फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशसंघ से करीबी, बड़ा ओबीसी चेहरा; कौन हैं मोहन यादव जिन्हें भाजपा ने बनाया MP का सीएम?

संघ से करीबी, बड़ा ओबीसी चेहरा; कौन हैं मोहन यादव जिन्हें भाजपा ने बनाया MP का सीएम?

MP CM Mohan Yadav: भाजपा ने मोहन यादव को मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया है। यादव आरएसएस के काफी करीबी हैं। वो राज्य के बड़े ओबीसी नेता हैं। यादव को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का खास भी माना जाता है।

संघ से करीबी, बड़ा ओबीसी चेहरा; कौन हैं मोहन यादव जिन्हें भाजपा ने बनाया MP का सीएम?
Devesh Mishraलाइव हिंदुस्तान,भोपालMon, 11 Dec 2023 08:32 PM
ऐप पर पढ़ें

CM Mohan Yadav: आठ दिनों के इंतजार के बाद अब उस सवाल का जवाब सामने आ गया है जिसने राजनीति में दिलचस्पी रखने वालों के मन में कुलबुलाहट मचा रखी थी। मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री के नाम का ऐलान हो गया है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिग्गज नेता मोहन यादव को सूबे का सीएम बनाया गया है। मोहन यादव राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के काफी करीबी माने जाते हैं। वो राज्य के बड़े ओबीसी नेता हैं। यादव को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का खास भी माना जाता है। आइए देखते हैं एमपी के नए सीएम मोहन यादव की प्रोफाइल...

संघ से करीबी
58 साल के मोहन यादव शिवराज सिंह चौहान कैबिनेट में उच्च शिक्षा मंत्री थे। यादव ने राजनीतिक करियर की शुरुआत अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) से की थी। मोहन यादव आरएसएस के बेहद करीबी माने जाते हैं। यादव ने साल 1984 में ABVP उज्जैन के नगर मंत्री की जिम्मेदारी संभाली थी। वो साल 1993 से 1995 के बीच आरएसएस उज्जैन शहर के खंड कार्यवाह का पद संभाले। वो राज्य के सबसे बड़े यादव फेस में से एक हैं।

बड़ा ओबीसी चेहरा
मोहन यादव उज्जैन दक्षिण से विधायक हैं। एमपी के नए सीएम मोहन यादव ओबीसी समुदाय से आते हैं। राज्य में ओबीसी की कुल आबादी पचास फीसदी के आसपास है। ऐसे में भाजपा ने यादव को सीएम बनाकर एक बड़ा दांव चला है। सियासी जानकारों का कहना है कि भगवा दल को इसका आगामी लोकसभा चुनाव में फायदा मिल सकता है।

पढ़े-लिखे नेता वाली छवि
किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाले मोहन यादव की छवि एक पढ़े-लिखे नेता के रूप में है। यादव ने बीएससी, एलएलबी, राजनीति विज्ञान में एमए और एमबीए की डिग्री है। मोहन यादव ने पीएचडी भी किया है।

42 करोड़ रुपए की संपत्ति
मोहन यादव के पास कुल 42 करोड़ रुपए की संपत्ति हैं। वहीं उन पर करीब 8 करोड़ रुपए की लायबिलिटी (ऋण) है। यादव के पास करीब 24 लाख रुपए के गहने हैं। एमपी के नए सीएम को पर्यटन, संस्कृति, खेलकूद, विज्ञान, इतिहास, आदि में विशेष रुचि हैं।

मोहन यादव को एबीवीपी, आरएसएस और भाजपा- तीनों जगह काम करने का लंबा अनुभव है। साल 2013 में मोहन यादव उज्जैन दक्षिण सीट से पहली बार विधायक बने। वो साल 2018 और इस चुनाव (2023) में भी विधायक बने। इस सीट से यादव ने हैट्रिक लगाई है। दिल्ली से पहुंचे भाजपा के तीन पर्यवेक्षकों- मनोहर लाल खट्टर, के लक्ष्मण, आशा लाकड़ा ने विधायक दल के साथ बैठक की। बैठक में मोहन यादव को सर्वसम्मति से मुख्यमंत्री बनाया गया। वहीं राजेंद्र शुक्ला, जगदीश देवड़ा को डिप्टी सीएम बनाया गया है। भाजपा ने नरेंद्र सिंह तोमर को विधानसभा का स्पीकर बनाया है।  

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें