फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशअग्निवीरों को मिलेगी भाजपा कार्यालयों में सुरक्षा की नौकरी, बयान पर घिरे कैलाश विजयवर्गीय; केजरीवाल बोले- जवानों का अपमान

अग्निवीरों को मिलेगी भाजपा कार्यालयों में सुरक्षा की नौकरी, बयान पर घिरे कैलाश विजयवर्गीय; केजरीवाल बोले- जवानों का अपमान

वहीं इसपर कांग्रेस पार्टी की तरफ से ट्वीट कर कहा कि बीजेपी के नेता कैलाश विजयवर्गीय ने अग्निपथ योजना को लेकर सभी संशयों को दरकिनार कर दिया। दिल्ली में उसका सत्याग्रह ऐसी ही मानसिकlता के खिलाफ है।

अग्निवीरों को मिलेगी भाजपा कार्यालयों में सुरक्षा की नौकरी, बयान पर घिरे कैलाश विजयवर्गीय; केजरीवाल बोले- जवानों का अपमान
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 19 Jun 2022 05:34 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

केंद्र सरकार की अग्निवीर योजना को लेकर पक्ष-विपक्ष के बीच तकरार जारी है। अब कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और शिवसेना ने रविवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के उस बयान पर निशाना साधा जिसमें उन्होंने अग्निवीरों को भाजपा कार्यालय की सुरक्षा में तैनात करने की बात कही थी। 

आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि भाजपा के वरिष्ठ नेता ने देश के युवाओं और सेना के जवानों का अपमान किया है। दरअसल कैलाश विजयवर्गीय का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। इस वीडियो में नजर आ रहा है कि भाजपा नेता पत्रकारों से कहते हैं कि अगर वो पार्टी कार्यालय में सुरक्षा बनाए रखना चाहते हैं तो अग्निवीरों को प्राथमिकता दी जाएगी।

भाजपा नेता आगे कहते हैं, 'जब एक अग्निवीर को मिलिट्री की ट्रेनिंग की जाएगी और जब वो 4 साल बाद नौकरी छोड़ेंगे तो उन्हें 11 लाख रुपये मिलेंगे। अगर मैं भाजपा कार्यालय की सुरक्षा के लिए नियुक्ति करना चाहता हूं तो मैं अग्निवीरों को प्राथमिकता दूंगा।'

उनके इस बयान पर अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, 'देश के युवाओं और सेना के जवानों का इतना अपमान मत करो। हमारे देश के युवा दिन-रात मेहनत करके फ़िज़िकल पास करते हैं, टेस्ट पास करते हैं, क्योंकि वो फ़ौज में जाकर पूरा जीवन देश की सेवा करना चाहते हैं, इसलिए नहीं कि वो BJP के दफ़्तर के बाहर गार्ड लगना चाहते हैं।'

वहीं इसपर कांग्रेस पार्टी की तरफ से ट्वीट कर कहा कि बीजेपी के नेता कैलाश विजयवर्गीय ने अग्निपथ योजना को लेकर सभी संशयों को दरकिनार कर दिया। पार्टी ने आगे कहा कि दिल्ली में उसका सत्याग्रह ऐसी ही मानसिकता के खिलाफ है। 

वहीं शिवसेना की राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि विजयवर्गीय की टिप्पणी ने वर्दी वालों के महत्व को कम कर दिया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें