DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

मैदान के महारथीः अनुप्रिया के सामने कुर्मी समाज की सर्वमान्य नेता बनने की चुनौती

anupriya patel

महज एक दशक के राजनीतिक सफर में फर्श से अर्श तक पहुंचीं केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के लिए 2019 के आम चुनाव में बड़ी रेखा खींचने की चुनौती है। परिवार के राजनीतिक धड़ों में बंटने के बाद अनुप्रिया को कुर्मी समाज का सर्वमान्य नेता बने रहने की परीक्षा पास करनी है। इसके लिए उन्हें यूपी, खासकर पूर्वांचल में स्वजातीय वोटरों को एनडीए के साथ जोड़े रखने की मशक्कत करनी होगी।

केंद्र और प्रदेश सरकार में भाजपा की सहयोगी अपना दल (सोनेलाल) की संरक्षिका अनुप्रिया को एनडीए ने फिर से मिर्जापुर संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने का मौका दिया है। इस सीट से वह अपनी पार्टी के टिकट पर मैदान में हैं। उन्हें सीट बंटवारे के तहत दूसरी सीट मिर्जापुर के बगल में ही राबर्ट्सगंज दी गई है। यानी अनुप्रिया को अपना सारा ध्यान पूर्वांचल में ही केंद्रित करना है।

LIVE: ओवैसी, गडकरी समेत कई दिग्गज नेताओं ने डाले वोट, EVM को नुकसान पहुंचाने के आरोप में उम्मीदवार अरेस्ट

अपनों से मिल रही कड़ी चुनौती: अनुप्रिया के कुर्मी समाज की सर्वमान्य नेता बनने में बड़ी बाधा उनका अपना परिवार ही है। मां कृष्णा पटेल और बहन पल्लवी पटेल कांग्रेस गठबंधन के प्रत्याशियों के पक्ष में प्रचार में जुटी हैं। अपना दल (कृष्णा पटेल) गुट को कांग्रेस ने समझौते में गोंडा और पीलीभीत सीट दी है।

पूर्वांचल में कई सीटों पर प्रभाव
मिर्जापुर कुर्मी बाहुल्य संसदीय क्षेत्र है। आसपास के संसदीय क्षेत्रों (फूलपुर, इलाहाबाद, प्रतापगढ़, वाराणसी, जौनपुर, भदोही) में भी अनुप्रिया के स्वजातीय मतों की संख्या अच्छी है। डुमरियागंज, गोंडा, बस्ती, कन्नौज में भी कुर्मी भारी संख्या में मौजूद हैं। इन मतों को एनडीए के लिए सहेजने की बड़ी जिम्मेदारी अनुप्रिया के कंधे पर है।

निजी जीवन

  • 28 अप्रैल 1981 को कानपुर में अपना दल संस्थापक सोनेलाल पटेल के घर जन्मीं
  • 2001 में दिल्ली के लेडी श्रीराम कॉलेज से स्नातक की डिग्री ली
  • 2010 में कानपुर यूनिवर्सिटी से एमबीए के बाद राजनीति में आईं

आज नामांकन से पहले रायबरेली में सोनिया गांधी करेंगी रोड शो

राजनीतिक सफर

  • अक्तूबर 2009 में सड़क हादसे में पिता सोनेलाल पटेल की मौत के बाद राजनीति में कदम रखने का फैसला किया
  • 2012 के यूपी विधानसभा चुनाव में रोहनिया से विधायक चुनी गईं
  • 2014 के लोकसभा चुनाव में मिर्जापुर सीट से सांसद निर्वाचित हुईं
  • 5 जुलाई 2016 को मोदी सरकार में सबसे युवा मंत्री के तौर पर केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री बनीं
  • मिर्जापुर संसदीय क्षेत्र में 20 बड़ी परियोजनाएं लाने में सफल रहीं, 700 करोड़ की लागत से इंडियन ऑयल का टर्मिनल स्थापित करवाया
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:maidan ke maharathi who is anupriya patel who wants to become main leader of kurmi samaj