DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

वीआईपी सीट हमीरपुर : भाजपा के गढ़ में अनुराग ठाकुर की अग्निपरीक्षा

hamirpur

हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में इस बार दो ठाकुरों के बीच मुकाबला होगा। भाजपा ने एक बार फिर जहां अनुराग ठाकुर को मैदान में उतारा है। वहीं कांग्रेस ने भी पूर्व एथलीट और पांच बार विधायक रह चुके रामलाल ठाकुर पर दांव लगाया है। जहां अनुराग ठाकुर यहां से लगातार तीन बार जीत चुके हैं, वहीं रामलाल ठाकुर इसी संसदीय क्षेत्र से तीन बार चुनाव हार चुके हैं। 

कांग्रेस के भीतर तीव्र अंतर्विरोध को देखते हुए यह सीट जीतना उनके लिए एक चुनौती होगी। वहीं कहा जा रहा है कि यह चुनाव कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू और कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता मुकेश अग्निहोत्री के लिए अग्निपरीक्षा माना जा रहा हैं। क्योंकि दोनों नेता क्रमश: हमीरपुर और उना जिलों के हैं। दोनों नेताओं पर अपने संबंधित जिलों में रामलाल को बढ़त दिलाने की चुनौती होगी। 

इस बार भाजपा के युवा सांसद और राज्य स्तरीय व राष्ट्रीय क्रिकेट संस्थाओं के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर को अग्नि परीक्षा से गुजरना होगा। हमीरपुर संसदीय सीट से अनुराग ठाकुर खुद राजपूत हैं और उनकी सवर्णों में भी गहरी पैठ है। वहीं कांग्रेस ने रामलाल ठाकुर को उतार कर इस बार बड़ा सियासी दांव चला है। 

इसे भी पढ़ें : मैदान के महारथी: गिरिराज सिंह- बिहार भाजपा का हिंदूवादी चेहरा

भाजपा की युवा शाखा भाजयुमो के अध्यक्ष रहे 44 वर्षीय अनुराग ठाकुर ने बताया कि पिछले एक साल से मैं केवल अपने संसदीय क्षेत्र में ही ध्यान दे रहा हूं। मैं संसद सत्र के वक्त को छोड़कर बाकी पूरे समय क्षेत्र में रहा और लोगों से मुलाकात की। संसद सत्र में मेरी 85 फीसदी से ज्यादा उपस्थिति है। राज्य की तीन अन्य सीटों शिमला (आरक्षित), कांगड़ा और मंडी के मुकाबले इस सीट पर ज्यादा आक्रामक तरीके से प्रचार अभियान चल रहा है। 

पिछली छह कांग्रेस सरकारों का नेतृत्व कर चुके व ‘राजा साहब’ के नाम से प्रसिद्ध वीरभद्र सिंह भाजपा से यह सीट छीनने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ रहे हैं। इसी तरह उनके कट्टर प्रतिद्वंद्वी और दो बार मुख्यमंत्री रह चुके प्रेम कुमार धूमल अधिकांश वक्त और ऊर्जा इसी क्षेत्र में लगा रहे हैं, ताकि उनका बेटा चौथी बार यहां से सांसद बन जाए। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि नैना देवी विधानसभा क्षेत्र से विधायक कांग्रेस के 67 वर्षीय रामलाल ठाकुर अनुराग के खिलाफ मजबूत राजनेता साबित हो सकते हैं।   

तीन बार हार चुके रामलाल 
कांग्रेस के रामलाल ठाकुर ने 1999 में पहली बार हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ा और भाजपा के सुरेश चंदेल से 1.29 लाख वोटों से हार गए थे। इसके बाद 2004 में एक बार फिर रामलाल का सामना सुरेश चंदेल से हुआ और इस बार वह मात्र 1615 वोटों से हार गए। रामलाल कांग्रेस के टिकट पर 2007 में भी मैदान में उतरे। इस बार उन्हे भाजपा के प्रेम कुमार धूमल ने करीब 80 हजार वोटों से मात दी। इसमें सबसे रोचक यह है कि भाजपा नेता चंदेल इस बार कांग्रेस में शामिल होने वाले थे और उन्हें मजबूत दावेदार माना जा रहा था।  लेकिन कांग्रेस ने चंदेल की जगह रामलाल को टिकट दिया। हालांकि चंदेल ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि वह अभी भी कांग्रेस के लिए प्रचार करेंगे या नहीं।

hamirpur

राजा हमीर चंद के नाम पर शहर का नाम
1700 ई. पू. से 1740 ई. पू. की अवधि के दौरान इस क्षेत्र पर राजा हमीर चंद ने शासन किया। उन्हीं के नाम पर वर्तमान शहर का नाम हमीरपुर पड़ा। 
हमीरपुर का इतिहास कटोच वंश के साथ जुड़ा हुआ है जिनका प्राचीन काल में रावी और सतलुज नदियों के बीच के क्षेत्र पर शासन था।  महाभारत काल के दौरान, हमीरपुर पुराने जालंधर-त्रिगर्त साम्राज्य का एक हिस्सा था। 
यहां के कुछ ऐतिहासिक और धार्मिक स्थल इस जिले की प्रसिद्धी के कारण हैं। इनमें देवसिद्ध मंदिर, सुजानपुर टीहरा और नादौन काफी लोकप्रिय हैं। 

चंदेल के जाने से नुकसान
माना जा रहा है कि भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुरेश चंदेल के कांग्रेस में जाने से पार्टी को नुकसान उठाना पड़ सकता है, क्योंकि चंदेल हमीरपुर सीट से तीन बार सांसद रह चुके हैं।   

कब कौन जीता
1952    आनंद चांद    निर्दलीय
1967    प्रेम चंद वर्मा    कांग्रेस
1971    नरेन चंद    कांग्रेस
1977    ठाकुर रंजीत सिंह    जनता पार्टी
1980    नरेन चंद    कांग्रेस आई
1984    नरेन चंद    कांग्रेस
1989    प्रेम कुमार धूमल    भाजपा
1991    प्रेम कुमार धूमल    भाजपा
1996    विक्रम सिंह    कांग्रेस 
1998    सुरेश चंदेल    भाजपा
1999    सुरेश चंदेल    भाजपा
2004    सुरेश चंदेल    भाजपा
2007    प्रेम कुमार धूमल    भाजपा
2008    अनुराग ठाकुर    भाजपा
2009    अनुराग ठाकुर    भाजपा
2014    अनुराग ठाकुर    भाजपा

hamirpur

मौजूदा सांसद : अनुराग ठाकुर
2008 में पहली बार हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से सांसद चुने गए
2009 और 2014 में भी इसी क्षेत्र से अनुराग ठाकुर सांसद बने
ठाकुर भाजपा की युवा शाखा भाजयुमो के अध्यक्ष भी रह चुके हैं
मई 2016 से फरवरी 2017 तक वह बीसीसीआई के अध्यक्ष भी रहे
25 साल की उम्र में हिमाचल प्रदेश राज्य क्रिकेट संघ के सबसे कम उम्र के अध्यक्ष बने
2016 में प्रादेशिक सेना में नियमित कमीशन अधिकारी बनने वाले पहले सांसद सदस्य बने  

इसे भी पढ़ें : Lok Sabha Elections 2019- चुनावी दंगल में उतरे लड़ाकों पर दूसरों को भी जिताने का दारोमदार

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lok sabha elections 2019 vip seat hamirpur will test anurag thakur power in bjp stronghold