Lok Sabha Elections 2019 Voting ends for 51 seats in seven states - लोकसभा चुनाव 2019: 5वें चरण में 7 राज्यों की 51 सीटों पर वोटिंग खत्म, सोनिया-राजनाथ समेत कई दिग्गजों की किस्मत EVM में बंद DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव 2019: 5वें चरण में 7 राज्यों की 51 सीटों पर वोटिंग खत्म, सोनिया-राजनाथ समेत कई दिग्गजों की किस्मत EVM में बंद

people queue up at a polling station in lucknow during phase five of lok sabha elections   deepak gu

1 / 2People queue up at a polling station in Lucknow during phase five of Lok Sabha elections. (Deepak Gupta/HT photo)

polling underway during fifth phase of lok sabha election 2019  ani pic

2 / 2Polling underway during fifth phase of Lok Sabha Election 2019 (ANI Pic)

PreviousNext

लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में सात राज्यों की 51 सीटों पर वोटिंग छिटपुट हिंसा और ईवीएम में गड़बड़ी के बीच सोमवार की शाम छह बजे खत्म हो गई।  इस 51 सीटों पर शाम 6 बजे तक लगभग 62.56% मतदान दर्ज किया गया। पश्चिम बंगाल में सबसे ज्यादा 74.06% मतदान हुआ। 

बिहार में शाम 6 बजे तक कुल 57.86% मतदान
लोकसभा चुनाव 2019 के पांचवे चरण के तहत बिहार की पांच संसदीय क्षेत्र सीतामढ़ी, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, हाजीपुर और सारण में सोमवार को हुए मतदान के दौरान शाम 6 बजे तक 57.86% लोगों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। सीतामढ़ी में 56.90%, मधुबनी में 55.50%, मुजफ्फरपुर में 61.30%, हाजीपुर में 58% और सारण में 57.72% मतदान हुआ।

उत्तर प्रदेश की लोकसभा सीटों पर शाम 6 बजे तक 54.44% मतदान 
धौराहरा 59.35%, सीतापुर 59.59%, मोहनलालगंज 57.48%, लखनऊ 50.48%, रायबरेली 50.29%, अमेठी 48.56%, बांदा 56.07%, फतेहपुर 50.17%, कौशांबी 49.00%, बाराबंकी 57.09%, फैजाबाद /अयोध्या 54.45%, बहराइच 52.49%, कैसरगंज 51.87% और गोंडा 45.25%.

झारखंड में शाम 6 बजे तक कुल 64.19% मतदान
लोकसभा चुनाव के तहत झारखंड में दूसरे चरण में और देश के पांचवें चरण में सोमवार को राजधानी रांची, खूंटी, कोडरमा और हजारीबाग समेत कुल चार लोकसभा सीटों के लिए पूरी तरह शांतिपूर्ण ढंग से कुल 64.19% मतदान की रिपोर्ट है। रांची में कुल 63.94%, खूंटी में 64.1%, कोडरमा में 65.7% और हजारीबाग में 62.91% मतदान हुआ।

राजस्थान में शाम 6 बजे तक लगभग 62.95% मतदान
राजस्थान की 12 लोकसभा सीटों के लिए सोमवार को शाम छह बजे तक करीब 62.95 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। हालांकि अनेक मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की कतार हैं और छह बजे तक मतदान केंद्र परिसर में आए मतदाताओं को मतदान करवाया जाएगा इसलिए अंतिम आंकड़ा देर शाम तक ही सामने आएगा। निर्वाचन विभाग के अनुसार शाम 6 बजे तक सबसे अधिक मतदान के लिहाज से गंगानगर लोकसभा क्षेत्र सबसे आगे है जहां मतदान 72.42%, चुरू में 65.51%, जयपुर में 68.48% और बीकानेर में 61.53% दर्ज किया गया।

