फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशदस्तक देगा एक और पश्चिमी विक्षोभ, मध्य प्रदेश में तेज बारिश और ओले पड़ने का यलो अलर्ट

दस्तक देगा एक और पश्चिमी विक्षोभ, मध्य प्रदेश में तेज बारिश और ओले पड़ने का यलो अलर्ट

पश्चिमी विक्षोभ और नम हवाओं के प्रभाव से मध्य प्रदेश के मौसम में बड़े बदलाव के संकेत हैं। IMD ने तेज हवाओं और गरज चमक के साथ हल्की से मध्यम बारिश और ओले पड़ने का यलो अलर्ट जारी किया है।

दस्तक देगा एक और पश्चिमी विक्षोभ, मध्य प्रदेश में तेज बारिश और ओले पड़ने का यलो अलर्ट
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,भोपालWed, 21 Feb 2024 03:05 PM
ऐप पर पढ़ें

पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से पहाड़ों पर बर्फ पड़ रही है। आलम यह है कि भारी हिमपात से जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में कई सड़कें बंद हो गई हैं। उत्तर पश्चिमी भारत और मध्य भारत के मैदानी इलाके भी इन वेदर सिस्टम से प्रभावित हुए हैं। मध्य प्रदेश के कई इलाकों में झमाझम बारिश हुई है। मौसम विभाग की मानें तो मध्य प्रदेश में अगले 48 घंटे तक मौसम खराब रहेगा। पश्चिमी और पूर्वी मध्य प्रदेश के विभिन्न इलाकों में तेज हवाओं और गरज चमक के साथ हल्की से मध्यम बारिश और ओले पड़ने का यलो अलर्ट जारी किया गया है। 

मौसम विभाग की ओर से जारी ऑल इंडिया वेदर बुलेटिन के मुताबिक, अभी भी पश्चिमी हिमालयी क्षेत्रों और उत्तर पश्चिमी भारत के कुछ हिस्सों पर एक पश्चिमी विक्षोभ ट्रफ के साथ एक्टिव है। एक अन्य प्रेरित साइक्लोनिक सर्कुलेशन उत्तर पश्चिम उत्तर प्रदेश और निचले क्षोभमंडल स्तर पर स्थित है। यही नहीं समुद्र तल से जेट स्ट्रीम हवाएं उत्तर भारत की ओर चल रही हैं। इन वेदर सिस्टम के संयुक्त प्रभाव से मध्य प्रदेश और राजस्थान में मौसम बदल गया है। 

IMD के मुताबिक, मध्य प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में 21 फरवरी को गरज और चमक के साथ छिटपुट हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। 22 फरवरी को भी मध्य प्रदेश में मौसम खराब रहेगा और तेज हवाओं के साथ छिटपुट हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। यही नहीं 21 फरवरी को पूर्वी मध्य प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर ओले पड़ने की भी संभावना है। मौसम विभाग की ओर से पूर्वी और पश्चिमी मध्य प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में 21 फरवरी को गरज चमक के साथ हल्की से मध्यम बारिश का यलो अलर्ट जारी किया गया है। 

मौसम विभाग के मुताबिक, 24 फरवरी की रात से एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालय क्षेत्र पर एक्टिव होगा। इसके प्रभाव से 24 से 27 फरवरी के दौरान पश्चिमी हिमालयी इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश या बर्फबारी देखी जा सकती है। इसका असर उत्तर पश्चिमी और मध्य भारत के मैदानी इलाकों पर कितना होगा, फिलहाल इस बारे में कोई जानकारी अभी नहीं आई है। यदि पिछले वर्षों से इस बार के मौसम पर गौर करें तो इस साल ठंड के सीजन में हल्के पश्चिमी विक्षोभ आए हैं। मौसम विभाग के ताजे पूर्वानुमान में 23 फरवरी से मध्य प्रदेश में मौसम के साफ होने के आसार बन रहे हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें