DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

फिरोजाबाद में यादव VS यादव के बीच लड़ाई, दुविधा में मतदाता

firozabad lok sabha

चूड़ियों और कांच उद्योग के लिए मशहूर उत्तर प्रदेश का शहर फिरोजाबाद अब यादव vs यादव की लड़ाई का गवाह बनने जा रहा है। एक तरफ हैं समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव तो दूसरी तरह हैं राम गोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव।

समाजवादी पार्टी में वर्चस्व को लेकर अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के बीच चली लंबी खींचतान के बीच पिछले साल शिवपाल यादव के ने समाजवादी पार्टी से अलग होने का फैसला किया था। उन्होंने अपना नया राजनीतिक संगठन प्रगतिवादी समाजवादी पार्टी लोहिया (PSPL) बना लिया था। शिवपाल यादव अब अपने इसी राजनीतिक संगठन से फिरोजाबाद लोक सभा सीट से मैदान पर हैं। यहां सपा की तरफ से रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव मैदान पर हैं। ऐसे में यादव मतदाओं के सामने यह दुविधा होगी कि वह पुराने नेता शिवपाल यादव के साथ जाएं या रामगोपाल के बेटे अक्षय यादव का साथ दें।


फिरोबाद में जातीय समीकरण -
यादव - 4.31 लाख
एससी- 2.10 लाख
ठाकुर - 1.65 लाख
मुस्लिम - 1.56 लाख
लोध - 1.21 लाख
ब्राह्मण - 1.47 लाख

विधानसभा क्षेत्र - फिरोजाबाद, शिकोहाबाद, जसराना, टुंडला और सिरसागंज


भारतीय जनता पार्टी ने यहां से चरण सिंह जदौन को अपना उम्मीदवार बनाया है। दिल्ली कानपुर हाईवे में बसा शहर फिरोजाबाद पहले आगरा का ही हिस्सा था लेकिन बाद इसे अलग जिला बना दिया गया। चूड़ियों के कारोबार होने के कारण इसे सुहाग नगरी के नाम से भी जाना जाता है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:war between Yadav vs yadav in Firozabad lok sabha seat of uttar pradesh