फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशनए रोल में दिखे विधानसभा अध्यक्ष नरेंद्र तोमर, कार्यकर्ताओं को बताया 'डायबिटीज' से कैसे निपटें

नए रोल में दिखे विधानसभा अध्यक्ष नरेंद्र तोमर, कार्यकर्ताओं को बताया 'डायबिटीज' से कैसे निपटें

पूर्व केंद्रीय मंत्री और मध्य प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर ने शिवपुरी में कार्यकर्ताओं को डायबिटीज से निपटने के टिप्स दिए। उन्होंने कहा कि डायबिटीज में गेहूं-चावल कम खाना चाहिए।

नए रोल में दिखे विधानसभा अध्यक्ष नरेंद्र तोमर, कार्यकर्ताओं को बताया 'डायबिटीज' से कैसे निपटें
Sourabh Jainभाषा,शिवपुरीFri, 12 Apr 2024 04:39 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्यप्रदेश विधानसभा अध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर शुक्रवार को एक अलग भूमिका में नजर आए। दरअसल पार्टी नेताओं, कार्यकर्ताओं और संवाददाताओं से मेल मुलाकात के दौरान जब उन्हें पता चला कि एक पार्टी नेता को डायबिटीज यानी मधुमेह की बीमारी हो गई है, तो उन्होंने एक जानकार विशेषज्ञ की तरह इस बीमारी से बचने के टिप्स बताए। 

तोमर शिवपुरी में संवाददाताओं से चर्चा कर रहे थे, इसी दौरान भाजपा नेता ओम प्रकाश शर्मा वहां पहुंच गए और बताया कि उन्हें डायबिटीज हो गई है। इतना सुनते श्री तोमर इस बीमारी से बचने व निपटने के लिए टिप्स देने लगे। विधानसभा अध्यक्ष ने बताया कि खाने का समय निश्चित करें। सुबह साढ़े 11 बजे तक और शाम के समय गोधूलि बेला (सूर्यास्त के समय) में रात का भोजन ग्रहण कर लें। अपनी क्षमता के अनुसार मॉर्निंग वॉक, इवनिंग वॉक जैसा शारीरिक श्रम करें। 

इसके अलावा उन्होंने कहा कि डायबिटीज में गेहूं-चावल कम खाएं। हमारे बुजुर्गों का भी यही कहना था कि गेहूं-चावल कम खाना चाहिए। इसके अलावा ज्वार-मक्का आदि मोटा अनाज पिसवा कर उसकी रोटी खाना चाहिए। नियमित व्यायाम के साथ प्रसन्न रहने की कोशिश करें। प्रसन्न रहने से बीमारियां दूर होती हैं तथा दिमाग के तनाव कम होते हैं।

इलाके में बरकरार है तोमर का वर्चस्व

बता दें कि तोमर भले ही विधानसभा अध्यक्ष बन गए हों लेकिन इलाके की राजनीति में उनका दबदबा अब भी कम नहीं हुआ है। इसकी बानगी लोकसभा चुनावों में ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के लिए घोषित उम्मीदवारों की सूची में देखने को मिली। दरअसल, भाजपा ने मुरैना, ग्वालियर और भिंड-दतिया में जिन उम्मीदवारों को टिकट दिया है वे नरेंद्र सिंह तोमर के करीबी और समर्थक माने जाते हैं।

इससे पहले चर्चाएं थीं कि केंद्रीय मंत्री से विधानसभा अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी में नरेंद्र सिंह तोमर पार्टी के कद के साथ ही उनका वर्चस्व भी कम हो गया है, लेकिन लोकसभा टिकट की पहली सूची में हुई नामों की घोषणा ने इस बात को गलत साबित कर दिया। पार्टी ने ग्वालियर में भारत सिंह कुशवाह, भिंड-दतिया से एक बार फिर संध्या राय और मुरैना से शिवमंगल सिंह तोमर को टिकट दिया गया है। तीनों ही विधानसभा अध्यक्ष के करीबी माने जाते हैं।