फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशमध्य प्रदेश की दो विधानसभा और एक राज्यसभा सीट पर उपचुनाव तय, जानिए क्यों हो रहा ऐसा?

मध्य प्रदेश की दो विधानसभा और एक राज्यसभा सीट पर उपचुनाव तय, जानिए क्यों हो रहा ऐसा?

मध्य प्रदेश के लोकसभा चुनाव परिणामों में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुना सीट से और शिवराज सिंह चौहान ने विदिशा सीट से जीत दर्ज की। जिसके बाद अब एक राज्यसभा सीट और बुदनी विधानसभा सीट खाली हो चुकी हैं।

मध्य प्रदेश की दो विधानसभा और एक राज्यसभा सीट पर उपचुनाव तय, जानिए क्यों हो रहा ऐसा?
Sourabh Jainलाइव हिंदुस्तान,भोपालWed, 05 Jun 2024 03:09 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद मध्य प्रदेश में राज्यसभा की एक सीट के साथ ही विधानसभा की दो सीटों पर उपचुनाव तय हो गए हैं। दरअसल इन सीटों के वर्तमान सदस्यों को सांसद बनने या फिर उनके पाला बदलने की वजह से इस्तीफा देना होगा। ऐसे में यहां उपचुनाव कराए जाएंगे। 

राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के गुना संसदीय सीट से लोकसभा चुनाव जीतने के कारण उनकी राज्यसभा सीट खाली होगी, जबकि बुदनी विधानसभा सीट से विधायक शिवराज सिंह चौहान विदिशा सीट से सांसद बन गए हैं, ऐसे में वहां पर भी उपचुनाव कराया जाएगा।

लोकसभा चुनाव से पहले छिंदवाड़ा जिले की अमरवाड़ा सीट से कांग्रेस विधायक कमलेश शाह ने दल-बदल करते हुए भाजपा का दामन थाम लिया और विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। जिसके बाद मध्य प्रदेश विधानसभा ने भी 29 मार्च को उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया था। जिससे अब यहां पर भी उपचुनाव होंगे। 

केपी यादव को भेजा जा सकता है राज्यसभा

चर्चा है कि गुना संसदीय सीट से ज्योतिरादित्य के चुनाव जीतने के बाद उनकी जगह पर पार्टी के पूर्व सांसद केपी यादव को राज्यसभा भेजा जा सकता है, क्योंकि यादव का टिकट काटकर ही सिंधिया को गुना से टिकट दिया गया था। चुनाव प्रचार के दौरान ग्वालियर आए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी केपी यादव को लेकर कुछ अच्छा करने का संकेत दिया था।

बुदनी सीट से शिवराज के बेटे को मिल सकता है मौका

ऐसी भी चर्चाएं हैं कि शिवराज के सांसद बनने के बाद खाली हो रही बुदनी विधानसभा सीट से उनके बड़े बेटे कार्तिकेय को मौका दिया जा सकता है। हालांकि इस बारे में आखिरी फैसला पार्टी ही लेगी। इसके अलावा यहां के लिए जो दूसरा नाम चल रहा है वो रमाकांत भार्गव का है। भार्गव का टिकट काटकर ही शिवराज को विदिशा से लड़ाया गया था। वहीं अमरवाड़ा में कांग्रेस से आए कमलेश शाह के ही भाजपा प्रत्याशी बनाए जाने की पूरी संभावना है।