फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशगुटबाजी और वर्करों का गिरा मनोबल, कई चुनौतियों को पार कर मध्य प्रदेश में BJP ने कैसे खिलाया कमल

गुटबाजी और वर्करों का गिरा मनोबल, कई चुनौतियों को पार कर मध्य प्रदेश में BJP ने कैसे खिलाया कमल

Madhya Pradesh Election 2023 : पार्टी सूत्रों ने कहा कि चुनाव से पहले भाजपा को जिन चुनौतियों का सामना करना पड़ा उनमें से एक चुनौती आंतरिक गुटबाजी और हतोत्साहित कार्यकर्ताओं की थी।

गुटबाजी और वर्करों का गिरा मनोबल, कई चुनौतियों को पार कर मध्य प्रदेश में BJP ने कैसे खिलाया कमल
Nishant Nandanभाषा,भोपालSun, 03 Dec 2023 08:02 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रभावी बूथ-स्तरीय रणनीति, मजबूत संगठनात्मक रणनीति और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की लोकप्रियता जैसे प्रमुख कारकों की वजह से मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा के पक्ष में माहौल बन गया। पार्टी नेताओं ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान जनता, विशेषकर महिलाओं और युवाओं के बीच 'मामा' के रूप में बेहद लोकप्रिय हैं, जबकि ''एमपी के मन में मोदी'' अभियान ने भी राज्य में भाजपा के लिए समर्थन मजबूत करने में मदद की। 

पार्टी सूत्रों ने कहा कि चुनाव से पहले भाजपा को जिन चुनौतियों का सामना करना पड़ा उनमें से एक चुनौती आंतरिक गुटबाजी और हतोत्साहित कार्यकर्ताओं की थी। सूत्रों ने कहा कि पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को संगठनात्मक स्तर पर एकजुट होकर प्रयास करने और भाजपा को सत्ता में फिर से लाने के उद्देश्य के लिए काम करने को कहा गया था। एक सूत्र ने कहा, ''केंद्रीय नेतृत्व द्वारा राज्य के लिए तैनात किये गये नेताओं ने पार्टी के भीतर विभिन्न समूहों को एक साथ लाने और अपने जबरदस्त संगठनात्मक कौशल से कार्यकर्ताओं को प्रेरित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।''

सूत्रों ने कहा कि पार्टी आलाकमान द्वारा भेजे गए नेताओं ने 14 वरिष्ठ नेताओं को 14 जिलों में नियुक्त करने की रणनीति बनाई, जहां उन्होंने स्थानीय पदाधिकारियों के साथ-साथ नगर निगमों और पंचायतों के निर्वाचित प्रतिनिधियों के साथ बातचीत की। उन्होंने 50 से अधिक बैठकें आयोजित कीं, जिनमें चौहान ने पार्टी कार्यकर्ताओं की शिकायतें और सुझाव सुने। सूत्रों ने कहा कि भाजपा नेताओं के सरल और स्पष्ट व्यवहार के साथ-साथ निर्वाचन क्षेत्रों के दौरे और राज्य में वरिष्ठ नेताओं के प्रवास ने बूथ स्तर तक कार्यकर्ताओं के बीच आपसी विश्वास और समन्वय को मजबूत करने में ''बड़ी भूमिका'' निभाई।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा प्रमुख जे. पी. नड्डा और अन्य नेताओं की प्रभावी चुनावी रणनीति और अभियानों ने पार्टी के पक्ष में लहर पैदा की। सूत्रों ने बताया कि पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव और 2024 के लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए मोदी द्वारा भोपाल में शुरू किए गए ''मेरा बूथ सबसे मजबूत'' अभियान से पार्टी को बूथ स्तर पर अपने संगठन को मजबूत करने में मदद मिली।

पार्टी सूत्रों ने कहा कि मध्य प्रदेश चुनावों में पार्टी की शानदार सफलता में योगदान देने वाला एक अन्य कारक शिवराज सिंह चौहान का ''करिश्मा'' था। सूत्रों ने बताया कि चुनाव से पहले मुख्यमंत्री द्वारा ''लाडली बहना'' योजना की घोषणा से भाजपा को महिला वोटों पर पकड़ मजबूत करने में मदद मिली और पार्टी ने कांग्रेस का प्रभावी ढंग से मुकाबला करने के लिए मध्यप्रदेश में ''डबल-इंजन'' सरकार की उपलब्धियों को लोगों तक पहुंचाया।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें