The enthusiasm in the voters of every class and every age in the election of democracy - लोकतंत्र के चुनाव में हर वर्ग और हर उम्र के वोटर में उत्साह DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकतंत्र के चुनाव में हर वर्ग और हर उम्र के वोटर में उत्साह

gonda

इसे लोकतंत्र के त्योहार का जश्न कहिए, कोई भी चूकना नहीं चाहता था। लोकतंत्र से मिले अपने अधिकार के तहत देश के लिए फर्ज निभाने की ललक हर उम्र और वर्ग के वोटरों में दिखी। नई उम्र के वोटरों में तो उत्साह दिखा ही बुजुर्गों में भी उमंग दिखाई पड़ा। कोई गोद में आया, कोई कांधे पर सवार होकर आया तो किसी ने खटिया पर लेटकर बूथ तक का सफर किया और अपना वोट जरूर डाला।

शहर के टामसन इंटर कॉलेज के बूथ पर वोट देने पहुंची 95 साल की आबिदा बानो चलने में असमर्थ थीं। वह अपने पोते की गोद में वोट डालने के लिए बूथ तक पहुंचीं। उनके हाथ में उनका वोटर कार्ड और वोटर पर्ची थी। पूछने पर कहने लगीं जब से होश संभाला है, वोट डाल रही हूं। इस बार भी वोट डालने का बेसब्री से इंतजार था। वोट डालकर अच्छा लग रहा है। बुजुर्गों का यह जोश और वोट देने की ललक कई जगह कई बूथों पर देखने को मिली।

वजीरगंज के प्राइमरी स्कूल में बने वोट डालने पहुंचे 80 साल के राम नरेश भी काफी उमंग में दिखे। वह वोट डालने आए तो घड़ी में दोपहर के करीब दो बज रहे थे। कहने लगे, सुबह में घर के सभी सदस्य वोट डाल गए। जब सभी लोग वापस हो गए तो अब वह अपने पोते के साथ आए हैं। उन्होंने कहा कि वोट देना उनका अधिकार है, इस अधिकार को वह छोड़ नहीं सकते थे। कई बुजुर्ग महिलाएं परिवार के सदस्यों के साथ वोट देने के लिए पोलिंग बूथ पर लाइन में लगी दिखीं।

नवाबगंज के तुलसीपुर गांव स्थित पोलिंग बूथ पर भी 90 साल की बुजुग महिला श्यामा वोट देने के लिए आई थीं। थकान की वजह कर वह लाइन में बैठ गईं। उनकी हालत को देखकर लाइन में खड़ी दूसरी महिलाओं ने उन्हें आगे कर दिया ताकि वह पहले वोट डाल दें। पूछने पर कहने लगीं कि वोट देना शौक है, वह इसे खुशी-खुशी देती हैं। यह कुछ नजीर हैं जिन्होंने लोकतंत्र की खूबसूरती को और खूबसूरत और उसकी मजबूती को और मजबूत बना रखा है।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The enthusiasm in the voters of every class and every age in the election of democracy