फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशऊपर चल रही थी परीक्षा नीचे लग गई आग, घुटने लगा छात्रों का दम; AC ब्लास्ट से जीवाजी यूनिवर्सिटी में बड़ा कांड

ऊपर चल रही थी परीक्षा नीचे लग गई आग, घुटने लगा छात्रों का दम; AC ब्लास्ट से जीवाजी यूनिवर्सिटी में बड़ा कांड

यूनिवर्सिटी के दूसरे फ्लोर पर MSC फोर्थ सेमिस्टर की वायवा परीक्षा चल रही थी। आग के धुंए से जब छात्र-छात्राओं को घुटन महसूस होने लगी तब पता चला कि नीचे फर्स्ट फ्लोर लैब में भीषण आग लगी है।

ऊपर चल रही थी परीक्षा नीचे लग गई आग, घुटने लगा छात्रों का दम; AC ब्लास्ट से जीवाजी यूनिवर्सिटी में बड़ा कांड
gwalior fire
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,ग्वालियरTue, 25 Jun 2024 02:22 PM
ऐप पर पढ़ें

ग्वालियर के जीवाजी विश्वविद्यालय न्यूरोसाइंस कैंपस में भीषण आग लग गई, न्यूरोसाइंस डिपार्टमेंट के फर्स्ट फ्लोर स्थित लैब में आग लगने से हड़कंप मच गया। आनन फानन में खिड़कियों के कांच तोड़ कर छात्र छात्राओं को बाहर निकाला गया। दमकल की आधा दर्जन से अधिक गाड़ियों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। आगजनी के पीछे डीप फ्रीजर और AC में ब्लास्ट होना माना जा रहा है। वही आगजनी में लाखों के नुकसान का आंकलन भी किया जा रहा है। 

आग की घनी लपटों और आसमान छूते धुंए को कई किलोमीटर दूर से देखा गया। आग बिल्डिंग के फर्स्ट फ्लोर न्यूरोसाइंस लैब में लगी थी। उस दौरान सेंकड फ्लोर पर MSC फोर्थ सेमिस्टर की वायवा परीक्षा चल रही थी। आग के धुंए से जब छात्र-छात्राओं को घुटन महसूस होने लगी तब पता चला कि नीचे फर्स्ट फ्लोर लैब में भीषण आग लगी है। आनन फानन में कर्मचारियों ने पहले बिल्डिंग के कांचो को हाथों से फोड़ा फिर छात्र-छात्राओं को कैंपस से बाहर निकाला गया। मौके पर फायर अमले की टीम भी पहुंची जहां आधा दर्जन से अधिक फायर फाइटिंग गाड़ियों से पानी की बौछार कर उस पर काबू पाया गया। 

यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार अरुण चौहान का कहना है कि फिलहाल आग के पीछे की वास्तविक वजह का पता नहीं चल सका है। लेकिन लैब होने के चलते आग में विकराल रूप लिया। वही कांच तोड़कर छात्राओं की जान बचाने वाले यूनिवर्सिटी के कर्मचारी निरंजन का कहना है कि सबसे पहली प्राथमिकता छात्र-छात्राओं को बचाने की थी। इसलिए हाथों से खिड़कियों के कांच तोड़े ताकि किसी भी प्रकार छात्रों को परेशानी ना हो। वही फायर ब्रिगेड के नोडल अधिकारी डॉक्टर अतिबल सिंह यादव ने आग लगने के पीछे लैब के AC और डीप फ्रीजर में ब्लास्ट होना माना गया है।

रिपोर्ट : अमित गौर