फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशहार के बाद पहला ऐक्शन, कांग्रेस हाईकमान का कमलनाथ को नया प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त करने का आदेश

हार के बाद पहला ऐक्शन, कांग्रेस हाईकमान का कमलनाथ को नया प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त करने का आदेश

विधानसभा चुनावों में पार्टी की करारी हार के बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ (kamal nath) ने मंगलवार को दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और राहुल गांधी से मुलाकात की।

हार के बाद पहला ऐक्शन, कांग्रेस हाईकमान का कमलनाथ को नया प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त करने का आदेश
Krishna Singhएएनआई-भाषा,भोपालWed, 06 Dec 2023 01:43 AM
ऐप पर पढ़ें

विधानसभा चुनावों में पार्टी की करारी हार के बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने मंगलवार को दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और राहुल गांधी से मुलाकात की। एक सूत्र ने बताया कि दिल्ली में मंगलवार को शाम साढ़े सात बजे कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे के आवास पर एक बैठक हुई। बैठक में एआईसीसी महासचिव (संगठन) केसी वेणुगोपाल भी मौजूद रहे। एक सूत्र ने बताया कि बैठक के बाद हाईकमान ने मध्य प्रदेश में नए अध्यक्ष की नियुक्ति के लिए कमलनाथ को निर्देश दिए हैं। 

विधायकों की बैठक ली
इससे पहले कमलनाथ ने भोपाल स्थित पार्टी कार्यालय में जीतने वाले नवनिर्वाचित विधायकों और हारने वाले कांग्रेस उम्मीदवारों के साथ एक बैठक की। कमलनाथ ने बैठक में पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि विधानसभा चुनावों में हार से निराश होने की जरूरत नहीं है। सभी को लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर ध्यान देने की जरूरत है। अब हमें केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनाने के लिए चार महीने बाद होने वाले लोकसभा चुनावों के लिए पूरे दिल से काम करने में जुट जाना चाहिए।

विधायकों और उम्मीदवारों का बढ़ाया हौसला
कमलनाथ ने पार्टी विधायकों और उम्मीदवारों का मनोबल बढ़ाते हुए आपातकाल के बाद 1977 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार की घटना का जिक्र किया। कमलनाथ ने अपने संबोधन में कहा कि 1977 के लोकसभा चुनाव में इंदिरा गांधी और संजय गांधी जैसे दिग्गजों को भी हार का सामना करना पड़ा था लेकिन बाद में पार्टी ने जोरदार वापसी की। कांग्रेस ने तीन साल बाद 1980 में लोकसभा में 300 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज की। फिर इंदिरा गांधी ने पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाई थी।

लोकसभा चुनाव में जुटने की अपील
मध्य प्रदेश पार्टी प्रमुख कमलनाथ ने कहा कि भले ही हम यह चुनाव हार गए हैं, लेकिन हमें इसको भूलकर 2024 के लोकसभा चुनाव में पार्टी की जीत के लिए ईमानदारी से जुट जाना चाहिए। कमलनाथ ने पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों और हारे उम्मीदवारों से 10 दिनों में हार के कारणों पर रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा। उन्होंने यह भी ऐलान किया कि लोकसभा चुनाव से पहले वह पूरे राज्य का दौरा करेंगे।

बैठक लेने के बाद दिल्ली पहुंचने पर फरमान
पार्टी विधायकों और उम्मीदवारों के साथ बैठक के बाद कमलनाथ दिल्ली के लिए रवाना हुए। उन्होंने दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और राहुल गांधी से मुलाकात की। एक सूत्र के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया कि मंगलवार को शाम साढ़े सात बजे दिल्ली में खरगे के आवास पर एक बैठक हुई जिसमें एआईसीसी महासचिव (संगठन) केसी वेणुगोपाल भी शामिल हुए। बैठक के बाद हाईकमान ने मध्य प्रदेश में नए अध्यक्ष की नियुक्ति के लिए कमलनाथ को निर्देश दिए हैं।

हार के कारणों पर मंथन
यह घटना क्रम ऐसे वक्त में सामने आया है जब पार्टी में हार के कारणों पर मंथन हो रहा है। पूर्व में भी सूत्रों के हवाले से रिपोर्टें आई थीं कि कांग्रेस आलाकमान एमपी में पार्टी के प्रदर्शन से नाखुश है। कांग्रेस आलाकमान कमलनाथ से इस्तीफा ले सकता है। अब समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से उन रिपोर्टों पर मुहर लगाने का काम किया है। हालांकि पार्टी की ओर से अभी तक कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है। सनद रहे एमपी में कांग्रेस के कद्दावर नेता दिग्विजय सिंह इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों से छेड़छाड़ की आशंका जता चुके हैं। कुछ कांग्रेस उम्मीदवारों ने भी ईवीएम पर सवाल उठाए हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें