DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   मध्य प्रदेश  ›  विवादित टिप्पणी मामला: शिवराज सिंह चौहान ने सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी, कमलनाथ को सभी पदों से हटाने की मांग

मध्य प्रदेशविवादित टिप्पणी मामला: शिवराज सिंह चौहान ने सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी, कमलनाथ को सभी पदों से हटाने की मांग

एजेंसी,भोपालPublished By: Ashutosh Ray
Mon, 19 Oct 2020 05:51 PM
विवादित टिप्पणी मामला: शिवराज सिंह चौहान ने सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी, कमलनाथ को सभी पदों से हटाने की मांग

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा राज्य की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी को कथित तौर पर आइटम कहे जाने की सोमवार को निन्दा करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मांग की कि उन्हें कमलनाथ को अपनी पार्टी के सभी पदों से हटा देना चाहिए। चौहान ने सोमवार को सोनिया को लिखे पत्र में कहा, अत्यंत व्यथित मन से आपको यह पत्र लिख रहा हूं। 

मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा उपचुनाव में प्रचार के दौरान आपकी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश की कैबिनेट मंत्री एवं अनुसूचित जाति की महिला नेता इमरती देवी पर अभद्र व अशोभनीय टिप्पणी ठहाके लगाते हुए की। वह टिप्पणी इतनी अभद्र है कि मैं उसका उल्लेख अपने पत्र में करना किसी महिला का पुन: अपमान करने जैसा मानता हूं। देश के सभी राष्ट्रीय न्यूज चैनलों ने प्रमुखता से इस खबर को दिखाया है।

उन्होंने कहा, मुझे लगा था कि स्वयं एक महिला होने के नाते आप इस खबर का संज्ञान लेंगी तथा संवैधानिक पद पर आसीन एक दलित महिला के अपमान का विरोध करते हुए अपनी पार्टी के नेता की टिप्पणी की निंदा करेंगी और उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगी। लेकिन आपने अब तक ऐसा नहीं किया।

यह भी पढ़ें- कमलनाथ की टिप्पणी पर महिला आयोग ने जवाब मांगा, कार्रवाई के लिए निर्वाचन आयोग को पत्र लिखा

चौहान ने आगे लिखा, कमलनाथ की धृष्टता देखिये कि अपनी अशोभनीय व निंदनीय टिप्पणी को सही ठहरा रहे हैं, जबकि उनकी टिप्पणी को देश की सारी मीडिया ने समवेत रूप से अभद्र टिप्पणी माना है। उन्होंने कहा कि इमरती देवी ने मीडिया के समक्ष रोते हुए अपनी व्यथा का इजहार किया है जिसे देखकर किसी का भी दिल पसीज जाएगा। चुनाव आते-जाते रहते हैं लेकिन किसी दलित महिला का इस तरह अपमान आपकी पूरी राजनीति को कलंकित करता है।

चौहान ने सोनिया को लिखे पत्र में कहा, आपसे आग्रह है कि दलित महिला मंत्री के प्रति अभद्र व अशोभनीय टिप्पणी करने तथा उसे जायज ठहराने का बेशर्मी भरा कृत्य करने वाले कमलनाथ को पार्टी के सभी पदों से हटाकर उनकी कड़ी निंदा करें, ताकि महिलाओं का अपमान करने वाले आपकी पार्टी के नेताओं को सबक मिले।

उन्होंने कहा, यहां मैं यह और कहना चाहूंगा कि इस प्रकरण में यदि आपने मौन धारण किया तो यह मानने के लिए बाध्य होना पड़ेगा कि कमलनाथ द्वारा दलित मंत्री इमरती देवी के प्रति की गई टिप्पणी पर आपकी पूर्ण सहमति है। उल्लेखनीय है कि इमरती देवी के खिलाफ राज्य की डबरा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश राजे के लिए चुनाव प्रचार करते हुए कमलनाथ ने रविवार को कहा था, डबरा से सुरेश राजे जी हमारे उम्मीदवार हैं। सरल स्वभाव के, सीधे-सादे हैं। ये तो उसके जैसे नहीं हैं। क्या है उसका नाम?

इस बीच, वहां मौजूद जनता जोर-जोर से 'इमरती देवी, इमरती देवी कहने लगी। इसके बाद कमलनाथ ने हंसते हुए कहा, मैं क्या उसका (डबरा की भाजपा प्रत्याशी का) नाम लूं। आप तो उसको मेरे से ज्यादा पहचानते हैं। आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था। ये क्या आइटम है? 

यह भी पढ़ें- आइटम नंबर 1, 2, 3.... इमरती देवी पर टिप्पणी को लेकर घिरे कमलनाथ ने इस तरह दी सफाई 

पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के निष्ठावान समर्थकों में गिनी जाने वाली इमरती देवी कांग्रेस के उन 22 बागी विधायकों में से एक हैं जिनके विधानसभा से त्यागपत्र देकर भाजपा में शामिल होने के कारण तत्कालीन कमलनाथ सरकार 20 मार्च को गिर गयी थी। इसके बाद शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा 23 मार्च को राज्य की सत्ता में पुन: लौट आई थी। डबरा समेत राज्य की 28 विधानसभा सीटों पर तीन नवंबर को उपचुनाव होना है। 

संबंधित खबरें