voting percentage failed to increase in ministers constituencies during lok sabha election 2019 polling in uttarakhand - Lok Sabha Election 2019: मंत्रियों के क्षेत्र में नहीं बढ़ा मत प्रतिशत DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Lok Sabha Election 2019: मंत्रियों के क्षेत्र में नहीं बढ़ा मत प्रतिशत

उत्तराखंड में मंत्रियों की विधानसभा सीटों पर इस बार पिछले चुनावों के मुकाबले मत प्रतिशत कम हो गया। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत की विधानसभा डोईवाला में भी वर्ष 2014 के मुकाबले कम मतदान हुआ। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के विधानसभा क्षेत्र डोईवाला में 66.57 प्रतिशत वोट पड़े थे। इस बार यहां 66.17 प्रतिशत की मतदान हुआ। विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल के विधानसभा क्षेत्र ऋषिकेश में पिछली दफा 63.71 प्रतिशत मतदान हुआ और इस बार यह 61 फीसदी पर थम गया। वोट प्रतिशत में नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश के विधानसभा क्षेत्र हल्द्वानी में भी गिरावट दर्ज हुई। यहां 2014 के मुकाबले मतदान में करीब एक प्रतिशत की कमी रही। कोटद्वार में मंत्री हरक सिंह के विधानसभा क्षेत्र में वोट प्रतिशत में 4.91 की कमी आई। राज्य के अन्य मंत्रियों के विधानसभा क्षेत्रों में भी कुछ यही स्थिति रही। किसी भी मंत्री की सीट पर मत प्रतिशत नहीं बढ़ पाया।

 

वीआईपी सीटों पर मतदान प्रतिशत

सीट     वीआईपी     2014     2019
डोईवाला     त्रिवेंद्र रावत     66.57     66.23
ऋषिकेश     प्रेमचंद अग्रवाल     63.71     61.12
बाजपुर     यशपाल आर्य     73.32     72.27
हरिद्वार     मदन कौशिक     64.44     62.37
कोटद्वार     हरक सिंह रावत     66.37     61.46
रानीखेत     अजय भट्ट     50.13     46.25
सोमेश्वर     रेखा आर्य 54.53     51.80
हल्द्वानी     इंदिरा हृदयेश     63.07     62.19
गदरपुर     अरविंद पांडे  78.00            75.74
नरेंद्रनगर     सुबोध उनियाल     54.43     54.07
श्रीनगर     धन सिंह रावत     53.47     53.01


 

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम की सीट पर बढ़ा मत प्रतिशत
वीआईपी सीट के मामले में सिर्फ चकराता ही ऐसी सीट रही, जहां वोट प्रतिशत 2014 के मुकाबले काफी बढ़ा। सिर्फ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह की सीट पर वोट प्रतिशत 49.24 से बढ़कर 59.74 प्रतिशत तक पहुंचा। भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट जिस रानीखेत विधानसभा सीट से अभी तक चुनाव लड़ते रहे, वहां भी वोट प्रतिशत कम हुआ। रानीखेत सीट पर 2014 में 50.13 प्रतिशत मतदान हुआ था जो इस बार 3.88 प्रतिशत तक कम हो गया। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:voting percentage failed to increase in ministers constituencies during lok sabha election 2019 polling in uttarakhand