Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मध्य प्रदेशउज्जैन के महाकाल में सोमवार से गर्भगृह में दर्शन की व्यवस्था, कोविड में नहीं थी इजाजत

उज्जैन के महाकाल में सोमवार से गर्भगृह में दर्शन की व्यवस्था, कोविड में नहीं थी इजाजत

भोपाल, लाइव हिंदुस्तानRavindra Kailasiya
Sun, 05 Dec 2021 05:37 PM
उज्जैन के महाकाल में सोमवार से गर्भगृह में दर्शन की व्यवस्था, कोविड में नहीं थी इजाजत

इस खबर को सुनें

कोविड प्रतिबंधों के चलते उज्जैन के महाकाल के गर्भगृह में दर्शन को रोक दिए जाने के बाद अब एकबार फिर से उसी व्यवस्था को शुरू किया जा रहा है। मगर गर्भगृह में वे ही लोग जा सकेंगे जिन्होंने 1500 रुपए की पर्ची कटवाई होगी। एक पर्ची पर दो लोगों को गर्भगृह में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। 

कोरोना महामारी के चलते मार्च 2020 में महाकाल मंदिर में श्रद्धालुओं की व्यवस्थाओं में कई तरह के परिवर्तन किए थे। गर्भगृह में प्रवेश को भी रोक दिया गया था। राज्य शासन ने कोरोना प्रतिबंधों को हटा दिया है जिसके चलते अब महाकाल मंदिर में भी श्रद्धालुजनों को महाकाल के दर्शन की व्यवस्था को बदला जा रहा है। उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह ने इस संबंध में मीडिया के सामने नई व्यवस्था की जानकारी दी है।

1500 रुपए की पर्ची कटवाकर दर्शन
कलेक्टर आशीष सिंह ने बताया कि 6 दिसम्बर से श्रद्धालुओं को गर्भगृह में कोविड महामारी के प्रतिबंधों के पूर्व की प्रवेश व्यवस्था के अनुरूप प्रवेश देने का निर्णय लिया गया है। नियमानुसार 1500 रुपए की रसीद कटाना होगी। एक रसीद पर दो लोग साथ जा सकेंगे। साथ ही श्रद्धालु अपने हाथों से भगवान महाकाल को जल और दूध चढ़ा सकेंगे। करीब पांच साल पहले इस व्यवस्था को शुरू किया गया था। कोरोना के चलते इस पर रोक लगा दी गई थी। गौरतलब है कि हाल ही में भस्म आरती में शामिल होने की व्यवस्था पुन: शुरूु की चुकी है।11 सितंबर से श्रद्धालुओं को भस्म आरती में प्रवेश दिया जा रहा है।

epaper

संबंधित खबरें