजा-अर्चना की। कमलनाथ, उनके बेटे और लोकसभा सांसद नकुल नाथ और बहू ने भी प्रदेश कांग्रेस प्रमुख के गृह क्षेत्र छिंदवाड़ा जिले के सौसर विधानसभा क्षेत्र के शिकारपुर में अपना वोट डाला। कमलनाथ छिंदवाड़ा विधानसभा सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार हैं।
    
मतदान की शुरुआत में वोट डालने वालों में प्रमुख लोगों में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा, खेल और युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया, उद्योग मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता जीतू पटवारी और राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) अनुपम राजन भी शामिल हैं।

रिपोर्ट: अमित

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें