फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशJitu patwari rau seat election results 2023- राऊ सीट पर कांग्रेस के जीतू पटवारी बड़ी हार, बीजेपी ने तोड़ा तिलिस्म

Jitu patwari rau seat election results 2023- राऊ सीट पर कांग्रेस के जीतू पटवारी बड़ी हार, बीजेपी ने तोड़ा तिलिस्म

Jitu patwari rau seat election results 2023-  राहुल गांधी के करीबी और कांग्रेस के कद्दावर नेता जीतू पटवारी जीत की हैट्रिक लगाने से चूक गए। यहां उन्हें बड़ी हार का सामना करना पड़ा है।

Jitu patwari rau seat election results 2023- राऊ सीट पर कांग्रेस के जीतू पटवारी बड़ी हार, बीजेपी ने तोड़ा तिलिस्म
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,भोपालSun, 03 Dec 2023 05:26 PM
ऐप पर पढ़ें

Jitu patwari rau seat election results 2023-  मध्यप्रदेश में बीजेपी बंपर जीत के साथ सरकार बनाने जा रही है। पार्टी दफ्तरों में जश्न का माहौल है। बीजेपी नेता एक-दूसरे को मिठाइयां खिला रहे हैं और जश्न में डूबे हुए हैं। उधर, कांग्रेस खेमे में मायूसी छाई हुई है। राऊ हॉट सीट पर कांग्रेस के कद्दावर नेता जीतू पटवारी  जीत की हैट्रिक लगाने से चूक गए। यहां बीजेपी प्रत्याशी मधु वर्मा जीत ने बड़ी जीत हासिल की है।

राऊ विधानसभा सीट परिणाम

कांग्रेस के कद्दावर नेता और लगातार दो बार राऊ सीट से जीत हासिल कर चुके जीतू पटवारी को इस बार हार का मुंह देखना पड़ा है। वो जीत की हैट्रिक लगाने से चूक गए। बीजेपी प्रत्याशी मधु वर्मा ने राऊ में कांग्रेस का किला फतह कर दिया है। आखिरी 20वें राउंड की वोटिंग के बाद मधु वर्मा 150107 वोटों के साथ पहले नंबर पर रहे। जबकि, जीतू पटवारी को 114618 वोट मिले। वो 35489 वोटों के अंतर से हारे।

जीतू पटवारी राजनीतिक इतिहास
कांग्रेस के फायरब्रांड नेता और कमलनाथ सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री रह चुके जीतू पटवारी के समर्थक जीत को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हैं। जीतू 2013 में पहली बार विधानसभा पहुंचे थे। इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। 2018 में भी वो चुनाव लड़े और जीते भी। 2023 के चुनाव में कांग्रेस ने उन्हें प्रचार अभियान समिति का सह-अध्यक्ष बनाया था।

2017 का वो किस्सा, जब सुर्खियों में आए
साल 2017 में जब प्रदेश में बीजेपी की सरकार थी तो मंदसौर में आंदोलन के दौरान पुलिस गोलीबारी में कुछ किसानों की मौत हो गई थी। राहुल गांधी पीड़ित किसान परिवारों से मिलना चाह रहे थे लेकिन, सरकार की बिना मंजूरी के ऐसा नहीं हो पा रहा था। तब राहुल गांधी बाइक पर सवार होकर किसानों से मिले। राहुल जिस बाइक पर सवार थे, उसे जीतू पटवारी ही चला रहे थे। उनकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर काफी वायरल भी हुई थी।

परिवार की बात करें तो उनके दादा कोदारलाल पटवारी ने स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान एक स्वतंत्रता सेनानी के रूप में कार्य किया था। उनके पिता, रमेश चंद्र पटवारी भी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक सक्रिय नेता रहे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें