NDA Grand alliance candidates contesting each other in wealth - Lok Sabha Elections 2019: धन-संपत्ति में भी एक-दूसरे को पछाड़ रहे एनडीए-महागठबंधन के प्रत्याशी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Lok Sabha Elections 2019: धन-संपत्ति में भी एक-दूसरे को पछाड़ रहे एनडीए-महागठबंधन के प्रत्याशी

पांचवें चरण में बिहार की पांच लोकसभा सीटों पर 6 मई को मतदान होना है। इनमें सीतामढ़ी, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, सारण और हाजीपुर की सीटें शामिल हैं। गुरुवार (18 अप्रैल) को इन सभी पांच लोकसभा सीटों पर नामांकन की अंतिम तारीख बीत गयी। प्रत्याशियों ने अपने बारे में जो ब्योरे नामांकन के समय निर्वाचन कार्यालय को सौंपे हैं उसके मुताबिक धन-संपत्ति में भी महागठबंधन और एनडीए के प्रत्याशी एक-दूसरे को पछाड़ रहे हैं। इन सीटों पर कई करोड़पति प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। कइयों  के ऊपर आपराधिक मामले भी दर्ज हैं। 

अचल संपत्ति में रूडी से आगे हैं पत्नी नीलम 
सारण संसदीय सीट से भाजपा प्रत्याशी राजीव प्रताप रूडी की पत्नी अचल संपत्ति के मामले में उनसे आगे हैं। रूडी ने अचल संपत्ति तीन करोड़ 22 लाख की दिखायी है। वहीं, पत्नी नीलम प्रताप के नाम पर अचल संपत्ति 3 करोड़ 35 लाख की है। रूडी की चल संपत्ति 91 लाख 73 हजार एक सौ 15 की है तो पत्नी की चल संपत्ति 58 लाख 61 हजार तीन सौ 37 रुपये की है। उनके पैतृक गांव अमनौर हरनारायण के बैंक समेत छह बैंकों में 47 लाख 81 हजार 885 रुपए हैं। पटना और गांव में जमीन है। 

Lok Sabha Elections 2019- राहुल गांधी पर सुशील मोदी ने किया मानहानि का मुकदमा

चंद्रिका का पाटलिपुत्रा में कॉमर्शियल भवन  
सारण लोकसभा चुनाव में उतरे लालू के समधी व महागठबंधन प्रत्याशी चंद्रिका राय ने हाउसिंग लोन आठ लाख 49 हजार रुपए लिये हैं। वहीं पत्नी पर सात लाख 71 हजार का लोन है। चंद्रिका राय के हाथ में 61 हजार 507 हैं। 21 लाख की कृषि योग्य भूमि है। पाटलिपुत्रा कॉलोनी में तीन करोड़ 50 लाख रुपए का वाणिज्यिक भवन भी है। घर की कीमत 40 लाख है। अचल संपत्ति तीन करोड़ 31 लाख रुपये की है। आश्रित को 5 करोड़ 97 लाख की अचल संपत्ति है। चंद्रिका पर केस भी है।

अजय निषाद के बैंक खाते में 50 लाख
मुजफ्फरपुर से पांच बार सांसद रहे कैप्टन जयनारायण निषाद के पुत्र अजय निषाद को राजनीति व संपत्ति विरासत में मिली है। एक बार खुद मुजफ्फरपुर के सांसद रह चुके निषाद की वार्षिक आय 50 लाख व उनकी पत्नी की वार्षिक आय 15 लाख के करीब है। अजय निषाद के हाथ में दो लाख 35 हजार नकद हैं। बैंक खाते में 50  लाख रुपये हैं। उनके पास 600 ग्राम सोना है तो पत्नी के पास दो किलो सोना है। 30 एकड़ जमीन है। हाजीपुर सदर थाने में एक मामला दर्ज है।

राजभूषण का बैंक बैंलेंस एक करोड़ का 
मुजफ्फरपुर से वीआईपी प्रत्याशी व समस्तीपुर के रोसड़ा निवासी राजभूषण चौधरी व उनकी पत्नी पेशे से डॉक्टर हैँ। इनकी वार्षिक आय करीब छह लाख रुपये है और पत्नी की भी वार्षिक आय पांच लाख रुपये है। इनके हाथ में नकद 70 हजार रुपये हैं जबकि पत्नी के पास 45 हजार। इन्हें विरासत में संपत्ति नहीं मिली है और न ही आपराधिक मामला दर्ज है। करीब एक करोड़ रुपये का इनका बैंक बैलेंस है। राजभूषण ने अपने शपथ पत्र में गहनों के बारे में कोई जिक्र नहीं किया है। 

सुनील पिंटू पर धोखाधड़ी के दो समेत पांच मामले 
एनडीए ( जदयू) के सीतामढ़ी से प्रत्याशी सुनील कुमार पिंटू की आय का मुख्य जरिया दाल व्यवसाय, सिनेमा हॉल व मॉल हैं। शहर के  ओल्ड एक्सचेंज निवासी सुनील कुमार के पास 26 लाख 27 हजार रुपये नकद, उनकी पत्नी के पास 42 हजार हंै।  23 लाख रुपये की दो स्कॉर्पियों गाड़ी हैं। पति-पत्नी के नाम से 4 करोड़ 13 लाख रुपये के कृषि, गैर कृषि भूमि व मकान है। पटना के कोतवाली व गांधी मैदान थाने में दो धोखाधड़ी के मामले दर्ज हैं। सीतामढ़ी में तीन मामले हैं।

पंद्रह लाख के कर्जदार हैं अर्जुन राय
सीतामढ़ी से महागठबंधन के राजद प्रत्याशी अर्जुन राय की मुख्य आय का साधन कृषि है। मुजफ्फरपुर जिले के औराई गांव के रहने वाले हैं। फिलहाल शहर के औद्योगिक क्षेत्र में मित्र के मकान में रहते हैं। अर्जुन राय के पास 34 लाख 42 हजार रुपये की कृषि, गैर कृषि भूमि व भवन हैं तो उनकी पत्नी रीना राय के पास एक करोड़ 20 लाख रुपये की संपत्ति है। उनके पास 50 हजार और उनकी पत्नी के पास 25 हजार रुपये नकद है। उन पर आचार संहिता उल्लंघन करने का आरोप है।

अशोक और पत्नी को साढ़े 10 लाख के जेवर
बीजेपी के मधुबनी लोकसभा प्रत्याशी अशोक कुमार यादव से अधिक संपत्ति उनकी पत्नी के पास है। अशोक यादव के पास 65 हजार नकद हैं। पत्नी सीता देवी के पास तीन लाख है। चल संपत्ति अशोक कुमार यादव के पास करीब 22 लाख की और उनकी पत्नी के पास करीब 63 लाख की संपत्ति है। अचल संपत्ति में इनके पास एक करोड़ 82 लाख वहीं उनकी पत्नी के पास लगभग  दो करोड़ की संपत्ति है। इनके खिलाफ दरभंगा सदर थाने में कांड संख्या 226/14 दर्ज किया गया। 

करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं बद्री पूर्वे 
मधुबनी से महागठबंधन (वीआईपी) के प्रत्याशी बद्री कुमार पूर्वे और उनकी पत्नी करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं। बद्री के नाम पर अचल संपत्ति 41.20 हजार की है। पत्नी के नाम पर पांच करोड़ 19 लाख 12 हजार की संपत्ति है। उनकी पत्नी के नाम पर दरभंगा में 25 से अधिक प्लाट हैं। दो करोड़ की जमीन रहिका के बसुआरा में है। कई गाड़ियां भी हैं।

कृषि व समाजसेवा पर निर्भर हैं डॉ. शकील 
मधुबनी लोकसभा से निर्दलीय नामांकन करने वाले प्रत्याशी डॉ. शकील अहमद आजीविका के लिए कृषि व समाजसेवा करते हैं। इनके पास 80 हजार नकद हैं। वहीं उनकी पत्नी शबाना अहमद के पास 25,955 रुपये हैं। कुल मिलाकर इनके पास 28,77,928 की चल संपत्ति है। पत्नी के पास कुल 6 लाख 24 हजार 2 सौ 60 रुपये की चल संपत्ति है। 

रामविलास के भाई पशुपति पारस हैं करोड़पति 
हाजीपुर से एनडीए प्रत्याशी पशुपति कुमार पारस करोड़पति हैं। उनके पास सवा लाख और पत्नी के पास एक लाख पांच हजार हैं। वैयक्तिक ऋण से प्राप्त आय से 51 लाख की आय है। पत्नी शोभा देवी के नाम 21 एकड़ 26 डिसमिल खरीदी हुई जमीन है। दिल्ली में ग्रेटर नोएडा सहित दो स्थानों पर अपना फ्लैट हैं। आचार संहिता उल्लंघन का मामला खगड़िया में है।

लखपति शिवचंद्र राम पर आपराधिक मामला 
हाजीपुर से महागठबंधन से राजद प्रत्याशी शिवचन्द्र राम के पास 41 हजार रुपये नकद हैं। उनकी पत्नी के पास भी 10 हजार नकद  है। सोना व चांदी के करीब 20 लाख के गहने हैं। वाहन के रूप में एक स्कार्पियो गाड़ी भी मौजूद है। पटना के कोतवाली थाने में और वैशाली जिले के महुआ और गोरौल थाने में आपराधिक मामले दर्ज हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:NDA Grand alliance candidates contesting each other in wealth