फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशकांग्रेस नेता ने विजयवर्गीय के लिए की पैरवी, कहा- बनाना चाहिए MP का नया CM; वजह भी बताई

कांग्रेस नेता ने विजयवर्गीय के लिए की पैरवी, कहा- बनाना चाहिए MP का नया CM; वजह भी बताई

Madhya pradesh New CM: मध्य प्रदेश का नया मुख्यमंत्री कौन होगा, इस पर सस्पेंस बरकरार है। शिवराज सिंह चौहान, नरेंद्र सिंह तोमर, प्रह्लाद पटेल समेत कई नेताओं के नामों पर अटकलों का दौर चल रहा है।

कांग्रेस नेता ने विजयवर्गीय के लिए की पैरवी, कहा- बनाना चाहिए MP का नया CM; वजह भी बताई
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,इंदौरWed, 06 Dec 2023 02:27 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश का नया मुख्यमंत्री कौन होगा, इस पर सस्पेंस बरकरार है। शिवराज सिंह चौहान, नरेंद्र सिंह तोमर, प्रह्लाद पटेल समेत कई नेताओं के नामों पर अटकलों का दौर चल रहा है। इस बीच कांग्रेस के एक नेता ने कैलाश विजयवर्गीय के लिए पैरवी की है। इंदौर में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा है कि विजयर्गीय को मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया जाए। उनकी दलील है कि इससे इंदौर का विकास होगा। भाजपा ने इंदौर की सभी 9 सीटों पर जीत हासिल की है। 

इंदौर के कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व नगर अध्यक्ष प्रमोद टंडन ने खुलकर यह इच्छा जाहिर की है कि वह विजयवर्गीय को सीएम देखना चाहते हैं। उन्होंने ऐसा इंदौर की विकास के लिए कहा। मीडिया से बातचीत करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद टंडन ने कहा, 'मैं इंदौर की लड़ाई लड़ने की बात कर रहा हूं।ना मेरी केलैश जी से बात हुई है और ना आगे होगी। इंदौर को मुख्यमंत्री नहीं मिला है। मैं तो कांग्रेस से भी कह रहा हूं कि मुख्यमंत्रियों ने इंदौर का दोहन किया और भाजपा के मुख्यमंत्रियों ने भी इंदौर की अनदेखी की है। यदि इंदौर का मुख्यमंत्री बनेगा तो यह विकास की नई परिभाषा गढ़ेगा। कैलाश जी सबसे वरिष्ठ हैं, जीतकर आए हैं। कैलाश जी मुख्यमंत्री की रेस में है और वह बनते हैं तो इंदौर कि लिए शुभ संकेत होगा।'

कांग्रेस की हार को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में टंडने ने कहा कि यह किसी चमत्कार से कम नहीं है। उन्होंने कहा, 'बीजेपी के नेताओं को भी इस बात का भरोसा नहीं था कि वो 9 की 9 सीट जीतेंगे।सभी आकलन करने वाले इंदौर में कांग्रेस को 4 सीट दे रहे थे। इंदौर देपालपुर, इंदौर 3 , राऊ, इंदौर 5 में  कांग्रेस के नेता की जीत पक्की लग रही थी।' टंडन ने भी बीजेपी की जीत के पीछे ईवीएम की गड़बड़ी की आशंका जाहिर की। कांग्रेस नेता ने यह भी आरोप लगाया कि भाजपा ने हिंदू-मुसलमान और देश को बांटने वाली राजनीति की।  

गौरतलब है कि भाजपा ने इस बार इंदौर में ने 9-0 स्कोर के साथ क्लीन स्वीप किया है। 1993 में भी पार्टी ने सभी सीटें जीती थीं। इंदौर में भाजपा नेताओं ने रिकार्ड जीत दर्ज की है। भाजपा के रमेश मेंदोला ने विधानसभा दो से 1 लाख सात हजार वोटों से जीत दर्ज की तो कैलाश विजयवर्गीय ने विधानसभा एक से 58 हजार से अधिक वोटों से जीत दर्ज की। इंदौर जिले की 9 विधानसभा सीटें सभी भाजपा के खाते में आ गई हैं। तीन नंबर से गोलू शुक्ला 14 हजार वोटों से, चार में मालिनी गौड़ 69 हजार से, पांच में महेंद्र हार्डिया 23761 से, महू में ऊषा ठाकुर ने 34392 से, राऊ में मधु वर्मा ने 35522 से, सांवेर में तुलसी सिलावट ने 68854 से और देपालपुर में मनोज पटेल ने 13698 मतों से जीत दर्ज की

रिपोर्ट- हेमंत नागले

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें