फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशदिग्विजय का आरोप- छिंदवाड़ा में भाजपा अनुचित हथकंडे अपना रही, जानिए क्यों कहा- उनके पास अकूत सम्पत्ति

दिग्विजय का आरोप- छिंदवाड़ा में भाजपा अनुचित हथकंडे अपना रही, जानिए क्यों कहा- उनके पास अकूत सम्पत्ति

दिग्विजय ने 2019 का लोकसभा चुनाव भोपाल से लड़ा था जहां भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने उन्हें लगभग 3.65 लाख वोटों के अंतर से हराया था। राजगढ़ लोकसभा क्षेत्र में सात मई को मतदान होगा।

दिग्विजय का आरोप- छिंदवाड़ा में भाजपा अनुचित हथकंडे अपना रही, जानिए क्यों कहा- उनके पास अकूत सम्पत्ति
Sourabh Jainभाषा,राजगढ़Wed, 17 Apr 2024 12:26 AM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर आरोप लगाया कि वह मध्य प्रदेश में उनकी पार्टी के गढ़ छिंदवाड़ा में सेंध लगाने के लिए अनुचित हथकंडे अपना रही है। सिंह ने मंगलवार को कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में राजगढ़ लोकसभा सीट से अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। राजगढ़ कलेक्टरेट में नामांकन दाखिल करने से पहले उन्होंने राजगढ़ के जालपा माता मंदिर में पूजा-अर्चना की।

राजगढ़ में ‘PTI-भाषा’ से बातचीत में सिंह ने कहा कि कांग्रेस 1977 से छिंदवाड़ा लोकसभा सीट जीत रही है। उन्होंने दावा किया कि, 'पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व में छिंदवाड़ा कांग्रेस का गढ़ है। इसलिए भाजपा और (केंद्रीय गृह मंत्री) अमित शाह जी इसे तोड़ने के लिए अनुचित रणनीति का सहारा ले रहे हैं और हम इसकी कड़ी निंदा करते हैं।' 

विधायक के परिसर की तलाशी ली

एक अधिकारी ने सोमवार को बताया कि शराब और नकदी की जमाखोरी की शिकायत के बाद रविवार को पुलिस और आबकारी विभाग के कर्मियों की एक टीम ने छिंदवाड़ा जिले के पांढुर्णा से कांग्रेस के आदिवासी विधायक नीलेश उइके के परिसर की तलाशी ली, लेकिन ऐसी कोई बरामदगी नहीं हुई।

छिंदवाड़ा से दूसरी बार मैदान में नकुलनाथ

कांग्रेस ने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ भाजपा सत्ता का दुरुपयोग करके आदिवासी विधायक का उत्पीड़न कर रही है। छिंदवाड़ा में भाजपा के पूरी ताकत से प्रचार करने के बारे में पूछे जाने पर दिग्विजय सिंह ने कहा, 'कमलनाथ जी का आधार मजबूत है।' बता दें कि कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ इस बार छिंदवाड़ा लोकसभा सीट से दूसरी बार चुनाव लड़ रहे हैं।

दिग्गी बोले- उनके पास अकूत सम्पत्ति

यह पूछे जाने पर कि भाजपा उम्मीदवार (राजगढ़ में) एक बड़े जुलूस के साथ नामांकन दाखिल करने जा रहे थे, जबकि वह चार लोगों के साथ पर्चा दाखिल करने गए थे, सिंह ने कहा, 'उनके पास अकूत संपत्ति है। दूसरी ओर मेरे कार्यकर्ता बैठकें कर रहे हैं। आज मतदान केंद्र अधिक महत्वपूर्ण हैं, या उन्हें यहां बुलाना जरूरी था?'

नागर को भाजपा ने दोबारा बनाया उम्मीदवार

भाजपा ने इस बार राजगढ़ से अपने मौजूदा सांसद रोडमल नागर को फिर से उम्मीदवार बनाया है। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने 1984 और 1991 में राजगढ़ लोकसभा का प्रतिनिधित्व किया था। उनका गृहनगर राघौगढ़ इसी संसदीय सीट के अंतर्गत आता है।

दिग्विजय सिंह ने 2019 का लोकसभा चुनाव भोपाल से लड़ा था जहां भाजपा की प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने उन्हें लगभग 3.65 लाख वोटों के अंतर से हराया था। राजगढ़ लोकसभा क्षेत्र में सात मई को मतदान होगा।