DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

उत्तर प्रदेश में 11 विधायकों के सांसद बनने पर होगा उपचुनाव

11 विधायकों के सांसद बन जाने पर प्रदेश में इतनी ही सीटों पर अब विधानसभा उपचुनाव होंगे। इन 11 विधायकों में आठ भाजपा के हैं, जबकि एक-एक भाजपा के सहयोगी अपना दल, सपा और बसपा के विधायक हैं। 

इस बार भाजपा के चार कैबिनेट मंत्री भी चुनाव लड़ रहे थे, लेकिन इनमें से तीन ही जीत दर्ज करा सके। इनमें लखनऊ कैंट की विधायक व परिवार, महिला कल्याण पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी इलाहाबाद से सांसद बनीं।  टूंडला (सु.) फिरोजाबाद  के विधायक व प्रदेश सरकार में पशुपालन मंत्री एसपी सिंह बघेल आगरा (सु.) लोकसभा सीट से सांसद बने। कानपुर गोविंद नगर से विधायक व प्रदेश सरकार में खादी व लघु उद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी कानपुर से सांसद बने। प्रदेश सरकार में सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा भी अम्बेडकरनगर से चुनाव लड़े थे, लेकिन वह बसपा के रितेश पांडे से  चुनाव हार गए। 

चुनाव जीतकर ये विधायक बने सांसद 
इसके अलावा ये विधायक भी लोकसभा का चुनाव लड़कर सांसद बन गए। इनमें  प्रतापगढ़ से अपना दल (एस) के विधायक संगम लाल गुप्ता प्रतापगढ से सांसद बने। गुप्ता भाजपा के 'कमल' चुनाव चिन्ह पर प्रतापगढ़ लोकसभा सीट से चुनाव लड़े थे।  कैराना लोकसभा सीट के तहत गंगोह से विधायक प्रदीप कुमार कैराना से सांसद चुने गए। चित्रकूट के मानिकपुर विधानसभा सीट के विधायक आर.के.पटेल बाँदा से सांसद बने। बाराबंकी लोकसभा सीट के तहत जैदपुर (सु.) के विधायक उपेंद्र रावत बाराबंकी (सु.) के सांसद निर्वाचित हुए। भाजपा के बलहा (सु.) क्षेत्र के विधायक अक्षयवर लाल गोंड भी सांसद बने। भाजपा के हाथरस (सु.)  इगलास विधानसभा सीट  के भाजपा विधायक राजवीर सिंह दिलेर हाथरस लोकसभा सीट पर सांसद का चुनाव जीत गए। 
समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान रामपुर सदर विधानसभा सीट से विधायक हैं। वह रामपुर लोकसभा सीट से सांसद चुन लिए गए हैं।  इसलिए रामपुर सदर विधानसभा सीट पर भी उपचुनाव होगा। वहीं बसपा के अंबेडकर नगर की जलालपुर विधानसभा सीट से विधायक रितेश पांडे भी  अंबेडकरनगर लोक सभा से जीते। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Uttar Pradesh will be a by-election 11 legislators become MPs