फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मध्य प्रदेशभाजपा की पिच पर कमलनाथ की बैटिंग, हिंदूवादी नेता के रूप में स्थापित करना चाहती है कांग्रेस

भाजपा की पिच पर कमलनाथ की बैटिंग, हिंदूवादी नेता के रूप में स्थापित करना चाहती है कांग्रेस

राजनीतिक गुरुओं की माने तो भाजपा के धार्मिक अभियान की काट में पूरी कांग्रेस जुट गई है। प्रधानमंत्री मोदी के श्री महाकाल लोक के लोकार्पण से पहले कांग्रेस का हिंदुत्व कार्ड सामने आ रहा है।

भाजपा की पिच पर कमलनाथ की बैटिंग, हिंदूवादी नेता के रूप में स्थापित करना चाहती है कांग्रेस
Suyash Bhattलाइव हिंदुस्तान,भोपालTue, 04 Oct 2022 07:07 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

आगामी 2023 के विधानसभा चुनाव से पहले मध्य प्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की हिंदुत्व छवि को भुनाने में का प्रयास शुरू हो गया हैं। कमलनाथ को प्योर हिंदूवादी नेता बताने में जुटी कांग्रेस पार्टी 2023 चुनाव में हिन्दूवादी छवि के सहारे चुनावी नैया को पार लगाने की कोश‍िश में हैं। और इसी को ध्‍यान में रखकर कांंग्रेस कमलनाथ को हिंदूवादी नेता बताने में अभी से जुट गई है। 

दरअसल देशभर में हिंदुओं के संगठित होने के चलते अब कांग्रेस भी अपनी नीति में बदलाव कर रही है। कमलनाथ की हिंदुत्व छवि को भुनाने में कांग्रेस लगी है। महाकाल कॉरिडोर के लोकार्पण और चुनाव से पहले कांग्रेस का यह बड़ा राजनीति दांव है। सोशल मीडिया पर कमलनाथ के धार्मिक कार्य को कांग्रेस ने गिनाया है। और साथ ही कांग्रेस ने कमलनाथ को हनुमान का सबसे बड़ा भक्त बताया है। महाकाल लोक के लोकार्पण से पहले सोशल मीडिया पर कांग्रेस पार्टी और नेता कार्यकर्ता कमलनाथ के हनुमान, महाकाल, भक्ति के पोस्ट लगातार शेयर कर रहे हैं। 

कांग्रेस ने ट्वीट कर लिखा कि हनुमान के दिल में श्रीसीता राम हैं, तो कमलनाथ के दिल में हनुमान। कमलनाथ के हनुमान चालीसा पाठ से लेकर प्रतिमा स्थापना का पोस्ट किया है। कांग्रेस के सोशल मीडिया अकाउंट्स पर लगातार हिंदुत्ववादी पोस्ट बढ़ रहे हैं। और लंबे समय से दोनों ही पार्टियां महाकाल प्रोजेक्ट की देन का दावा करती आ रही है। 

राजनीतिक गुरुओं की माने तो भाजपा के धार्मिक अभियान की काट में पूरी कांग्रेस जुट गई है। प्रधानमंत्री मोदी के महाकाल लोक के लोकार्पण से पहले कांग्रेस का प्योर हिंदुत्व कार्ड सामने आ रहा है। कांग्रेस कमलनाथ को हिन्दू वादी नेता बताने में जुट गई है। 2018 में अल्पसंख्यकों के वोट का वीडियो कमलनाथ का खूब सुर्खियों में रहा। लेकिन अब एमपी कांग्रेस पूरी तरह से बदल सी गई। अल्पसंख्यकों को अधर में छोड़कर पूरी कांग्रेस, पूरी तरह से कमलनाथ को हिंदूवादी नेता बताने में जुटी हुई है।

बता दें क‍ि कमलनाथ के ट्व‍िटर अकाउंट पर नवरात्र के द‍िनों में रोजाना 9 देव‍ियों से र‍िलेटेड पोस्‍ट की जा रही है। वहीं, एमपी कांग्रेस के ट्वव‍िटर अकाउंट पर एक पोस्‍ट की गई है। इस पोस्‍ट में द‍िखाया गया है क‍ि कांग्रेस ये बताने की कोश‍िश कर रही है क‍ि कमलनाथ पहले मुख्‍यमंत्री हैं ज‍िन्‍होंने महाकाल के नगर को संवारने की कल्‍पना की है। 

एमपी कांग्रेस के सोशल मीडिया पोस्ट पर भाजपा ने हमला बोला है। प्रदेश मंत्री राहुल कोठारी ने कहा कि आज तक कमलनाथ की असल जाति तो पता लग नहीं पाई है। अगर हनुमान को दिल में बसाते हैं, तो कांग्रेस रामराज्य को भी स्थापित करती है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के 15 महीने की सरकार में बस भ्रष्टाचार और हाहाकार हुआ है। कांग्रेस ने अपनी सरकार में लंका परिचायक दिया है। कमलनाथ ने अभी तक राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में आहूति नहीं दी है। शायद राहुल गांधी ईसाई मिशनरी इलाकों में जा रहे। राहुल कोठारी ने कहा कि अगर कमलनाथ की जाति पता लगेगी तो वो दुनिया का 8वां अजूबा होगा।