मध्य प्रदेश में शाम 6 बजे तक 62.96% मतदान 
लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण और मध्य प्रदेश के दूसरे चरण में सात संसदीय क्षेत्रों में सोमवार को मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हो गया। शाम छह बजे तक 62.96% मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। निवार्चन आयोग के शाम 6 बजे के आंकड़े के अनुसार, टीकमगढ़ में 61.42%, दमोह में 62.01%, खजुराहो में 60.18%, सतना में 60.39%, रीवा में 54.66%, होशंगाबाद में 68.38% और बैतूल में 37.37% वोट पड़े।

पश्चिम बंगाल में शाम 6 बजे तक 74.15% मतदान
पिछले चार चरणों की तरह पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक मतदान हुआ। वहां 74.15 प्रतिशत मतदाताओं ने मत डाले। चुनाव आयोग के अनुसार पश्चिम बंगाल में हिंसा की छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान शांतिपूर्ण रहा।

जम्मू-कश्मीर के लद्दाख में 52%, अनंतनाग में 3% मतदान
जम्मू एवं कश्मीर के अनंतनाग में सोमवार को लोकसभा चुनाव के तीसरे और आखिरी चरण के अंतर्गत मतदान समाप्त होने के बाद कई जगहों पर लोगों और सुरक्षाबलों के बीच झड़प हुई। क्षेत्र में मात्र तीन प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। जबकि, लद्दाख में करीब 51.9% मतदान दर्ज किया गया। अगर दोनों सीटों की बात करें तो मतदान का प्रतिशत 15.2% रहा।

कई दिग्गजों की किस्मत ईवीएम में बंद
इस चरण में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और अमेठी से चुनाव लड़ रहीं स्मृति ईरानी की किस्मत ईवीएम में कैद हो गई। इस चरण में 674 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर थी। सात राज्यों की 51 सीटों पर चुनाव के लिए 96088 मतदान केंद्र बनाए गए थे।

इन दिग्गजों की परीक्षा
पांचवें चरण के चुनाव में केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह (लखनऊ), कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (अमेठी), यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी (रायबरेली), केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (अमेठी), पूर्व केन्द्रीय मंत्री जितिन प्रसाद (धौरहरा) और पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल खत्री (फैजाबाद) जैसे दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर है।

ये भी पढ़ें: पं. बंगाल: बीजेपी उम्मीदवार ने टीएमसी ‘गुंडों’ पर लगाया पिटाई का आरोप

2014 में कांग्रेस ने जीती थी 51 सीटें
एनडीए ने साल 2014 के लोकसभा चुनाव में 51 सीटों में से 41 सीटें जीती थी, जो 2009 के मुकाबले 27 सीट ज्यादा थी। बीजेपी ने राजस्थान में 2014 में सभी लोकसभा सीटें जीती थी लेकिन इस बार 2018 में विधानसभा चुनाव में शिकस्त के बाद उस जीत को दोहरापाना उसके लिए मुश्किल है। सोमवार को राजस्थान की 12 संसदीय सीट पर वोटिंग हुई।

राजस्थान को छोड़कर छह में से जिन चार राज्य (बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और जम्मू कश्मीर), जहां पर सोमवार को वोटिंग हुई है वहां पर हाल के दिनों में बीजेपी को विधानसभा चुनाव में या तो शिकस्त का सामना करना पड़ा है या फिर संयुक्त विपक्ष की कड़ी चुनौती से जूझना पड़ रहा है।

10 में से जिन सात लोकसभा सीट को एनडीए नहीं जीत पाया था वह पश्चिम बंगाल की है। उसके अलावा दो अन्य सीट हैं उत्तर प्रदेश की अमेठी और रायबरेली। वहां से लड़ रहे सोनिया और राहुल गांधी को समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी की परोक्ष तौर पर समर्थन प्राप्त है। जबकि, तीन चरणों में हुए अनंतनाग लोकसभा सीट पर बीजेपी को कोई बड़ा आधार नहीं है।

ये भी पढ़ें: झारखंड में एक शख्स ने 105 साल की मां को कंधे पर ले जाकर डलवाया वोट

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha Elections 2019 Voting ends for 51 seats in seven states