DA Image
23 जनवरी, 2020|10:55|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Lok sabha Result 2019: कांग्रेस गठबंधन के साथ होती तो यूपी में अधिक सीटें जीतते

प्रदेश के सियासी हल्के में यह बहस छिड़ी है कि यदि कांग्रेस भी सपा-बसपा-रालोद गठबंधन के साथ रहती तो नतीजे क्या होते? चुनाव के नतीजे बता रहे हैं कि ऐसा होने पर प्रदेश में भाजपा विरोधी दलों से सांसदों की संख्या 25 या उससे भी अधिक हो सकती थी। ऐसा तब होता जब कांग्रेस को मिले वोट उस स्थिति में इस संयुक्त गठबंधन को ही मिलते। 

प्रदेश की कई ऐसी सीटें हैं जहां पर गठबंधन प्रत्याशी जितने मतों से चुनाव हारे हैं, उससे अधिक मत कांग्रेस को मिले हैं। गौरतलब है कि चुनाव की तैयारियों के दौरान कई बार ऐसी चर्चाएं आईं कि कांग्रेस भी गठबंधन का हिस्सा हो सकती है, लेकिन गठबंधन के प्रमुख दोनों दलों ने इसमें रुचि नहीं दिखाई। बांदा, सुल्तानपुर, धौरहरा, बाराबंकी, बस्ती, भदोही, चंदौली, संत कबीरनगर, मेरठ आदि सीटों पर गठबंधन प्रत्याशी जितने मतों से हारे उससे अधिक मत इन सीटों पर कांग्रेस को मिले थे।

बांदा 
बांदा में भाजपा के आरके सिंह पटेल ने सपा के श्यामाचरण गुप्ता को 58,938 मतों से हराया। यहां कांग्रेस प्रत्याशी बाल कुमार पटेल को 75,438 मत मिले थे। कांग्रेस का मत प्रतिशत 7.29 था। भाजपा प्रत्याशी को 46.2% और सपा प्रत्याशी को 40.5 % मत मिले। कांग्रेस का 7.29% मत गठबंधन को मिल जाता तो सपा प्रत्याशी जीत जाता। 

बाराबंकी
बाराबंकी में भाजपा प्रत्याशी उपेंद्र रावत ने 1,10,140 मतों के अंतर से सपा प्रत्याशी राम सागर रावत को हराया। भाजपा को यहां 46.39 तथा सपा को 36.85 फीसदी मत मिले। वहीं कांग्रेस प्रत्याशी तनुज पुनिया को यहां 1,59,575 मत (13.82 फीसदी) मत मिले थे। कांग्रेस के खाते में गए ये वोट आसानी से गठबंधन को पार लगा देते।

बस्ती
बस्ती में भाजपा प्रत्याशी हरीश द्विवेदी ने 30,354 मतों के अंतर से बसपा प्रत्याशी राम प्रसाद चौधरी को हराया। भाजपा को 44.68 तथा बसपा को 41.8 फीसदी मत मिले। यहां पर कांग्रेस प्रत्याशी राजकिशोर सिंह को 86,453 (8.24 फीसदी) मत मिले। यहां भी कांग्रेस के साथ होने पर गठबंधन की आसान जीत होती।  

बदायूं
बदायूं में भाजपा प्रत्याशी डा. संघमित्रा मौर्य ने सपा प्रत्याशी धर्मेंद्र यादव को 18,454 मतों के अंतर से हराया। यहां पर भाजपा को 47.3 तथा सपा को 45.59 मत मिले। इस सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी सलीम इकबाल शेरवानी को 51,896 (4.8) फीसदी मत मिले। गठबंधन प्रत्याशी की हार के इस अंतर को आसानी से कांग्रेस के सहयोग से पाटा जा सकता था।

धौरहरा
धौरहरा में भाजपा प्रत्याशी रेखा वर्मा ने बसपा प्रत्याशी इलियास सिद्दीकी को 1,60,611 मतों के अंतर से हराया। भाजपा को 48.21 तथा बसपा को 33.12 फीसदी मत मिले। इस सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी जितिन प्रसाद को 1,62,727 (15.31 फीसदी) मत मिले। गठबंधन के साथ कांग्रेस का साथ होता तो इस सीट को भी निकाला जा सकता था। 

संतकबीर नगर
संतकबीर नगर में भाजपा प्रत्याशी प्रवीण कुमार निषाद ने 35,749 मतों के अंतर से बसपा प्रत्याशी भीष्म शंकर को हराया। यहां भाजपा को 43.97 तथा बसपा को 40.61 फीसदी मत मिले। इस सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी भालचंद्र यादव को 1,28,242 (12.08 फीसदी) मत मिले थे। इस सीट पर जीत हासिल करने में कोई दिक्कत ही नहीं होती।

सुल्तानपुर
सुल्तानपुर में भाजपा प्रत्याशी मेनका गांधी 14,526 के अंतर से बसपा प्रत्याशी चंद्रभद्र सिंह सोनू को हराया। यहां भाजपा को 45.91 फीसदी तथा बसपा को 44.45 फीसदी मत मिले। इस सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी डा. संजय सिंह को 41,588 (4.17 फीसदी) मत मिले। यहां भी कांग्रेस का साथ बसपा प्रत्याशी का बेड़ा पार कर सकता था। 

मेरठ
मेरठ में भाजपा प्रत्याशी राजेंद्र अग्रवाल ने बसपा के हाजी मोहम्मद याकूब को महज 4729 मतों से हराया। भाजपा को 48.19 तथा बसपा को 47.8 फीसदी मत मिले। जबकि कांग्रेस प्रत्याशी हरेंद्र अग्रवाल को यहां 34,479 (2.83 फीसदी) मत मिले। गठबंधन के साथ कांग्रेस का मत जुड़ता तो बसपा प्रत्याशी की जीत पक्की हो जाती। 

चंदौली
चंदौली में भाजपा प्रत्यासी महेंद्र नाथ पांडेय ने सपा प्रत्याशी संजय सिंह चौहान को महज 13,959 मतों से हराया। भाजपा को 47.07 तथा सपा को 45.79 फीसदी मत मिले। इस सीट पर कांग्रेस गठबंधन से जन अधिकारी पार्टी की प्रत्याशी शिवकन्या कुशवाहा को 22,190 (2.05) फीसदी मत मिले। यहां गठबंधन से जुड़ने पर भाजपा को हराया जा सकता था।

बलिया
बलिया में भाजपा प्रत्याशी वीरेंद्र सिंह मस्त कुल 15,519 मत से सपा प्रत्याशी सनातन पांडेय को हरा सके। यहां पर कांग्रेस का प्रत्याशी चुनाव मैदान से बाहर था। गठबंधन का हिस्सा नहीं होने से कांग्रेस प्रत्याशी उदासीन रहे। कांग्रेस का नाम भी साथ होता तो शायद गठबंधन यह सीट निकाल ले जाता। इस सीट पर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी को 35,874 मत मिले।  

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Lok sabha Result 2019: If Congress was with the alliance then winning more seats in UP