With just 5 women MPs in 53 years from Haryana - 53 साल में हरियाणा से 5 महिलाएं ही पहुंचीं संसद, ये थीं पहली महिला सांसद, कुमारी शैलजा ने बनाया रिकॉर्ड DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

53 साल में हरियाणा से 5 महिलाएं ही पहुंचीं संसद, ये थीं पहली महिला सांसद, कुमारी शैलजा ने बनाया रिकॉर्ड

                                                                          photo credit   twitter

हरियाणा के गठन से लेकर अब तक यहां से केवल पांच महिलाएं ही संसद तक पहुंच पाई हैं। इस बार आम चुनाव में 11 महिलाएं अपनी चुनावी किस्मत आजमां रहीं हैं। दुखद बात यह है कि अपने कम लिंगानुपात के लिए आलोचना के घेरे में रहने वाले इस राज्य से पिछले लोकसभा चुनाव में कोई भी महिला जीत हासिल नहीं कर सकी थी। यहां छह संसदीय सीटें ऐसी हैं जहां से लोगों ने कभी किसी महिला को नहीं जिताया है।

इस बार के चुनावों में खास बात यह भी है कि राज्य में 11 में से सात महिलाएं बतौर निर्दलीय उम्मीदवार चुनावी दंगल में ताल ठोंक रही हैं पर इतिहास उनके पक्ष में गवाही नहीं दे रहा है। यहां आज तक कोई निर्दलीय महिला उम्मीदवार विजयी घोषित नहीं हुई है। 

बंसीलाल को हराकर पहली सांसद बनी थीं चंद्रवती

पहली महिला सांसद की बात करें तो यह श्रेय चंद्रवती को हासिल है। वह जनता पार्टी के टिकट पर 1977 में भिवानी सीट से विजयी हुईं थीं। उन्होंने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बेहद निकट समझे जाने वाले नेता बंसी लाल को हराया था। हालांकि बाद में वह कांग्रेस में शामिल हो गईं थीं और 1990 में वह पुड्डुचेरी की राज्यपाल भी बनीं।

राज्य से अब तक 151 सांसद चुने गए हैं जिनमें से सिर्फ आठ महिलाएं ही सांसद बन सकीं हैं। कांग्रेस की कुमारी शैलजा ही एकमात्र ऐसी महिला हैं जो तीन बार लोकसभा पहुंच सकीं है। दो बार अंबाला सीट से और एक बार सिरसा सीट से। 

महिलाओं के लिए अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी

शैलजा ने पीटीआई-भाषा को से कहा कि हरियाणा ने खूब तरक्की की है, लेकिन जब महिलाओं की बात आती है तो अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी है। इस समस्या को हल करने के लिए अधिक से अधिक महिलाओं को आगे आना होगा।

भिवानी-महेंद्रगढ़ सीट से 2009 में सांसद रहीं बंसी लाल की पोती एक बार फिर मैदान में हैं। उन्होंने कहा कि महिलाएं सशक्त राजनीतिज्ञ हो सकती हैं। मेरी मां (किरण चौधरी) ने खुद को साबित किया है। यह दुख की बात है कि अब तक बहुत कम संख्या में महिलाएं सांसद निर्वाचित हुई हैं। मैं महिलाओं से आगे आने की अपील करती हूं।

गुरुग्राम सीट से इनेलो उम्मीदवार विरेंद्र राणा हैं सबसे अमीर, अमेरिका में भी है कोठी

पीएम मोदी हरियाणा में करेंगे 4 चुनावी जनसभाएं, जानें पूरा शेड्यूल

लोकसभा चुनाव-2019 : इस बार 20 लाख से अधिक मतदाता चुनेंगे अपना सांसद

गुड़गांव लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा था फरीदाबाद, जानें कौन थे पहले सांसद?

अहीरवाल के चुनावी रण में दिग्गजों की अगली पीढ़ी ने संभाला मोर्चा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:With just 5 women MPs in 53 years from Haryana