DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

लोकसभा चुनाव फ्लैश बैक: राजीव गांधी के लिए सात घंटे लोगों ने किया था इंतजार

बात 19 मई वर्ष 1991, रविवार की है। बनारस के बेनियाबाग मैदान में सुबह से भीड़ जुट रही थी। लोकसभा चुनाव के लिए सभा को संबोधित करने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को आना था। दिन में तीन बजे से सभा निर्धारित थी।

उन दिनों कांग्रेस महानगर के व्यापार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष रहे विजय शंकर मेहता बताते हैं कि तय कार्यक्रम के अनुसार राजीव गांधी को दोपहर तीन बजे आना था। गोरखपुर, देवरिया, चित्रकूट, कानुपर, इलाहाबाद से सैकड़ों कार्यकर्ता सुबह ही पहुंच गए। शाम छह बजे उनकी वापसी होनी थी, जबकि मिर्जापुर, चंदौली,जौनपुर, मऊ, आजमगढ़ के कार्यकर्ता भी कार्यक्रम से कुछ घंटे पूर्व पहुंचे थे। दोपहर तक बेनियाबाग का मैदान भर चुका था।

राजीव गांधी को दोपहर तीन बजे पहुंचना था लेकिन उनके आगमन में लगातार विलंब होता गया। आयोजकों की बेचैनी बढ़ रही थी, लेकिन मैदान से भीड़ कम नहीं हुई। कई स्थानों पर सभा करते हुए राजीव गांधी अंतत: रात को 10 बजे बेनियाबाग पहुंचे थे। लगभग सात घंटे का विलंब होने के बावजूद सभास्थल पर लोगों की भीड़ जुटी रही। भीषण गर्मी में कई बार लोग पानी पीने या कुछ खाने के लिए सभास्थल से निकलते और फिर वापस अपने स्थान पर आ जाते रहे। उस समय आज के जैसे सुरक्षा प्रबंध नहीं होने के कारण लोगों को इसमें ज्यादा असुविधा नहीं हुई। आलम यह था कि राजीव गांधी का भाषण खत्म होने तक लोग वहां जुटे रहे और उनके जाने के बाद ही भीड़ धीरे-धीरे मैदान से बाहर निकली।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha elections flashback Rajiv Gandhi wait for seven hours