फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशअटेर सीट के दो मतदान केंद्रों पर दोबारा कराएं मतदान, BJP ने उठाई मांग, EC को सौंपा ज्ञापन

अटेर सीट के दो मतदान केंद्रों पर दोबारा कराएं मतदान, BJP ने उठाई मांग, EC को सौंपा ज्ञापन

Madhya Pradesh Assembly Elections 2023: मध्य प्रदेश में मतगणना से पहले भाजपा ने अटेर विधानसभा सीट के दो मतदान केंद्रों पर दोबारा मतदान कराए जाने की मांग चुनाव आयोग से की है। भाजपा ने ज्ञापन सौंपा है।

अटेर सीट के दो मतदान केंद्रों पर दोबारा कराएं मतदान, BJP ने उठाई मांग, EC को सौंपा ज्ञापन
Krishna Singhभाषा,भोपालThu, 30 Nov 2023 01:03 AM
ऐप पर पढ़ें

भाजपा ने बुधवार को आरोप लगाया कि असामाजिक तत्वों ने हाल के चुनावों में मध्य प्रदेश के भिंड जिले के अटेर विधानसभा क्षेत्र में दो मतदान केंद्रों पर कब्जा कर लिया था। भाजपा ने इन मतदान केंद्रों पर दोबारा मतदान कराने की मांग की है। भाजपा के एक प्रवक्ता ने कहा कि प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) को एक ज्ञापन सौंपकर मांग की गई है कि तीन दिसंबर को बूथ संख्या 11 और 12 (खादीत में) पर होने वाली मतगणना रोक दी जाए। पुनर्मतदान का आदेश दिया जाए। प्रवक्ता ने दावा किया कि असामाजिक तत्वों द्वारा बूथ कब्जे के सबूत चुनाव आयोग को सौंपे गए हैं। 

इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने भिंड कलेक्टर पर निर्वाचन ड्यूटी में लगे कर्मियों को डाक मतपत्र जारी नहीं कर उनको मताधिकार से वंचित करने का आरोप लगाया है। उन्होंने मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) को लिखे पत्र में भिंड के कलेक्टर को हटाने की मांग की है। दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया कि भिंड जिले की लहार विधानसभा सीट पर घोर अनियमितताएं हुई हैं। सिंह ने दावा किया कि 500 से अधिक ऐसे सरकारी सेवक जिन्होंने फॉर्म-12 के तहत आवेदन किया था, उन्हें डाक मतपत्र जारी नहीं किए गए हैं।

वहीं कांग्रेस की शिकायत पर निर्वाचन आयोग ने बालाघाट जिले के एसडीएम को निलंबित कर दिया गया है। मतगणना से कुछ दिन पहले कुछ अधिकारियों द्वारा कथित तौर पर स्ट्रांग रूम खोलने और डाक मतपत्रों को अलग करने के विवाद के बीच जबलपुर संभागीय आयुक्त के निर्देशों के बाद बालाघाट विधानसभा सीट के रिटर्निंग अधिकारी एसडीएम गोपाल कुमार सोनी को निलंबित कर दिया गया। कांग्रेस ने राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) को एक ज्ञापन सौंपकर आरोप लगाया था कि 27 नवंबर को डाक मतपत्रों को स्ट्रॉन्ग रूम से बाहर ले जाया गया। 

कांग्रेस ने बालाघाट कलेक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। इससे पहले, डाक मतपत्र घटना के सिलसिले में सहायक रिटर्निंग अधिकारी (एआरओ) एवं तहसीलदार हिम्मत सिंह भवेदी को निलंबित कर दिया गया था। राज्य कांग्रेस के उपाध्यक्ष और पार्टी के चुनाव मामलों के प्रभारी जेपी धनोपिया ने आरोप लगाया था कि बालाघाट में कोषागार कक्ष से डाक मतपत्र निकाल लिए गए और कर्मचारियों को सौंपे गए थे। मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव 17 नवंबर को हुआ था। मतगणना गिनती तीन दिसंबर को होगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें