फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेश45 साल पुराना रिश्ता, हार के कारणों का होगा पोस्टमार्टम; छिंदवाड़ा से बेटे की हार पर बोले कमलनाथ

45 साल पुराना रिश्ता, हार के कारणों का होगा पोस्टमार्टम; छिंदवाड़ा से बेटे की हार पर बोले कमलनाथ

छिंदवाड़ा से बेटे नकुलनाथ की हार पर कमलनाथ ने कहा कि उन्होंने जनता का फैसला स्वीकार कर लिया है। उनकी छिंदवाड़ा की जनता से 45 साल पुराना रिश्ता है। हार के कारणों का पता लगाया जाएगा।

45 साल पुराना रिश्ता, हार के कारणों का होगा पोस्टमार्टम; छिंदवाड़ा से बेटे की हार पर बोले कमलनाथ
madhya-pradesh-congress-president-kamal-nath---pti jpg
Sneha Baluniपीटीआई,छिंदवाड़ाThu, 06 Jun 2024 11:50 AM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमल नाथ ने बुधवार को कहा कि इंडिया गठबंधन ने लोकसभा चुनावों में बड़ी संख्या में सीटें जीती हैं और विपक्षी गठबंधन का प्रदर्शन आने वाले दिनों में राष्ट्रीय राजनीति को नई दिशा देगा। अपने बेटे नकुल नाथ की छिंदवाड़ा से हार के बारे में पूछे जाने पर, उन्होंने कहा, 'यह सिर्फ एक सीट का सवाल नहीं है, बल्कि राज्य में मिली बड़ी हार का सवाल है।' बता दें कि 2019 में छिंदवाड़ा अकेली एक ऐसी सीट थी जिसपर कांग्रेस को जीत मिली थी।

कांग्रेस के नेता ने छिंदवाड़ा में पार्टी की करारी हार के पीछे के कारणों का पता लगाने के लिए एक बैठक बुलाई है जिसमें हार के कारणों का 'पोस्टमार्टम' करने की मांग की। सत्तारूढ़ भाजपा ने राज्य के लोकसभा चुनावों में सभी 29 सीटों पर जीत हासिल की। ​​उन्होंने कहा कि भाजपा ने '400 पार' का नारा दिया था, लेकिन भगवा पार्टी केवल 240 सीटों पर सिमट गई।

अपने गृह जिले छिंदवाड़ा के एक होटल में पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत में पूर्व सीएम ने कहा, 'हमारे गठबंधन का प्रदर्शन अच्छा रहा। मोदी जी (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) 400 पार कहते थे, लेकिन (भाजपा) सिर्फ 240 सीटें मिलीं। इसके उलट, हमें (भारत ब्लॉक को) अच्छी संख्या में सीटें (234) मिली हैं और यह आने वाले दिनों में राजनीति को नई दिशा देगी।'

कमल नाथ ने कहा कि लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद कांग्रेस नेतृत्व उन्हें दिल्ली बुला रहा है, लेकिन उन्होंने उनसे कहा कि वह पहले छिंदवाड़ा जाकर उन लोगों से मिलेंगे जो इतने सालों तक उनके साथ खड़े रहे और उसके बाद ही राजधानी आएंगे। इससे पहले पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पूर्व सीएम ने कहा कि छिंदवाड़ा के लोगों ने उन्हें 'विदाई' दे दी है और उन्होंने इसे स्वीकार कर लिया है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि छिंदवाड़ा के लोगों के साथ उनका 45 साल पुराना रिश्ता है। उन्होंने कहा कि उनके गृह क्षेत्र में चुनावी हार का 'पोस्टमार्टम' करने की जरूरत है। नाथ ने पार्टी कार्यकर्ताओं से इस हार के पीछे के कारणों का पता लगाने और उन्हें इसके बारे में बताने को कहा। वहीं इस मौके पर नकुल नाथ ने कहा कि वह छिंदवाड़ा नहीं छोड़ेंगे। उनकी पार्टी का अगला लक्ष्य जिले के अमरवाड़ा में विधानसभा उपचुनाव जीतना है।