फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशनदी में तैरती कार से निकले दो-दो कंकाल, देवर-भाभी के इश्क का खौफनाक अंजाम

नदी में तैरती कार से निकले दो-दो कंकाल, देवर-भाभी के इश्क का खौफनाक अंजाम

कार में मिले नर कंकाल की स्थिति देखकर पुलिस प्रेम प्रसंग के चलते दोनों की हत्या की आशंका जता रही है। थाना प्रभारी धर्मेंद्र गौर ने बताया है कि दोनों शव सड़े हुए हालत में हैं।

नदी में तैरती कार से निकले दो-दो कंकाल, देवर-भाभी के इश्क का खौफनाक अंजाम
Devesh Mishraलाइव हिन्दुस्तान,मुरैनाWed, 19 Jun 2024 03:36 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के मुरैना में एक नदी में तैरती हुई कार दिखी। लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। कार को नदी से बाहर निकाला गया। उसमें से दो-दो कंकाल निकले। जांच में जो सामने आया उसे जानकर हर कोई हैरान हो गया। दरअसल, कार में मिले कंकाल देवर और भाभी के थे। दोनों में प्रेम प्रसंग चल रहा था। इस घटना से पांच महीने पहले दोनों घर छोड़कर कहीं गायब हो गए थे। दोनों के इश्क का अंजाम खौफनाक रहा। 

नदी में तैरती दिखी कार
जानकारी के मुताबिक, कार में मौजूद कंकाल की पहचान छत्तेपुरा निवासी नीरज जाटव और उसकी भाभी मिथिलेश के रूप में हुई है। गोपी गांव के पास कुंवारी नदी से मिली दोनों की बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पुलिस ने बताया कि मिथिलेश नीरज की चचेरी भाभी थी।

प्यार में दोनों घर से भागे
बताया जा रहा है कि नीरज और मिथलेश एक दूसरे से प्रेम करते थे। पांच महीने पहले दोनों घर से भाग गए थे। मृतक महिला मिथिलेश के लापता होने की रिपोर्ट उसके घर वालों ने फरवरी में दर्ज कराई थी। वहीं मृतक नीरज गायब होने के कुछ दिनों पहले ही सेकंड हैंड कार खरीद कर लाया था और उसे भाड़े पर चलाया करता था। फरवरी से ही नीरज और उसकी गाड़ी का कोई अता-पता नहीं था।

हत्या या सुसाइड?
कार में मिले नर कंकाल की स्थिति देखकर पुलिस प्रेम प्रसंग के चलते दोनों की हत्या की आशंका जता रही है। थाना प्रभारी धर्मेंद्र गौर ने बताया है कि दोनों शव सड़े हुए हालत में हैं। कार पांच महीने से नदी में थी। जब नदी में पानी कम हुआ तब यह कार दिखाई दी है। पानी ज्यादा होने से कार डूबी हुई थी। पुलिस ने बताया कि नीरज और मिथिलेश चचेरे देवर-भाभी थे। दोनों के घर वालों से पूछताछ के बाद पता चला कि उनमें प्रेम प्रसंग था। छह फरवरी को दोनों घर छोड़कर भाग गए थे।

मृतका मिथिलेश के पति मुकेश सखबार ने बताया कि छह फरवरी को मिथिलेश बाजार जाने की बात कह कर घर से गई थी। वहीं से नीरज उसे कार में बैठाकर कहीं ले गया। नीरज उसके चाचा का बेटा है। लापता होने के छह-सात दिन तक चाचा व अन्य लोग कहते रहे कि वे एक-दो दिन में आ जाएंगे। इसलिए 14 फरवरी को गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। इन दोनों के आपस में संबंध थे। पुलिस ने दोनों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बता दें कि कार नदी में कैसे गिरी, यह हत्या है या सुसाइड, इन सभी पहलुओं पर जांच की जा रही है।

रिपोर्ट- अमित कुमार