फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशजबलपुर के कांग्रेस मेयर समेत कई पदाधिकारी BJP में शामिल, लोकसभा चुनावों पर कितना असर?

जबलपुर के कांग्रेस मेयर समेत कई पदाधिकारी BJP में शामिल, लोकसभा चुनावों पर कितना असर?

मध्य प्रदेश के जबलपुर में कांग्रेस के नगर अध्यक्ष और मेयर जगत बहादुर (अन्नू) ने अपने साथियों के साथ भाजपा का दामन थाम लिया है। इस घटनाक्रम का लोकसभा चुनावों पर कितना होगा असर जानने के लिए पढ़ें...

जबलपुर के कांग्रेस मेयर समेत कई पदाधिकारी BJP में शामिल, लोकसभा चुनावों पर कितना असर?
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,जबलपुरWed, 07 Feb 2024 05:49 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव के पहले कांग्रेस को जबलपुर से बड़ा झटका लगा है। जबलपुर से कांग्रेस के नगर अध्यक्ष और मेयर जगत बहादुर (अन्नू) ने अपने साथियों के साथ भाजपा का दामन थाम लिया है। जबलपुर में 18 साल बाद कांग्रेस महापौर चुनाव जीती थी। जगत बहादुर अन्नू कांग्रेस में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के खास माने जाते हैं। नगर निकाय चुनाव के दौरान कमलनाथ और तरुण भनोट ने उनके लिए सबसे ज्यादा प्रचार किया था। जबलपुर में नगर निगम में भाजपा बहुमत में हैं, लेकिन अब मेयर को भी अपने पाले में करके भाजपा ने कांग्रेस को तगड़ा झटका दिया है। इस रिपोर्ट में जाने कि लोकसभा चुनाव पर इस घटनाक्रम का क्या असर पड़ेगा?

भाजपा प्रदेश कार्यालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक, भाजपा प्रदेश कार्यालय भोपाल में वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में कांग्रेस के जबलपुर महापौर जगत बहादुर सिंह अन्नू, डिण्डौरी जिला पंचायत अध्यक्ष रूदेश परस्ते, उपाध्यक्ष अंजू जितेन्द्र ब्यौहार, सिंगरौली जिला पंचायत उपाध्यक्ष अर्चना सिंह, डिण्डौरी के पूर्व जिला अध्यक्ष बीरेन्द्र बिहारी शुक्ला, जिला पंचायत सदस्य, पार्षद, जनपद पंचायत उपाध्यक्ष, जनपद सदस्य, पूर्व जनपद सदस्य, यूथ कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष, ब्लॉक प्रभारी समेत अन्य कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की।

मेयर जगत बहादुर सिंह अन्नू के भाजपा में शामिल होने के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि उन्हें जबलपुर लोकसभा सीट से टिकट मिल सकता है। यदि ऐसा नहीं हुआ तो भी उनके जनाधार और प्रचार से लोकसभा चुनावों में भाजपा को काफी मदद मिलने की उम्मीद है। मेयर जगत बहादुर को खुद मुख्यमंत्री मोहन यादव ने भाजपा कार्यालय में सदस्यता दिलाई। इस दौरान प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा, पूर्व गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, पीडब्ल्यूडी मंत्री राकेश सिंह, प्रहलाद पटेल भी मौजूद रहे। महापौर जगत बहादुर सिंह अन्नू बुधवार सुबह ही भोपाल के लिए रवाना हो गए थे। इससे कयास लगाए जा रहे थे कि वह बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। 

यह भी कहा जा रहा है कि जगत बहादुर सिंह अन्नू के साथ 4 से 5 पार्षद भी कांग्रेस का दामन छोड़कर भाजपा में शामिल हो सकते हैं। कुछ दिन पहले ही कांग्रेस से विधायक प्रत्याशी रही और जिला पंचायत सदस्य एकता ठाकुर ने कांग्रेस का दामन छोड़ था। वह बीजेपी में शामिल हो गई थीं। जबलपुर महापौर के साथ डिंडोरी जिला पंचायत अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, पूर्व जिला अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य सहित यूथ कांग्रेस के पदाधिकारी ने भाजपा का दामन थमा है। नगरीय निकाय चुनाव 2022 में जगत बहादुर अन्नू कांग्रेस के टिकट पर जबलपुर के महापौर चुने गए थे। 

हाल ही में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और मुख्यमंत्री मोहन यादव जब जबलपुर पहुंचे थे तो जगत बहादुर अन्नू ने दोनों से अलग-अलग मुलाकात की थी। इस मुलाकात के बाद अटकलों का दौर शुरू हो गया था। उनकी बीजेपी में एंट्री करवाने में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और मंत्री राकेश सिंह की भी अहम भूमिका मानी जा रही है। विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद से ही महापौर जगत बहादुर के बीजेपी में जाने की अटकलें शुरू हो गई थी। जगत बहादुर अन्नू की एंट्री में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा का भी अहम रोल माना जा रहा है। वीडी शर्मा की सुसराल भी जबलपुर में है।

कांग्रेस के महापौर जगत बहादुर सिंह ने 18 साल बाद कांग्रेस से महापौर का चुनाव जीता था। आने वाले लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस प्रमुख दावेदार थे। कांग्रेस के जबलपुर लोकसभा प्रभारी ने स्क्रीनिंग कमेटी को जगत बहादुर का सिंगल नाम दिया था। हालांकि अब वह भाजपा में शामिल हो गए है तो कांग्रेस को लोकसभा चुनाव में भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है। विधानसभा 2023 के चुनाव में इस क्षेत्र में भाजपा का अच्छा प्रदर्शन रहा है। जलबलपुर की 8 सीटों में से 7 भाजपा के पास हैं। 2018 के विधानसभा चुनाव में यह मार्जिन 4-4 का था। जबलपुर लोकसभा सीट पर भी भाजपा की मजबूत पकड़ मानी जाती है। पार्टी ने 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में यहां से बड़ी जीत हासिल की थी।

सीएम मोहन यादव ने कहा कि बीजेपी में आने वालों की लंबी लाइन लगी है। हम उन्हें रोक रहे हैं। आने वालों की वेटिंग है। जब से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भगवान राम की प्राण प्रतिष्ठा हुई है, राम राज्य आता जा रहा है। भाजपा का जीतना देश के लिए जरूरी है। हमारा परिवार बड़ा हो रहा है, सभी का स्वागत है, सभी को शुभकामनाएं। महापौर जगत बहादुर ने कहा कि प्राण प्रतिष्ठा का आमंत्रण ठुकराने से आहत हुआ था। उस दिन सोचा था बीजेपी में आ जाना चाहिए। जबलपुर में अब विकास की गंगा बहेगी, जबलपुर की उन्नति के लिए अब ट्रिपल इंजन की सरकार चलेगी।

रिपोर्ट- विजेन्द्र यादव

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें