फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशयहां आई तो जान से मार देंगे, पाकिस्तान से भारत आई अंजू तो बोले गांव वाले- देश को बदनाम किया है

यहां आई तो जान से मार देंगे, पाकिस्तान से भारत आई अंजू तो बोले गांव वाले- देश को बदनाम किया है

अंजू की घर वापसी को लेकर उसके पिता गया प्रसाद थॉमस मीडिया के सामने कुछ भी बोलने से इनकार कर रहे हैं। उनका कहना है कि मैं पहले भी कहा था तो वह मेरे लिए मर चुकी है। उन्होंने दरवाजे बंद कर लिए हैं।

यहां आई तो जान से मार देंगे, पाकिस्तान से भारत आई अंजू तो बोले गांव वाले- देश को बदनाम किया है
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,ग्वालियरThu, 30 Nov 2023 02:02 PM
ऐप पर पढ़ें

एक बार फिर भारत की अंजू सुर्खियों में आ गई है क्योंकि अंजू पाकिस्तान से वापस भारत लौट आई है। अंजू बुधवार को अटारी-वाघा बॉर्डर के रास्ते भारत में दाखिल हुई। अभी वो बीएसएफ के कैंप में है। वहीं से उसकी पहली तस्वीर सामने आई है। अंजू का परिवार मध्य प्रदेश के ग्वालियर में रहता है। जिले के टेकनपुर में स्थित बोना गांव में अंजू के पिता गया प्रसाद थॉमस रहते हैं। अंजू की घर वापसी को लेकर उसके पिता गया प्रसाद थॉमस मीडिया के सामने कुछ भी बोलने से इनकार कर रहे हैं। उनका कहना है कि मैं पहले भी कहा था तो वह मेरे लिए मर चुकी है।

टेकनपुर में स्थित बेना गांव में अंजू के पिता गया प्रसाद ने अपने घर के दरवाजे अंजू के लिए बंद कर लिए हैं। वह किसी से कुछ बात नहीं करना चाह रहे हैं। तो वही अंजू के भारत आने की जानकारी जैसे ही गांव वालों को लगी तो वह भी अंजू के घर पहुंच रहे हैं। गांव वालों का कहना है कि अंजू के पिता पहले ही मना कर चुके हैं कि वह मेरे लिए मर चुकी है अगर वह यहां पर आई तो हम अंजू के पिता को भी गांव से बाहर कर देंगे। अगर इस गांव में अंजू ने गांव में कदम रखा तो उसे जान से मार देंगे क्योंकि अंजू ने अपने परिवार का ही नहीं बल्कि भारत का नाम और इस गांव का नाम बदनाम किया है।

वही गांव के रहने वाले धर्मेंद्र गुर्जर का कहना है, 'अंजू मेरे साथ पढ़ी है और मेरी क्लासमेट रही है। वह शुरू से ऐसी ही हरकत करती थी। उसने पाकिस्तान में भारत के नाम को बदनाम किया है। ऐसी महिला को या रहने का कोई हक नहीं है।  हम सब अपने देश को प्यार करते हैं और देश से बढ़कर कोई नहीं है। अंजू ने पाकिस्तान में जाकर इस गांव का नाम बदनाम किया है। इसलिए उसे यहां रहने का कोई हक नहीं है। अगर वह गांव में आती है तो उसको जान से मार देंगे।' 

अंजू के परिवार की हो जांच, बोले सरपंच

वही गांव के सरपंच रवि गुर्जर का कहना है कि सभी गांव वालों ने पहले ही अंजू के पिता और माता से मना कर दिया था कि उसे गांव में आने की कोई आवश्यकता नहीं है। अगर वह यहां आएगी तो हम उसे आने नहीं देंगे। उनका कहना है कि अभी वह (अंजू के पिता)घर के अंदर हैं। जब वह निकलेंगे तो उनसे पूरा गांव बात करेगा कि उसे अंजू को आप पूरी तरह नकार दीजिए। इसके साथ ही गांव के सरपंच रवि गुर्जर का कहना है कि संबंधित थाने में भी इसकी शिकायत करेंगे और एक आवेदन भी देंगे कि इस परिवार की जांच की जाए।

वही गांव में रहने वाले वीर सिंह का कहना है, 'अंजू के पिता को घर के अंदर से निकलकर बाहर मीडिया के सामने आना चाहिए वह अंदर क्यों छुपे हैं। इससे तो यह अंदाजा लगा सकते हैं कि वह छिप कर अंजू से बात कर रहे होंगे। उनका कहना है कि हम तो यह मानते हैं की अंजू के पिताजी संदेह के घेरे में है। इसकी भी जांच की जानी चाहिए।'

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें