फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशआर्मी जवान निकला युवती का हत्यारा, शादी का दबाव बनाने पर रेत दिया गला

आर्मी जवान निकला युवती का हत्यारा, शादी का दबाव बनाने पर रेत दिया गला

रतलाम एसपी राहुल कुमार लोढ़ा ने बताया सविता की हत्या उसके ही रिश्ते में मामा लगने वाले पिंटू राजपूत ने की थी। आरोपी भारतीय सेना की फील्ड रेजीमेंट 43 मे लांस नायक के पद पर पदस्थ है।

आर्मी जवान निकला युवती का हत्यारा, शादी का दबाव बनाने पर रेत दिया गला
Sourabh Jainलाइव हिन्दुस्तान,रतलामThu, 11 Apr 2024 09:34 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्यप्रदेश के रतलाम जिले में कुछ दिनों पहले मिली युवती की लाश के मामले में पुलिस ने मृतका के रिश्ते में लगने वाले मामा को गिरफ्तार किया है, जो कि आर्मी में लांस नायक के पद पर है। मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि आरोपी के मृतिका के साथ 3 साल से अवैध संबंध थे और युवती उस पर शादी करने का दबाव बना रही थी, जबकि आरोपी पहले से ही शादीशुदा है। मामले का खुलासा युवती की कॉल डिटेल्स से हुआ। पुलिस ने आरोपी की पत्नी को भी आरोपी बनाया है।

पुलिस ने केस की जानकारी देते हुए बताया कि मृत युवती का नाम सविता था और वो नर्सिंग की छात्रा थी। वहीं आरोपी का नाम पिंटू सिंह राजपूत है। बताया जा रहा है कि मृतिका उस पर शादी का दबाव बना रही थी और पैसों की भी डिमांड कर रही थी। जिससे परेशान होकर आरोपी ने सविता को फोन कर बुलाया और जावरा और ढोढर के बीच फोरलेन के पास खेत में ले गया। जहां उसने गला रेतकर सविता की हत्या कर दी। वारदात के बाद आरोपी ने पत्नी के साथ मिलकर सबूत मिटाने की कोशिश भी की थी। इसके बाद उसने पत्नी को गांव में छोड़ा और ट्रेन से दिल्ली पहुंचकर, फ्लाइट से जम्मू-कश्मीर जाकर ड्यूटी ज्वाइन कर ली।

यह है पूरा मामला

2 अप्रैल की सुबह रतलाम में महू-नीमच हाईवे फोरलेन पर जावरा व ढोढर के बीच रूप नगर फंटे के पास खेत में खून से सना अर्धनग्न अवस्था में एक युवती का शव मिला था। उसके गले पर धारदार हथियार के वार के निशान थे। जिसके बाद पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर लिया और युवती की शिनाख्ती की कोशिश करने लगी। हालांकि चार दिन तक कुछ पता नहीं चलने पर पुलिस ने जावरा के एक मुक्तिधाम में युवती का शव दफना दिया।

उधर 6 अप्रैल को शव की शिनाख्त सविता राठौर (उम्र- 20 वर्ष) पिता भारत सिंह राठौर निवासी ग्राम नरेडी बेरा थाना खाचरोद जिला उज्जैन के रूप में हुई। दरअसल युवती का मोबाइल बंद आने पर उसके परिजन उसे तलाश करते हुए रतलाम के औद्योगिक थाने पहुंचे थे। तब पुलिस को पता चला कि युवती रतलाम के सखवाल नगर में किराए के मकान में रहकर नर्सिंग की कोचिंग कर रही थी। वह रतलाम में सैलाना रोड स्थित कोचिंग सेंटर पर पढ़ाई करने जाती थी। 

मोबाइल पर हुई बातचीत से हुआ खुलासा

पुलिस के मुताबिक कॉल डिटेल्स की जांच से पता चला कि मुख्य आरोपी पिंटू सिंह ने 1 अप्रैल की शाम को फोन कर सविता राठौर को मिलने बुलाया था। पुलिस ने लगातार सीसीटीवी कैमरे को खंगाला जिसकी मदद से पुलिस आरोपी तक पहुंची। सविता रतलाम से बस से पंचेड़ फंटे पर पहुंची थी, यहां पर पिंटू पहले से बुलेट लेकर खड़ा था। वहां से दोनों रिंगनोद थाना अंतर्गत ढोढर चौकी क्षेत्र में पहुंचे। रात करीब 8.30 बजे पिंटू ने पहले सविता के सीने पर चाकू से हमला किया। इसके बाद चाकू से गला रेता। फिर शव को उस स्थान पर घसीटकर झाड़ियों में फेंक दिया। फिर वहां से अपने गांव चला गया। जहां अपनी पत्नी को जाकर पूरी बात बताई।

पत्नी को भी अपराध में शामिल किया

आरोपी डेढ़ माह की छुट्टी लेकर घर आया था और उसे 2 अप्रैल को वापस ड्यूटी पर जाना था। लेकिन जाने के पहले वह इस मामले को खत्म कर देना चाहता था इसलिए उसने सविता को 1 अप्रैल की शाम मिलने बुलाया और जावरा और ढोढर के बीच फोरलेन के पास खेत में ले गया। जहां गला रेतकर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद अपने गांव जाकर उसने अपनी पत्नी शीतल को इस बारे में बताया। फिर दोनों पति-पत्नी घटनास्थल पहुंचे। यहां पर दोनों ने मिलकर शव के कपड़े निकालकर साक्ष्य खत्म करने की कोशिश की। इसी के चलते पुलिस ने मुख्य आरोपी पिंटू की पत्नी शीतल को भी आरोपी बनाया। फिलहाल पुलिस अभी पत्नी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है।

युवक की शादी हुई तो बनाने लगी पैसों के लिए दबाव

इस बारे में जानकारी देते हुए रतलाम एसपी राहुल कुमार लोढ़ा ने बताया सविता की हत्या रिश्ते में उसका मामा लगने वाले पिंटू राजपूत निवासी ग्राम कोठड़ी थाना ताल जिला रतलाम ने की थी। आरोपी भारतीय सेना की फील्ड रेजीमेंट 43 में लांस नायक के पद पर पदस्थ होकर जम्मू कश्मीर के द्रास में पोस्टेड है। पिछले 3 साल से मृतिका व आरोपी पिंटू के बीच प्रेम संबंध था। जून 2023 में पिंटू की शादी हो गई। जिसके बाद सविता उस पर रुपए के लिए दबाव बनाने लगी। दो बार उसने ऑनलाइन ट्रांजेक्शन कर राशि भी भेजी थी।

आखिरी कॉल से मिला सुराग

युवती के मोबाइल पर आखिरी कॉल सेना के लांस नायक आरोपी का ही था। इसके बाद पुलिस ने सेना की 43 फील्ड रेजीमेंट कारगिल से संपर्क किया और घटनाक्रम को बताते हुए पत्राचार किया। इसके बाद पुलिस की एक टीम को वहां पर भेजा गया और वहां से ट्रांजिट रिमांड लेकर आरोपी को पकड़ कर रतलाम लाया गया।

रिपोर्ट विजेन्द्र यादव

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें