DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

Lok sabha Result 2019 - महागठबंधन के काम न आ सके राजद के विधायक

लोकसभा चुनाव में राजद विधायकों की संख्या भी काम नहीं आई। पार्टी के 79 विधायक हैं। इन विधायकों के क्षेत्र में महागठबंधन के उम्मीदवारों को बढ़त मिलती तो राजद, हम, वीआईपी और रालोसपा शून्य पर आउट नहीं होते। कांग्रेस के भी 27 विधायक हैं, लेकिन किसी भी क्षेत्र में महागठबंधन के उम्मीदवारों को बढ़त नहीं मिली।

सिर्फ नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के क्षेत्र राघोपुर से महागठबंधन उम्मीदवार को बढ़त मिली, वह भी मात्र तीन सौ वोटों की। तेजप्रताप यादव के क्षेत्र महुआ में तो उनके उम्मीदवार हार गये।

पहले दो चरण के चुनाव में तो राजद के सिम्बल पर मात्र तीन ही उम्मीदवार मैदान में थे, लेकिन सही मायने में तीसरे चरण के चुनाव से राजद के विधायकों की परीक्षा शुरू हुई। पांच चरणों में पार्टी ने 16 संसदीय क्षेत्रों में अपने उम्मीदवार उतारे थे। इन 16 क्षेत्रों में पार्टी के 40 विधायक हैं। पार्टी के इन विधायकों में पांच तो खुद ही किसी न किसी संसदीय क्षेत्र से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। उनके क्षेत्र में भी पार्टी उम्मीदवार को बढ़त नहीं मिली। 

जहानाबाद के सुरेन्द्र यादव ने राजद के कब्जे वाले जहानाबाद और मखदुमपुर से लीड ली है। दरभंगा के राजद उम्मीदवार अब्दुलबारी सिद्दिकी अपने ही विधानसभा क्षेत्र में लगभग 20 हजार वोट से हार गये हैं। सारण के चंद्रिका राय, हाजीपुर के शिवचन्द्र राम और झंझारपुर के गुलाब यादव का भी यही हाल रहा। ये सभी अपने विधानसभा क्षेत्र से भी पिछड़ गये। ऐसे में यह चुनाव यह संदेश जरूर दे गया कि इन विधायकों ने अपने जानाधार को कितना सुरक्षित रखा है।

दरअसल टिकट बंटवारे में राजद ने उन्हीं संसदीय क्षेत्रों को अपने खाते में रखा, जहां उसके अधिक विधायक हैं। राजद के 10 उम्मीदवारों के संसदीय क्षेत्रों में पार्टी के आधे या उससे अधिक विधायक हैं। आरा संसदीय क्षेत्र में राजद के पांच विधायक हैं। काराकाट, जहानाबाद और सारण संसदीय क्षेत्र में राजद के चार-चार विधायक हैं। सीतामढ़ी, मधुबनी, मधेपुरा, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, महाराजगंज, हाजीपुर, बेगूसराय, उजियारपुर और पाटलिपुत्र संसदीय क्षेत्रों में राजद के तीन-तीन विधायक हैं। 

हार की समीक्षा के लिए राजद की बैठक 28 को  
राजद ने लोकसभा चुनाव में हार की समीक्षा शुरू कर दी है। इसके लिए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी ने 28 मई को पार्टी उम्मीदवारों की बैठक बुलाई है। इसके अलावा 29 मई को पार्टी के विधान मंडल दल की बैठक बुलाई गयी है। प्रदेश अध्यक्ष रामचन्द्र पूर्वे ने बताया कि दोनों बैठकें पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास दस सर्कुलर रोड पर होगी। उधर, शुक्रवार को भी पार्टी कार्यालय में लोस चुनाव को लेकर समीक्षा चलती रही। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:RJD MLAs not work for Grand alliance in Bihar