फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशप्रोफेसर की आंखों में डाली मिर्च, रॉड से किया अधमरा ; MP के कॉलेज में सरेआम गुंडागर्दी

प्रोफेसर की आंखों में डाली मिर्च, रॉड से किया अधमरा ; MP के कॉलेज में सरेआम गुंडागर्दी

मध्य प्रदेश के बैतूल में संस्कृत के एक असिस्टेंट प्रोफेसर पर जानलेवा हमला करने का मामला सामने आया है। प्रोफेसर पर हमला कॉलेज के एक पूर्व छात्र और उसके साथियों ने किया। प्रोफेसर की हालत गंभीर है।

प्रोफेसर की आंखों में डाली मिर्च, रॉड से किया अधमरा ; MP के कॉलेज में सरेआम गुंडागर्दी
Subodh Mishraपीटीआई,बैतूलSat, 15 Jun 2024 01:13 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के बैतूल में संस्कृत के एक असिस्टेंट प्रोफेसर पर जानलेवा हमला करने का मामला सामने आया है। प्रोफेसर पर हमला कॉलेज के एक पूर्व छात्र और उसके साथियों ने किया। पुलिस ने बताया कि शुक्रवार दोपहर को बैतूल के जयवंती हक्सर (जेएच) कॉलेज में एक पूर्व छात्र और उसके सहयोगियों ने कथित तौर पर संस्कृत के एक सहायक प्रोफेसर पर गंभीर हमला किया।

बैतूल के पुलिस अधीक्षक निश्चल झारिया ने कहा कि इस संबंध में हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया गया है और आरोपियों को पकड़ने के के लिए पुलिस टीम लगी हुई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, आरोपियों में से एक अन्नू ठाकुर और उसके 5-7 साथियों ने कथित तौर पर सहायक प्रोफेसर नीरज धाकड़ की आंखों में पहले मिर्च पाउडर डाल दिया और फिर उन्हें तब तक डंडों से पीटा जब तक कि वह बेहोश नहीं हो गए।

कोतवाली थाना प्रभारी देवकरण डेहरिया ने कहा कि अन्नू ठाकुर और उसके साथियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। सीसीटीवी फुटेज में आरोपी अपना चेहरा ढंके हुए और लाठियां लेकर धाकड़ के कमरे की ओर जाते हुए दिखाई दे रहे हैं।

कॉलेज सूत्रों ने बताया कि जब वे लोग प्रोफेसर को मार रहे थे तो उनके बचाव में कोई नहीं आया। आरोपियों के वहां से जाने के बाद प्रोफेसर को नजदीकी अस्पताल में ले जाया गया। हालत गंभीर होने के कारण उन्हें भोपाल रेफर किया गया है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि अपनी शिकायत में प्रोफेसर धाकड़ ने कहा कि वह संस्कृत विभाग में बैठे थे, तभी पांच युवक आए। उन्होंने उनकी आंखों में मिर्च पाउडर डाला और उनके सिर पर रॉड से कम से कम 10 वार किए। साथ ही उनके हाथ और पैर भी तोड़ दिए।

जेएच कॉलेज जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष घनश्याम मदान ने दावा किया कि आरोपी कॉलेज के छात्र नहीं थे। उन्हें बताया गया कि 5-6 लोगों ने प्रोफेसर पर हमला किया है और उन्हें रॉड से मारा। उन्होंने उन्हें जान से मारने की कोशिश की। हालांकि हमले के पीछे का कारण स्पष्ट नहीं है। हालांकि, कुछ समय पहले कुछ छात्रों को प्रोफेसर ने हाथापाई करने से रोका था। प्रोफेसर ने उस समय कॉलेज अधिकारियों से इसकी शिकायत भी की लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।