DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

सातवें चरण में सबसे ज्यादा दागी प्रत्याशी, पढ़िए क्या कहती है एडीआर रिपोर्ट

17वीं लोकसभा के लिए 23 फीसदी दागी प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। इनमें से 181 प्रत्याशियों पर गंभीर आपराधिक मुकदमे हैं। वहीं सातवें चरण के सबसे ज्यादा दागी प्रत्याशी मैदान में हैं। 
एडीआर व इलेक्शन वाच द्वारा सातवें चरण के प्रत्याशियों के ब्योरे में ये तथ्य सामने निकल कर आया है। आखिरी चरण में 19 मई को मतदान होना है।

इस चरण में 26 प्रतिशत आपराधिक प्रवृत्ति के प्रत्याशी मैदान में है जिसमें से 22 प्रतिशत उम्मीदवार गम्भीर आपराधिक प्रवृत्ति के है। सबसे ज्यादा आपराधिक मामले में अतीक अहमद पहले स्थान पर है, जो निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में वाराणसी सीट से मैदान में हैं। सातवें चरण में सबसे अमीर प्रत्याशियों की सूची में पंकज चौधरी हैंं जो महाराजगंज से भाजपा के उम्मीदवार हैंं जिनकी सम्पत्ति 37 करोड़ रूपये से अधिक हैं।

सातवें चरण में 29 प्रतिशत उम्मीदवारों की शैक्षणिक योग्यता 5वीं से 12वीं के बीच है। इनमें 61 प्रतिशत उम्मीदवार स्नातक ह। मात्र 8 प्रतिशत महिलाएं ही इस चरण में चुनाव लड़ रही है।
एडीआर के स्टेट हेड संजय सिंह कहते हैं कि 2014 के मुकाबले 2019 में गम्भीर दागी प्रत्याशियों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है, यह बहुत ही चिंता का विषय है। इसी प्रकार से यदि आपराधियों की संख्या बढ़ती रही, तो आने वाले समय में लोकतंत्र के लिए गंभीर खतरा पैदा होगा।

यहां होना है मतदान
 महाराजगंज,  कुशीनगर वाराणसी गोरखपुर बांसगांव गाजीपुर  सलेमपुर  मिर्जापुर  बलिया  घोसी देवरिया  चंदौली  राबर्ट्सगंज ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The most tainted candidates in the seventh phase read ADR report