DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

लोकसभा चुनाव 2019- मतदान समाप्त होते ही जीत-हार के गुना-भाग में जुटीं पार्टियां

                                                                19

रविवार को आखिरी चरण का मतदान समाप्त होते ही बिहार की राजनीतिक पार्टियां गुना-भाग में जुट गई हैं। किस दल और गठबंधन को कितनी सीटें मिलेंगी, इसका आकलन सभी दलों के नेताओं ने शुरू कर दिया। वैसे मतगणना होने तक सभी दलों के नेता सभी सीटों पर जीत-हार का दावा करते रहेंगे, लेकिन कार्यकर्ता व समर्थकों से फीडबैक लेकर कुछ निश्चिंत दिखे तो कुछ की बेचैनी बढ़ गई है।

दरअसल, इस बार पिछले चुनाव की तुलना में दल व समीकरण सब कुछ अलग-अलग थे। पिछली बार जो साथ थे, इस बार विरोध में हो गए जबकि जो विरोध में थे, वे साथ हो गए। पिछले चुनाव में एनडीए में भाजपा, लोजपा, रालोसपा व हम एक साथ थी। जबकि 2014 में जदयू की राहें जुदा थी। वहीं  राजद व कांग्रेस एक गठबंधन में था। इस कारण पिछला चुनाव बिहार में त्रिकोणीय संघर्ष वाला रहा। हालांकि इस त्रिकोणीय संघर्ष का लाभ एनडीए को मिला। एनडीए को 31 सीटें मिलीं। इसमें भाजपा को 22, लोजपा को छह और रालोसपा को तीन सीटें मिलीं। वहीं विपक्षी खेमे में राजद को चार, कांग्रेस व जदयू को दो-दो तो एनसीपी के हिस्से में एक सीट आई थी। 

वहीं, इस बार के लोकसभा चुनाव का समीकरण ऐसा बना कि कुछेक सीटों पर बागियों को छोड़ दें तो प्राय: सभी सीटों पर सीधा मुकाबला एनडीए व गठबंधन के बीच ही रहा। एनडीए में जदयू, भाजपा व लोजपा हैं। जदयू व भाजपा 17-17 तो लोजपा छह सीटों पर चुनाव लड़ी। दूसरी ओर महागठबंधन में राजद के अलावा कांग्रेस, रालोसपा, हम , वीआईपी व माले शामिल हैं। राजद 19, कांग्रेस नौ, रालोसपा पांच, वीआईपी व हम तीन-तीन तो माले ने एक सीट पर चुनाव लड़ा है। 

मतदान समाप्त होते ही सभी दलों के नेता अपने-अपने इलाकों से जमीनी फीडबैक लेने में जुट गए। खासकर अंतिम चरण में आठ संसदीय क्षेत्रों में हुए मतदान पर पार्टी नेता क्षेत्र से फीडबैक लेते रहे। पार्टी मुख्यालयों में बैठे नेता इन क्षेत्रों से मिले फीडबैक को समेकित करते रहे। अंतिम चरण का चुनाव होने के कारण सभी क्षेत्रों को मिलाकर पार्टी नेता उसे अपने-अपने दल के खाते में जोड़ते रहे। फीडबैक का असर भी देखा गया। जो नेता चुनाव संपन्न होने तक सभी 40 सीटों पर जीत का  दावा कर रहे थे, मतदान समाप्त होने के बाद आंकड़ों में कुछ कमी कर दी। हालांकि दावों में अधिक कमी नहीं आई। एनडीए और गठबंधन के नेता 30 से 35 सीटों पर जीत का दावा करते देखे गए। वैसे यह तो 23 मई को ही पता चल सकेगा कि किस दल और गठबंधन के दावों की हकीकत क्या है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Poll is over parties starts victory and defeat