फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशउधार पर ‘उम्मीदवारी’, कर्ज लेकर दो लोकसभा और तीन विधानसभा का लड़ा चुनाव; तीसरी बार फिर ठोकी ताल

उधार पर ‘उम्मीदवारी’, कर्ज लेकर दो लोकसभा और तीन विधानसभा का लड़ा चुनाव; तीसरी बार फिर ठोकी ताल

Lok Sabha Elections: मध्य प्रदेश की खजुराहो लोकसभा सीट से चुनावी रण में उतरे इणरान कर्ज लेकर चुनाव लड़ रहे हैं। वे अबतक तीन बार विधानसभा और दो लोकसभा चुनाव भी कर्ज लेकर लड़ चुके हैं।

उधार पर ‘उम्मीदवारी’, कर्ज लेकर दो लोकसभा और तीन विधानसभा का लड़ा चुनाव; तीसरी बार फिर ठोकी ताल
Sneha Baluniलाइव हिन्दुस्तान,छत्तरपुरWed, 24 Apr 2024 01:09 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में रहने वाले एक युवक पर चुनाव लड़ने का जुनून सवार है। जुनून भी ऐसा जिसे पूरा करने के लिए लगातर कर्ज ले रहे हैं। 2024 के लोकसभा चुनाव में एक बार फिर कर्ज लेकर चुनावी मैदान में उतर गए हैं। इस उम्मीदवार का नाम इमरान है। वे अबतक तीन बार विधानसभा और इस बार का चुनाव मिलाकर तीसरी बार लोकसभा का चुनाव लड़ रहे हैं। इमरान राज्य की चर्चित लोकसभा सीट खजुराहो से जन सद्भावना पार्टी से चुनाव लड़ रहे हैं। वे राजनगर विधानसभा के ललपुर गांव के रहने वाले हैं। इमरान की उम्र 39 साल है और वह पेशे से एक फोटोग्राफर हैं। उनकी दो बेटियां है। वहीं पिता समी उल्ला खां चूड़ियां बेचने का काम करते हैं।

चुनाव लड़ने के लिए हर बार लेते हैं कर्ज

इमरान के पिता समी उल्ला खां बताते हैं की इमरान का सपना जन प्रतिनिधि बनने का है इसीलिए वह पिछले 18 सालों से चुनाव लड़ता आ रहा है। इमरान ने अभी तक 3 बार राजनगर विधानसभा से विधायकी का चुनाव और 3 बार सांसदी का चुनाव खजुराहो लोकसभा सीट से लड़ा है। चुनाव लड़ने के लिए इमरान हर बार दोस्तों-रिश्तेदारों से कर्ज लेता है और फिर 5 साल तक मेहनत करके उन पैसों को चुकाता है।

चुनाव लड़ने का सिर पर जुनून सवार

इमरान बताते हैं की उनका सपना है की वह एक बार चुनाव जीते और अपने क्षेत्र, गांव के लिए कुछ कर सकें। इमरान का कहना है की उनके क्षेत्र में स्वास्थ्य, शिक्षा और बेरोजगारी की समस्या है। इमरान ने इस बार लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए 5 लाख रुपए और इससे पहले हुए विधानसभा चुनाव में 7 लाख दोस्तों और रिश्तेदारों से कर्ज लिया। इमरान को उम्मीद है की एक न एक दिन वह चुनाव जीतेंगे और जनप्रतिनिधि बनेंगे।

परिवार को ई रिक्शा में बैठाकर अनोखे तरीके से कर रहे प्रचार

इमरान सुबह-सुबह अपने परिवार के सदस्यों और प्रचार सामग्री को लेकर अपने ई रिक्शा पर बैठकर प्रचार के लिए निकल जाते हैं। रिक्शे में उनके पिता, बच्चों के अलावा पत्नी भी होती हैं। इमरान की पत्नी तरन्नुम बानो कहती हैं उनके पति हर बार चुनाव के लिए कर्ज लेते हैं। उन्हे बुरा लगता है लेकिन उनका सपना है चुनाव जीतने का इसीलिए वह इमरान को सपोर्ट करती हैं।