फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशMP में तलाक के बाद कोर्ट के बाहर हुई पत्थरबाजी, मच गई अफरा

MP में तलाक के बाद कोर्ट के बाहर हुई पत्थरबाजी, मच गई अफरा

मध्य प्रदेश के खंडवा जिले के जिला कोर्ट के परिसर में सोमवार देर शाम उस वक्त अचानक अफरातफरी मच गई जब कुछ लोग एक-दूसरे पर पत्थरों से हमला करने लगे। आइये जानते हैं पूरा मामला क्या था।

MP में तलाक के बाद कोर्ट के बाहर हुई पत्थरबाजी, मच गई अफरा
Mohammad Azamलाइव हिन्दुस्तान,खंडवाMon, 06 May 2024 09:56 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के खंडवा जिले के जिला कोर्ट के परिसर में सोमवार देर शाम उस वक्त अचानक अफरातफरी मच गई जब कुछ लोग एक-दूसरे पर पत्थरों से हमला करने लगे। कोर्ट परिसर में हुई इस पत्थरबाजी का लाइव वीडियो भी सामने आया है। मिली जानकारी के अनुसार जिला कोर्ट में दो पक्ष तलाक कराने को लेकर कोर्ट आए हुए थे, इसी बीच दोनों पक्षों में कोर्ट से बाहर निकलते समय किसी बात को लेकर विवाद हो गया, और देखते ही देखते विवाद इतना बढ़ा कि आपस में मारपीट शुरू हो गई। 

जिला कोर्ट परिसर में चल रहे इस ड्रामे के बीच दोनों पक्ष एक-दूसरे पर पत्थर बरसाने लगे, जिससे परिसर में मौजूद लोगों में भगदड़ का माहौल बन गया। वे पत्थरों से बचने के लिए इधर उधर छिपते दिखाई दिए। मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने इस घटना का वीडियो भी बना लिया। वहीं पत्थरबाजी की घटना में दोनों ही पक्षों के कुछ लोग घायल हुए हैं, जिन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा गया। इनमें से एक पक्ष ने शहर के कोतवाली थाने में दूसरे पक्ष के खिलाफ शिकायत भी दर्ज कराई है ।

कोर्ट से कोतवाली थाने पहुंचे एक पक्ष ने शिकायत करते हुए बताया कि वो लोग उनकी लड़की ससुराल नहीं भेज रहे थे, तब हमने गांव की पंचायत में यह बात रखी। उन्होंने बताया कि तब पंचायत वालों ने भी यही कहा कि जब 5 साल हो गए, और लड़की नहीं भेज रहे हो तो तलाक ही दे दो। इसलिए यहां तलाक की प्रक्रिया पूरी करने आए थे और तलाक हो गया। शिकायतकर्ता ने बताया कि 3 लाख रुपए भी उनके खाते में डाल दिए। शिकायतकर्ता ने बताया कि बाहर निकले तो उन्होंने पत्थर मारना चालू कर दिए। लड़की बोरगांव की रहने वाली थी, और अभी भी वो उसके मां-बाप के पास ही है ।
 
एक पक्ष की एक घायल महिला ने थाने में बताया कि हम कोर्ट में तलाक के लिए आए थे। तलाक के तहत लड़कीवालों के खाते में पैसे भी डाल दिए गए थे। महिला ने बताया कि सब बाहर निकलकर चाय-नाश्ता कर रहे थे इतने में उन्होंने पकड़ लिया और पत्थर मारना चालू कर दिया। पत्थर चलाने वालों में लड़की पक्ष के परिजन शामिल थे।