फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशशाही सम्मान से होगा माधवी राजे सिंधिया का अंतिम संस्कार, शामिल होंगी कई बड़ी हस्तियां

शाही सम्मान से होगा माधवी राजे सिंधिया का अंतिम संस्कार, शामिल होंगी कई बड़ी हस्तियां

केद्रीय मंत्री सिंधिया की माता के निधन पर मध्य प्रदेश के सीएम डॉ यादव ने शोक जताते हुए कहा की यह घटना हमारे लिए हृदय विदारक है। मां जीवन का आधार होती हैं, उनका निधन हमारे लिए अपूरणीय क्षति है।

शाही सम्मान से होगा माधवी राजे सिंधिया का अंतिम संस्कार, शामिल होंगी कई बड़ी हस्तियां
Sourabh JainPTI,ग्वालियरThu, 16 May 2024 04:42 PM
ऐप पर पढ़ें

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की मां माधवी राजे सिंधिया का अंतिम संस्कार गुरुवार शाम को किया जाएगा। इससे पहले उनका पार्थिव शरीर गुरुवार को विशेष विमान द्वारा दिल्ली से ग्वालियर लाया गया। इसके बाद उनकी पार्थिव देह को फूलों से सजी एम्बुलेंस के जरिए ग्वालियर एयरपोर्ट से जयविलास परिसर में स्थित रानी महल तक ले जाया गया, इस दौरान एंबुलेंस में केंद्रीय मंत्री सिंधिया के साथ उनके परिवार के सदस्य मौजूद रहे।

अंतिम दर्शन के लिए जुटे हजारों लोग

माधवी राजे सिंधिया की आखिरी झलक पाने के लिए हवाई अड्डे पर भारी संख्या में लोग मौजूद थे, जो उनकी जय-जयकार के नारे लगा रहे थे। कुछ देर के लिए एंबुलेंस का दरवाजा भी खुला रखा गया ताकि लोग पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन कर सकें। इसके बाद कुछ देर के लिए उनके पार्थिव शरीर को रानी महल में भी रखा गया, ताकि लोग उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दे सकें।

शाही परिवार के लोगों की अंत्येष्टि के लिए अलग जगह

माधवी राजे सिंधिया का अंतिम संस्कार गुरुवार शाम 5 बजे 'अम्मा महाराज की छतरी' पर किया जाएगा। यह स्थान ग्वालियर के पूर्व शाही परिवार के सदस्यों के अंतिम संस्कार के लिए आरक्षित है।

अंतिम संस्कार में शामिल होंगे कई VIP

माधवी राजे के अंतिम संस्कार में नेपाल के शाही परिवार और देश की पूर्ववर्ती रियासतों के सदस्य शामिल होंगे। साथ ही इसमें भाजपा और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के पहुंचने की भी उम्मीद है। सूत्रों ने बताया कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए ग्वालियर पहुंचेंगे।

 

बुधवार सुबह दिल्ली एम्स में हुआ था निधन

माधवी राजे सिंधिया का निधन बुधवार सुबह दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में हुआ था। वे बीते तीन महीने से अस्वस्थ थीं और करीब दो माह से एम्स में उनका इलाज चल रहा था। पिछले दो सप्ताह से उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी और वह वेंटीलेटर पर थीं। उन्हें निमोनिया के साथ-साथ सेप्सिस भी था।

बता दें कि राजमाता माधवी राजे सिंधिया नेपाल की रहने वाली थीं। सिंधिया राजघराने की बहू बनने से पहले उनका नाम किरण राज लक्ष्मी था। वह नेपाल के राणा राजवंश से थीं। इस राजवंश के प्रमुख जुद्ध शमशेर जंग बहादुर राणा थे, जो नेपाल के प्रधानमंत्री भी रहे थे। उनका विवाह मई 1966 में माधवराव सिंधिया के साथ हुआ था। उनके परिवार में बेटा ज्योतिरादित्य सिंधिया और बेटी चित्रांगदा राजे सिंह हैं।