Lok Sabha Elections 2019: The stars made the glamor to travel till Parliament - लोकसभा चुनाव 2019 : इन सितारों ने ग्लैमर के बल पर संसद तक किया सफर DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव 2019 : इन सितारों ने ग्लैमर के बल पर संसद तक किया सफर

1 / 6

2 / 6

3 / 6

4 / 6

5 / 6

6 / 6

PreviousNext

लोकसभा चुनावों का सियासी रण जैसे -जैसे गर्मी पकड़ रहा है, पार्टियों में सिनेस्टार को शामिल करने की होड़ सी दिख रही है। जया प्रदा भाजपा में शामिल हुईं तो उर्मिला मातोंडकर को कांग्रेस ने पाले में कर लिया है। सियासी जोड़-घटाने का अतीत बताता है कि चुनाव में बालीवुड फिल्मों के अभिनेता और अभिनेत्री ही नहीं, क्रिकेटर भी मुकाबलों को चिलचस्प बनाते रहे हैं। यह बात दीगर है कि इनमें से किसी के भाग्य का सितारा चमका तो किसी का खाता भी नहीं खुल सका।

अमिताभ बच्चन हेमवती नंदन बहुगुणा पर भी भारी पड़े 

सदी के महानायक कहे जाने वाले राजीव गांधी के मित्र अमिताभ बच्चन ने कभीअपनी जन्म स्थली इलाहाबाद (अब प्रयागराज) से लोकसभा का चुनाव यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री हेमवती नंदन बहुगुणा (अब स्वर्गीय) जैसे दिग्गज के खिलाफ भाग्य आजमाया और बहुगुणा जी को भारी वोटों से हराकर इतिहास रचा। 

राजेश खन्ना और आडवाणी में कांटे का मुकाबला हुआ था

लोकसभा चुनावों में बालीवुड के पहले सुपर स्टार राजेश खन्ना ( अब स्वर्गीय) का नई दिल्ली सीट से भाजपा के लालकृष्ण आडवाणी जैसे कद्दावर नेता से कांटे का मुकाबला हुआ था। राजेश कांग्रेस के उम्मीदवार थे। बाद में लोकसभा   उप चुनाव में भी राजेश खन्ना ने कांग्रेस के प्रत्याशी के रूप में भाजपा के प्रत्याशी के रूप में मैदान में उतरे फिल्म अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा को एक दिलचस्प और कांटे के मुकाबले में हराकर इतिहास बनाया था। 

जया प्रदा को रामपुर से दो बार संसद पहुंचने का मौका मिला

फिल्म अभिनेत्री जयाप्रदा रामपुर से सपा प्रत्याशी के तौर पर दो बार चुनाव जीतकर इतिहास बना चुकी हैं। उन्होंने वहां  बेगम नूरबानो तक को हरा दिया था लेकिन अमर सिंह और आजम खां के बीच तल्ख रिश्तों के चलते उनको सपा और रामपुर छोड़ना पड़ा। अब उन्होंने भाजपा का दामन थामा है।

हेमा मालिनी पहले स्टार प्रचारक फिर सांसद बनीं

बालीवुड की ड्रीम गर्ल हेमा मालिनी पहले भाजपा की स्टार प्रचारक थीं और अब भी हैं। पिछली बार वे पहली बार भाजपा प्रत्याशी के रूप में मथुरा से लोकसभा चुनाव लड़ीं और रालोद के नंबर दो के नेता जयंत चौधरी को हराकर इतिहास रच दिया। हेमा फिर मथुरा से ही भाजपा प्रत्याशी हैं। 
शत्रुघ्न सिन्हा पटना साहिब से जीते
शत्रुघ्न सिन्हा ने भाजपा से ही पटना साहिब से भाग्य आजमाया और जीते। अटल बिहारी बाजपेई की सरकार में केंद्रीय मंत्री भी बने। अब चर्चा  है कि लखनऊ से शत्रुघ्न  सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा को समाजवादी पार्टी राजनाथ सिंह के खिलाफ मैदान में उतार सकती है।

राजबब्बर ने सपा से जीती थी आगरा सीट
फिल्म अभिनेता राज बब्बर ने अपना पहला लोकसभा चुनाव अपनी जन्म स्थली आगरा से लड़ा और समाजवादी पार्टी के समर्थन से जीतकर इतिहास रच दिया। फीरोजाबाद से वे अखिलेश यादव की पत्नी डिम्पल यादव को भी हरा चुके हैं। इस बार कांग्रेस से ही फतेहपुर सीकरी से चुनाव लड़ने जा रहे हैं।  

धर्मेंद्र को बीकानेर से सांसदी का गौरव मिला
यही नहीं, फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी के पति और बालीवुड के हीमैन धर्मेंद्र ने भी सांसद बनने का गौरव प्राप्त किया। उन्होंने बीकानेर से भाजपा के प्रत्याशी के तौर पर भाग्य आजमाया और जीते  भी लेकिन दोबारा उन्होंने चुनाव नहीं लड़ा। 

विनोद खन्ना गुरुदास पुर सीट से संसद पहुंचे
विनोद खन्ना (अब मरहूम) भी अपने गृह प्रदेश पंजाब की गुरदासपुर सीट से भाजपा प्रत्याशी के रूप में कई बार विजयी होकर संसद पहुंचे। चंडीगढ़ से फिल्म अभिनेता अनुपम खेर की पत्नी और मशहूर अभिनेत्री किरण खेर भी भाजपा के टिकट पर पिछली बार संसद पहुंचीं।  

मनोज तिवारी दिल्ली से सांसद बने 
भोजपुरी के अभिनेताओं में मनोज तिवारी पहले गोरखपुर से सपा से लोकसभा चुनाव लड़े थे लेकिन हार गए थे। बाद में भाजपा में शामिल होकर दिल्ली से चुनाव लड़ा और सांसद बने। सांसदी से पहले मनोज भोजपुरी फिल्मों में गायक कलाकार के रूप में मशहूर थे।

रविकिशन फिर मैदान में उतर सकते हैं
भोजपुरी फिल्मों के अमिताभ बच्चन कहे जाने वाले रवि किशन जौनपुर से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़े और हार गए। इस बार उनकी उम्मीद भाजपा से चुनाव मैदान में उतरने की है। इसी  तरह फिल्म अभिनेत्री नगमा मेरठ से लोकसभा चुनाव लड़ चुकी हैं, लेकिन  हार गई थीं।

क्रिकेटर भी सियासत में पीछे नहीं 

फिल्म अभिनेता और अभिनेत्रियों की तर्ज पर खिलाड़ी भी लोकतंत्र के इस उत्सव में भागीदारी करते रहे हैं। हाल ही में प्रसिद्ध क्रिकेटर गौतम गंभीर ने भाजपा का दामन थामा है और नई दिल्ली से वे भाजपा के प्रत्याशी के रूप में चुनाव मैदान में उतर भी सकते हैं। उनसे पहले एक समय के जाने माने सलामी बल्लेबाज चेतन चौहान अमरोहा से भाजपा के सांसद रह चुके हैं। इस बार वे भाजपा से ही विधायक बने और इस समय यूपी सरकार में खेल मंत्री हैं। क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने भी इलाहाबाद से अपना भाग्य आजमाया था, लेकिन जीत नहीं सके।  मोहम्मद अजहरुद्दीन को भी जनता की नुमाइंदगी का मौका मिल चुका है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha Elections 2019: The stars made the glamor to travel till Parliament