फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशहिंदुओं के धर्मांतरण का प्रयास, हिंदूवादी संगठनों के हंगामे पर 150 वकील लेकर पहुंचे ईसाई समाज के लोग; खूब हंगामा

हिंदुओं के धर्मांतरण का प्रयास, हिंदूवादी संगठनों के हंगामे पर 150 वकील लेकर पहुंचे ईसाई समाज के लोग; खूब हंगामा

हिंदू समाज ने इस मामले में पुलिस की भूमिका पर संदेह व्यक्त करते हुए पुलिस प्रशासन के प्रति नाराजगी जताई है। इसके बाद पुलिस ने रात 8 बजे फरियादी की शिकायत पर सात लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की। 

हिंदुओं के धर्मांतरण का प्रयास, हिंदूवादी संगठनों के हंगामे पर 150 वकील लेकर पहुंचे ईसाई समाज के लोग; खूब हंगामा
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,रायसेनMon, 19 Feb 2024 08:39 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के रायसेन जिले में धर्मांतरण का मामला सामने आया है। आरोप लग रहा है कि यहां लोगों को लालच देकर धर्मांतरण कराया जा रहा था। हिन्दूवादी संगठन के कार्यकर्ताओ को सूचना मिली तो मामले की शिकायत करने थाने पहुंचे लेकिन पुलिस की लेटलतीफी से नाराज होकर थाने का घेराव कर दिया। हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओ ने आरोप भी लगाया कि पुलिस मामले को शिकायती आवेदन लेकर रफा-दफा करना चाहती थी। हिन्दू संगठनों के आक्रोश के बाद पुलिस ने फरियादी की शिकायत पर सात लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की है, जिसमें सभी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया। 

धर्मांतरण का यह मामला रायसेन जिले की उद्योग नगरी मंडीदीप के उपनगर सतलापुर का है। जिसमे लालच देकर धर्मांतरण की बात सामने आई हैं। मामला रविवार रात का है। लोगों से जानकारी मिलने पर स्थानीय हिंदू संगठन बड़ी संख्या में थाना परिसर में एकत्र होने लगे। उन्होंने मामले की शिकायत औद्योगिक सतलापुर थाने में दर्ज करानी चाही लेकिन रिपोर्ट लिखने में देरी होने पर हिन्दू संगठनों के सदस्यों ने बड़ी संख्या में एकत्रित होकर थाने का घेराव किया।

जब इसकी जानकारी ईसाई मिशनरी के लोगों को मिली तो भोपाल से वकीलों को लेकर करीब 100-150 की संख्या में थाने पहुंच गए। जिससे मामला काफी गरमा गया। हिंदू समाज के बढ़ते दबाव के बाद पुलिस ने फरियादी नरेंद्र सिंह ठाकुर की शिकायत पर चंदूलाल सोनवानी, संतरा सोनवानी, प्रदीप बंसल, विजय चौधरी उसकी पत्नी उमा चौधरी, कैलाश बंसल और 1 अन्य के विरुद्ध प्रकरण पंजीबद्ध किया। तब कहीं जाकर मामला शांत हुआ। हिंदू समाज ने इस पूरे मामले में पुलिस की भूमिका पर संदेह व्यक्त करते हुए पुलिस प्रशासन के प्रति नाराजगी जताई है। इसके बाद पुलिस ने रात 8 बजे फरियादी की शिकायत पर सात लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की। 

सामाजिक कार्यकर्ता सुरेश यादव ने बताया कि नगर के वार्ड 17 स्थित शासकीय हाई स्कूल के पास रहने वाले प्रेम सिंह नाहर के घर रविवार को ईसाई प्रार्थना का कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा था। जिसमें पड़ोस में ही रहने वाले नरेंद्र सिंह ठाकुर और समीर को लालच देकर धर्म परिवर्तन कराया जाना था। जब इसकी जानकारी हिंदू समाज के लोगों को मिली तो बड़ी संख्या में लोग इकट्ठे हुए और पुलिस से मामले की शिकायत की। इसके बाद धर्मांतरण रोक दिया गया। एसडीओपी विकास पाण्डे ने बताया की सतलापुर थाना क्षेत्र में 2 लोगों ने धर्मान्तरण की शिकायत की थी जिस पर धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम की धारा 3/5 के अंतर्गत 7 लोगों पर प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। 7 आरोपियों की इस मामले में गिरफ्तारी की गई है। 

रिपोर्ट : विजेन्द्र यादव