DA Image
1 नवंबर, 2020|6:05|IST

अगली स्टोरी

पहले फ्रेंड रिक्वेस्ट, फिर फोन पर बात करना किया शुरू... जानें ISI की महिला एजेंट ने आर्मी ड्राइवर को कैसे हनी ट्रैप में फंसाया

honey trap in indore

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी (आईएसआई) की एक खूबसूरत महिला एजेंट द्वारा एक आर्मी ड्राइवर को जाल में फंसाकर सैन्य जानकारियां लेने का मामला सामने आया है। राजस्थान की सीआईडी की विशेष शाखा ने हनी ट्रैप का शिकार हुए ड्राइवर को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरू कर दी है। 

अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस (इंटेलीजेंस) उमेश मिश्रा के अनुसार, पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी की ओर से छदम नाम से सोशल मीडिया अकाउंट संचालित किया जा रहा है, जिसके संपर्क में भारतीय सेना से संबंधित सामरिक महत्व की सूचना भेजने में लिप्त नागौर जिले के परबतसर के बाजवास निवासी रामनिवास गौरा पुत्र पांचूराम गौरा जयपुर में कार्यरत था। एजेंसियों की ओर से पूछताछ करने पर जासूसी गतिविधियों में लिप्त पाए जाने पर सीआईडी जयपुर के स्पेशल पुलिस स्टेशन में मुकदमा दर्ज करते हुए ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

ड्राइवर के घर से प्राप्त जानकारी के अनुसार, वह प्रत्येक शनिवार को अपने घर आता था। बताया गया है कि एक पाकिस्तानी युवती ने उसके सोशल एकाउंट पर कुछ दिन पहले ही फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी। युवती की फ्रेंड रिक्वेस्ट आते ही उसने उसको जोड़ लिया। इसके बाद वह उससे बात करने लगा था। सूरज ने बताया रामनिवास दो साल पहले ही जयपुर सिविल सेना में लगा था। 

उक्त मामले की जानकारी उसकी पत्नी व मां को नहीं हैं। इस मामले पर लेकर जिला पुलिस भी अलर्ट है। पुलिस परिवार से संबंधित जानकारियों के अलावा अन्य कई जानकारियों को जुटा रही है। पुलिस अधीक्षक श्वेता धनखड़ ने बताया कि यह कार्रवाई इंटेलीजेंस की है, फिर भी पुलिस की नजर तो है ही। यहां लोकल स्तर से इंटेलीजेंस की ओर से जो भी जानकारी मांगी जाएगी, वह दी जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:First friend request then started talking on the phone know how ISI female agent implicated army driver in honey trap