फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मध्य प्रदेशकूनो पार्क में बिगड़ी मादा चीता की तबीयत, मेडिकल टीम तैनात; गुर्दे की बीमारी के मिले लक्षण

कूनो पार्क में बिगड़ी मादा चीता की तबीयत, मेडिकल टीम तैनात; गुर्दे की बीमारी के मिले लक्षण

सूत्रों के हवाले से यह भी बताया जा रहा है कि परीक्षण के दौरान प्रथम दृष्टया यह पाया गया है कि मादा चीता में निर्जलीकरण (Dehydration) और गुर्दे (Renal Disease) की बीमारी के शुरुआती लक्षण मिले हैं।

कूनो पार्क में बिगड़ी मादा चीता की तबीयत, मेडिकल टीम तैनात; गुर्दे की बीमारी के मिले लक्षण
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,श्योपुरWed, 25 Jan 2023 09:07 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में एक मादा चीता की तबीयत बिगड़ गई। इसके बाद श्योपुर जिले स्थित में वाइल्डलाइफ सेंचुरी में इमरजेंसी मेडिकल रेसपॉन्स टीम को तैनात किया गया। सूत्रों के हवाले से टाइम्स ऑफ इंडिया ने बताया है कि मादा चीता को गंभीर चिकित्सीय हालत को देखते हुए यह कदम उठाया गया है। सूत्रों के हवाले से यह भी बताया जा रहा है कि परीक्षण के दौरान प्रथम दृष्टया यह पाया गया है कि मादा चीता में निर्जलीकरण (Dehydration) और गुर्दे (Renal Disease) की बीमारी के शुरुआती लक्षण मिले हैं।

बताया जा रहा है कि वन विहार नेशनल पार्क के पशु चिकित्सक अतुल गुप्ता को भोपाल से कूनो नेशनल पार्क भेजा गया। इस मामले पर राज्य के वाइल्ड लाइफ वार्डेन प्रमुख जेएस चौहान ने मीडिया को बताया कि चीता अब ठीक है। अन्य अधिकारी ने बताया कि Fluids दिये जाने के बाद चीता की हालत अब अच्छी है। 

पिछले साल 17 सितंबर को इस मादा चीता को 7 अन्य चीतों के साथ एयरलिफ्ट कर कूनो नेशनल पार्क लाया गया था। मादा चीता धीरे-धीरे भारत में अपने घर में घुल मिल रही है। यह मादा चीता और अन्य चीते मध्य प्रदेश वन विभाग की निगरानी में हैं। 

नामीबिया से आए इन चीतों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कूनो नेशनल पार्क में छोड़ा था। यहां लाए जाने के बाद इन चीतों को क्वारन्टीन में रखा गया था। इसके बाद इन्हें कुछ दिनों के लिए और बाड़े में रखा गया। कई दिनों तक निगरानी में रखने के बाद इन्हें बाड़े से आजाद किया गया था। 

इस बीच कुछ मीडिया रिपोर्ट में यह भी कहा जा रहा है कि 12 अन्य चीतों को भी कूनो नेशल पार्क में लाया जा सकता है। इन सभी चीतों को दक्षिण अफ्रीका से भारत लाया जाएगा।