फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशMP के इस जिले में होने जा रहा अनूठा 'केला उत्सव', दुबई और बहरीन तक होता है एक्सपोर्ट

MP के इस जिले में होने जा रहा अनूठा 'केला उत्सव', दुबई और बहरीन तक होता है एक्सपोर्ट

मध्यप्रदेश के बुरहानपुर जिले में अनूठा दो दिवसीय केला उत्सव मनाया जाएगा। बुरहानपुर जिला प्रशासन के सहयोग से 20 और 21 फरवरी को देश के प्रसिद्ध केला वैज्ञानिक आएंगे। आइये जानते हैं और क्या-क्या होगा।

MP के इस जिले में होने जा रहा अनूठा 'केला उत्सव', दुबई और बहरीन तक होता है एक्सपोर्ट
Mohammad Azamलाइव हिन्दुस्तान,बुरहानपुरSun, 18 Feb 2024 06:55 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्यप्रदेश के बुरहानपुर जिले में अनूठा दो दिवसीय  केला उत्सव मनाया जाएगा। बुरहानपुर जिला प्रशासन के सहयोग से 20 और 21 फरवरी को देश के प्रसिद्ध केला वैज्ञानिक और केला उत्पादक किसान  केला उत्पादन,  निर्यात की संभावनाओं,  केला उत्पादकों की आर्थिक समृद्धि से जुड़े विषयों पर विचार-विमर्श किया जाएग। बुरहानपुर के केलों का एक्सपोर्ट विदेशों में भी किया जाता है।

मिली जानकारी के अनुसार, केले की विभिन्न प्रजातियों की प्रदर्शनी मुख्य आकर्षण होगी। केले के प्लांटेशन,  प्र-संस्करण, विभिन्न खाद्य पदार्थो का निर्माण, फसल  बिक्री की व्यवस्था और भंडारण, केला  निर्यात की संभावनाओं को बढ़ाने से जुड़े मुद्दों पर चर्चा होगी। केला उत्पादन और रेशे से उपयोगी हस्तशिल्प कलाकृतियाँ निर्माण से जुड़ी स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं से भी चर्चा होगी।

बुरहानपुर मध्यप्रदेश का एकमात्र केला उत्पादक जिला है। केले को एक जिला-एक उत्पाद (ODOP) योजना में शामिल किया गया है। हाल ही में बुरहानपुर को राष्ट्रीय स्तर पर विशेष पुरस्कार मिला है। बुरहानपुर जिले में केले का क्षेत्रफल 23 हजार 650 हेक्टेयर है और 18 हजार से ज्यादा किसान केले की फसल ले रहे हैं। सालाना उत्पादन 16 लाख  मीट्रिक टन से ज्यादा होता है। केले की बिक्री का व्यापार सालाना 1700 करोड़ रूपये के करीब होता है। उत्पादन के क्षेत्र में इच्छुक निवेशकों  को भी आमंत्रित किया गया है।

मध्यप्रदेश ने तेजी से वैश्विक कृषि निर्यात बाजार में अपना स्थान बना लिया है। बुरहानपुर जिले से ईराक, ईरान, दुबई, बहरीन और तुर्की को सालाना 30 हजार मीट्रिक टन केले का निर्यात हो रहा है। बुरहानपुर  केले की प्रसिद्ध दूर-दूर तक पहुँच गई है। केला उत्पादक किसानों की मेहनत और सरकार की मदद ने बुरहानपुर को एक नई पहचान दिलाई है।

यह महोत्सव किसानों के लिए महत्वपूर्ण हो सकता है। इसमें आने वाले किसानों को केले की खेती की जानकारी देने के साथ ही उनको व्यापार की भी खूबियां बताई जाएंगी। इस महोत्सव में अलग-अलग किस्म की केले की खेती के बारे में भी जानकारी दी जाएगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें