फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मध्य प्रदेशमध्य प्रदेश: बेखौफ रेत माफिया, अवैध रेत उत्खनन रोकने गए डिप्टी रेंजर और टीम को बंधक बनाकर पीटा

मध्य प्रदेश: बेखौफ रेत माफिया, अवैध रेत उत्खनन रोकने गए डिप्टी रेंजर और टीम को बंधक बनाकर पीटा

मध्य प्रदेश के अनूपपुर जिले के कोयलांचल क्षेत्र भालूमाड़ा में बेख़ौफ़ रेत माफिया अपनी हरकतों से बाज नही आ रहे हैं। घटना बुधवार देर रात की है, जहां गोडारू नदी से अवैध रेत उत्खनन को रोकने गए डिप्टी रेंजर...

मध्य प्रदेश: बेखौफ रेत माफिया, अवैध रेत उत्खनन रोकने गए डिप्टी रेंजर और टीम को बंधक बनाकर पीटा
Arun Binjolaएजेंसी ,जबलपुरFri, 15 Jan 2021 01:56 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के अनूपपुर जिले के कोयलांचल क्षेत्र भालूमाड़ा में बेख़ौफ़ रेत माफिया अपनी हरकतों से बाज नही आ रहे हैं। घटना बुधवार देर रात की है, जहां गोडारू नदी से अवैध रेत उत्खनन को रोकने गए डिप्टी रेंजर दिलीप कुमार ओगरे और उनकी टीम को बदमाशों ने 2 घंटे बंधक बनाकर पीटा। बाद में टीम ने बताया कि, हमलावर लोहे की रॉड, डंडे लिए हुए थे।

वहीं, इस घटना में डिप्टी रेंजर के सिर व चेहरे पर चोट आई। पुलिस ने 3 नामजद सहित 11 लोगों पर मामला दर्ज किया है। लेकिन, वन अमले का आरोप है कि पुलिस ने एफआईआर में पूरा घटनाक्रम नहीं लिखा। फिलहाल सभी आरोपी फरार हैं।

एडिशनल एसपी अभिषेक राजन के मुताबिक, डिप्टी रेंजर ओगरे को मुखबिर से सूचना मिली कि नदी में रेत का अवैध उत्खनन किया जा रहा है। इसके बाद वे निजी वाहन से बीट गार्ड कुशल प्रसाद मानिकपुरी व वनरक्षक मनोज कुमार चौधरी के साथ रवाना हुए। हरद के जंगल के अंदर चकरी मोड़ पर नदी के पास पहुंचे ही थे कि सामने से रेत से भरा ट्रैक्टर आता दिखा। 

ट्रैक्टर को रोकने पर साथ में चल रहे चार पहिया वाहन से कुछ लोग उतरे और बिना कुछ बोले तीनों पर हमला कर दिया। वे लोग डिप्टी रेंजर सहित बीट गार्ड व वनरक्षक को करीब 2 घंटे तक बंधक बनाए रहे। इस बीच उनके साथी रेत से भरे ट्रैक्टर को छुड़ा कर भाग गए।
 

epaper