फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशकाजू समझ खा गए रतनजोत के बीज, चार मासूमों की तबियत बिगड़ी; तीन की हालत गंभीर 

काजू समझ खा गए रतनजोत के बीज, चार मासूमों की तबियत बिगड़ी; तीन की हालत गंभीर 

मध्य प्रदेश के सतना में रतनजोत के बीज खाने से चार मासूम बच्चों की तबीयत बिगड़ गई। उल्टी दस्त बंद न होता देख परिजन उन्हें नजदीक के अस्पताल ले आए। जहां उनका इलाज चल रहा है। तीन की हालत गंभीर है।

काजू समझ खा गए रतनजोत के बीज, चार मासूमों की तबियत बिगड़ी; तीन की हालत गंभीर 
Sneha Baluniलाइव हिन्दुस्तान,सतनाThu, 15 Feb 2024 02:16 PM
ऐप पर पढ़ें

रतनजोत के बीज खाने से मध्यप्रदेश के गांव के मासूमों की तबियत बिगड़ गई। उल्टी दस्त बंद न होता देख परिजन उन्हें नजदीक के अस्पताल ले आए। यहां से जिला अस्पताल के लिए भेज दिया जहां इलाज चल रहा है। तीन की हालत गंभीर बताई जा रही है। सतना जिला के रामपुर बाघेलान थाना क्षेत्र के बैरिहा गांव में चार बच्चे बीमार हो गए। पप्पू आदिवासी के घर में लगे पेड़ का बीज तोड़कर चारों बच्चों ने एक साथ खाया। अचानक उन्हें उल्टियां होने लगी जिसके बाद इलाज के लिए रामपुर बघेलान के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। 

हालत बिगड़ने पर चारों बच्चों को जिला अस्पताल सतना रेफर किया गया। जहां फिलहाल चार में से तीन की हालत गंभीर बताई जा रही है। जानकारी के मुताबिक बैरिहा गांव निवासी पप्पू आदिवासी के घर में रतनजोत का पेड़ लगा है। पप्पू की 6 वर्षीय पुत्री अनामिका और 5 वर्षीय पुत्र यश तथा भांजी रागिनी 5 वर्ष व रावेंद्र 3 वर्ष दोनो के पिता रमेश खेल रहे थे। इसी दौरान चारों ने रतनजोत के बीज फोड़ कर खा लिए। इसके बाद उल्टी होना शुरू हुई तब जाकर इस बात की जानकारी परिजनों को हुई।

यश रागिनी और रावेंद्र की तबियत अभी गंभीर बताई जा रही है। हालांकि यह भी कहा जा रहा है कि वे खतरे से बाहर हैं। पप्पू आदिवासी ने मीडिया को बताया कि वसंत पंचमी के कारण घर में उत्सवी माहौल था। इस कारण सभी लोग इकट्ठा हुए थे। इसी बीच न खेल खेल में बच्चों ने रतनजोत के बीज खा लिया। पप्पू का कहना है कि बच्चे बता रहे थे कि उसको फोड़ा तो काजू जैसा निकला इसलिए खा लिया। 

बताया जाता है कि पप्पू आदिवासी के भांजे मूल रूप से सीधी जिले के सिहावल थाना क्षेत्र अंतर्गत पोस्ट गांव के रहने वाले हैं जोकी अपने ननिहाल वसंत पंचमी का पर्व मनाने के लिए आए थे। ज्ञात हो की रामपुर बघेलान क्षेत्र के राम वन में वसंत पंचमी का मेला आयोजित होता है जहां पर जिले सहित आसपास के तमाम नजदीकी क्षेत्रों के लोग एकत्रित होते हैं।

रिपोर्ट- सचिन त्रिपाठी

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें